BREAKING NEWS

हाई कमान से मुलाकात के बाद बोले पायलट: पद की कोई लालसा नहीं, समस्या का जल्द समाधान जल्द हो◾वेंटिलेटर सपोर्ट पर पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, सफलतापूर्वक हुई मस्तिष्क की सर्जरी हुई ◾महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के 9,181 नये मामले सामने आये ,293 और लोगों की मौत◾केरल : बारिश थमने से कुछ राहत, इडुक्की में भूस्खलन में मरने वालों की संख्या बढ़कर 49 हुई◾पायलट मामले के समाधान के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने तीन सदस्यीय समिति गठित की ◾दिल्ली में बीते 24 घंटे में कोरोना के 707 नए मामलों की पुष्टि, संक्रमितों का आंकड़ा 1.46 लाख के पार◾संजय राउत के बयान को लेकर मानहानि का मामला दर्ज कराएंगे सुशांत सिंह राजपूत के परिजन ◾लीग चेयरमैन बृजेश पटेल ने दी जानकारी - यूएई में आईपीएल के लिये सरकार से मंजूरी मिली◾शाह फैसल ने जेकेपीएम के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया, प्रशासनिक सेवा में लौटने की अटकलें जारी◾सुशांत सिंह राजपूत केस में SC पहुंची रिया चक्रवर्ती, कहा - मीडिया साबित करना चाहता है 'मैं दोषी हूं'◾विधानसभा सत्र से पहले पायलट ने राहुल और प्रियंका से की मुलाकात, घर वापसी की अटकलें तेज◾कोविड-19 : देश में रिकवरी दर 69 फीसदी के पार, मृत्यु दर घटकर दो प्रतिशत के करीब ◾पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी कोरोना पॉजिटिव, ट्वीट कर दी जानकारी ◾इस स्वतंत्रता दिवस पर वाजपेयी का रिकॉर्ड तोड़ेंगे PM मोदी, 7वीं बार लाल किले से फहराएंगे तिरंगा◾आप्टिकल फाइबर परियोजना के उद्घाटन पर बोले पीएम मोदी- यह प्रोजेक्ट अंडमान-निकोबार को दुनिया से जोड़ेगा ◾मणिपुर में आज बीरेन सिंह सरकार का बहुमत परीक्षण, कांग्रेस-BJP ने विधायकों को जारी किया व्हिप◾कोरोना वायरस : देश में पिछले 24 घंटे में एक हजार से अधिक लोगों की मौत, संक्रमितों का आंकड़ा 22 लाख के पार ◾देश में संसाधनों की लूट को रोकने के लिए EIA 2020 का मसौदा वापस ले सरकार : राहुल गांधी◾World Corona : विश्व में संक्रमितों का आंकड़ा 1 करोड़ 97 लाख के पार, 7 लाख 29 हजार की मौत ◾जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों के हमले में घायल भाजपा नेता ने इलाज के दौरान तोड़ा दम◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

लोकसभा में मोदी का कांग्रेस पर तीखा हमला, बोले - नेहरू की जगह पटेल PM होते तो ना होती कश्मीर समस्या

राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लोकसभा में जवाब आज दिया। प्रधानमंत्री के संबोधन से पहले विपक्ष ने जोरदार हंगामा किया। मोदी ने विपक्ष के जोरदार हंगामे के बीच ही अपने भाषण की शुरुआत की, भाषण के दौरान विपक्षी सांसद नारेबाजी करते रहे। एक घंटे से भी ज्यादा लंबे भाषण में प्रधानमंत्री ने कांग्रेस पर तीखा हमला किया। प्रधानमंत्री ने कांग्रेस का नाम लिए बिना कहा कि कांग्रेस के बंटवारे के जहर की कीमत आज भी देश चुका रहा है।

पीएम मोदी ने कहा कि राष्ट्रपति के अभिभाषण पर चर्चा के दौरान करीब 34 लोगों ने अपनी बात रखी। किसी ने पक्ष में तो किसी ने विपक्ष में अपनी बात रखी, लेकिन शांति से चर्चा हुई। राष्ट्रपति के अभिभाषण का सम्मान होना चाहिए, सिर्फ विरोध के लिए विरोध करना कितना उचित है।

अगर अटल होते PM..

उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति किसी दल या पार्टी के नहीं होते हैं। हमारे देश में राज्यों की रचना अटल बिहारी वाजपेयी ने भी की थी, उन्होंने तीन राज्यों की रचना की थी लेकिन कोई हंगामा नहीं हुआ था। किसी भी राज्य को कोई भी समस्या नहीं हुई थी।

प्रधानमंत्री ने कहा, ''हमारे देश में राज्यों की रचना आदरणीय अटल जी ने भी की थी। तीन राज्यों का निर्माण किया था। उत्तर प्रदेश में से उत्तराखंड बना हो। चाहे बिहार से झारखंड बना हो या मध्यप्रदेश से छत्तीगढ़ का अलग होना हो। उस वक्त जिस तरह से निर्णय हुए वो ऐतिहासिक थे।''

कांग्रेस ने किए देश के टुकड़े

उन्होंने कहा, ''आपके चरित्र में है, जब आपने देश का विभाजन किया, उस जगह की कीमत आज भी देश चुका रहा है। आज एक दिन भी ऐसा नहीं जाता है जब आप के पाप की सजा देश को ना मिलती हो। आपने (कांग्रेस) देश के टुकड़े किए।'' पीएम ने कहा आंध्र के साथ जो हुआ वो सही नहीं हुआ था। कांग्रेस ने चुनाव के लिए जो हड़बड़ी में किया, उसके कारण ही 4 साल के बाद भी ये समस्या पैदा हुई हैं।

कांग्रेस सिर्फ हमारे जमाने के गाती है गीत 

प्रधानमंत्री ने कहा, ''विपक्ष के लोग जब भी आलोचना करते हैं तो उनके पास तथ्य कम होते हैं। सिर्फ हमारे जमाने में ऐसा था, हमारे जमाने में वैसा था का ही टेप बजाया जाता है। आपने मां भारती के टुकड़े कर दिए, इसके बावजूद देश आपके साथ था। उस वक्त जब आप राज कर रहे थे तब विपक्ष नाम मात्र का था, मीडिया भी देश का भला होगा इस उम्मीद से शासन के साथ चलता था।''

अच्छा होता कि शायरी की शुरुआती लाइन गौर से पढ़ लेते

उन्होंने कहा कि कल मैं खड़गे जी का भाषण सुन रहा था उसमें समझ नहीं आ रहा था कि वे किसे संबोधित कर रहे हैं। उन्होंने बशीर बद्र की शायरी से शुरुआत की, जो शायरी सुनाई है वो कर्नाटक के सीएम ने जरूर सुनी होगी। शायरी में कहा कि दुश्मनी जमकर करो, लेकिन ये गुंजाइश रहे जब हम दोस्त बन जाए तो शर्मिंदा ना हो। उम्मीद है कि कांग्रेस सीएम ने ये बात सुनी होगी। मोदी बोले कि अच्छा होता कि शायरी की शुरुआती लाइन गौर से पढ़ लेते। पीएम ने बशीर बद्र की आगे की शायरी सुनाते हुए कहा कि 'जी चाहता है सच बोलें, जी बहुत चाहता है सच बोलें, क्या करें हौसला नहीं होता।'

कांग्रेस को लगता है भारत 15 अगस्त 1947 के बाद बना

पीएम ने कहा, ''रेडियो कांग्रेस के सुर सुनाता था और टीवी भी आपको ही समर्पित थे। न्यायपालिका पर भी कांग्रेस पार्टी ही नियुक्ति करती थी। पंचायत से संसद तक आपका झंडा फैरता था। लेकिन आपने इतिहास को भुलाकर सारी शक्ति एक परिवार के गीत गाने में ही लगा दी। आजादी के बाद देश में ऊर्जा थी कहां से कहां पहुंच सकता था। देश का दुर्भाग्य रहा कि कांग्रेस के नेताओं को लगता है कि भारत का जन्म 15 अगस्त 1947 को हुआ, ऐसा लगता है इससे पहले देश था ही नहीं।''

प्रधानमंत्री ने कहा, ''कल मैं हैरान हो गया जब कहा गया कि देश को लोकतंत्र नेहरू ने दिया। लिच्छवी साम्राज्य और बुद्ध के समय भी देश में लोकतंत्र की गूंज थी। ये लोकतंत्र नेहरू और कांग्रेस ने नहीं दिया। खड़गे जी कर्नाटक के चुनाव के हो सकता है कि एक परिवार की भक्ति करके यहां बैठे रहें। लेकिन आप जगत गुरू बसेश्वर के नाम को ना भुलाइए। लोकतंत्र हमारे खून में है, लोकतंत्र हमारी परंपरा है।''

हमें ना पढ़ाइए लोकतंत्र का पाठ 

प्रधानमंत्री ने कहा, ''आप लोकतंत्र की बात करते हैं ? कांग्रेस के प्रधानमंत्री राजीव गांधी जब हैदराबाद गए थे तब एक दलित मुख्यमंत्री का सरेआम अपमान किया था। आप अपने परिवार के लोकतंत्र को ही देश का लोकतंत्र मानते हैं। कांग्रेस ने नीलम संजीव रेड्डी को राष्ट्रपति का उम्मीदवार बनाया और रातोंरात उनकी पीठ पर छुरा घोंप दिया। अपने ही अधिकृत उम्मीदवार को हरा दिया। मनमोहन सिंह की सरकार में पास हुए एक अध्यादेश को आपकी पार्टी के सदस्य ने मीडिया के सामने टुकड़े टुकड़े कर दिया। कृपा करके आप हमें लोकतंत्र का पाठ ना पढ़ाइए।''

पीएम ने कहा कि इस देश में 90 से अधिक बार धारा 356 का दुरुपयोग करते हुए राज्य सरकारों को आपने उखाड़ कर फेंक दिया। आपने पंजाब, तमिलनाडु में ऐसा ही किया। जब आत्मा की आवाज उठती है तो कांग्रेस का लोकतंत्र दुबक जाता है। उन्होंने कहा, ''देश के अगर पहले प्रधानमंत्री बल्लभभाई पटेल होते तो मेरे कश्मीर का एक हिस्सा पाकिस्तान के पास ना होता कुछ दिन पहले कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष चुनाव हुआ, पता नहीं चुनाव हुआ या ताजपोशी हुई। उस समय आपकी ही पार्टी का एक नौजवान चुनाव लड़ना चाहता था। आपने उसे भी रोक दिया।''

कश्मीर पर भी किया वार

पीएम मोदी ने कहा कि आपकी पार्टी की सरकार ने जब एक निर्णय लिया, तब आपके पदाधिकारी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में सरकार के आदेश के टुकड़े कर दिए थे। उन्होंने कहा कि देश में कांग्रेस में नेतृत्व के लिए चुनाव हुआ, 15 कांग्रेस कमेटियों में से 12 कांग्रेस कमेटियों ने सरदार पटेल को चुना था, 3 ने नोटा दिया था। वो कौन-सा लोकतंत्र था, पंडित नेहरू को पीएम बनाया गया। अगर ऐसा ना हुआ होता तो कश्मीर का हिस्सा पाकिस्तान के पास ना हुआ होता। अभी दिसंबर में कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव हुए थे, तब क्या हुआ। तब एक युवा ने पर्चा भरने को कहा लेकिन आपने उसकी आवाज दबा दी और एक नेता की ताजपोशी कर दी।

3 साल के काम काज का भी दिया ब्योरा

पीएम मोदी ने कहा कि हम जो काम हाथ में लेते हैं उसे पूरा करने की कोशिश करते हैं। जनता की आंखों में धूल झोंकना हमारा काम नहीं। हमने पिछली सरकारों के अटके कामों को ठीक करके पूरा करने की कोशिश की। सरकारें आती जाती रहती हैं देश बना रहता है। पीएम ने कहा कि हमारी सरकार सिर्फ अखबार की सुर्खियों के लिए घोषणा नहीं की, हमने जो कहा वो करके दिखाया। पिछली सरकार के आखिरी 3 साल में करीब 1100 किमी। नई रेल लाइन बनी, हमारी सरकार के शुरुआती 3 साल में 2100 किमी का निर्माण हुआ।

उन्होंने कहा, हमारी सरकार में एक लाख बीस हजार किलोमीटर सड़के बनीं। एक लाख से अधिक पंचायतों में ऑप्टिकल फाइबर केबल बिछाया। कांग्रेस अगर जमीन से जुड़ी होती तो शायद ये हालत ना होती। मोदी ने अपने भाषण में लगातार कर्नाटक का जिक्र किया। उन्होंने कहा, कर्नाटक और रेल का नाम आते ही खड़गे जी खुश हो जाते हैं। आपने बीदर रेल लाइन का जिक्र किया था। लेकिन देश को एक बात पता होनी चाहिए। कांग्रेस वाले ये बात नहीं बताएंगे। बीदर रेल लाइन का प्रोजेक्ट अटल जी की सरकार में पास हुआ था। 2013 तक रेल लाइन पूरी नहीं हो पाई। हमने देश का काम मानकर बीदर रेल लाइन का काम पूरा किया। कांग्रेस के दर्द की दवा पहले ही जनता कर चुकी है।

रिफाइनरी मुद्दे पर साधा कांग्रेस पर निशाना

मोदी ने बाड़मेर रिफाइनरी मुद्दे को लेकर भी कांग्रेस पर निशाना साधा। उन्होंने कहा जब हम आए तो सिर्फ कागजों में ही काम हुआ था, जमीन पर कुछ भी नहीं हुआ था। चुनाव के चलते कांग्रेस ने सिर्फ पत्थर लगवाया। प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार ने उत्तर पूर्व के राज्यों को प्राथमिकता दी। डोला-सादिया पुल भी अटल जी का दिया हुआ। देश की सबसे लंबी सुरंग, सबसे लंबी गैस पाइप लाइन हमारी देन है। कांग्रेस ने कभी दूसरी सरकार के योगदान का जिक्र नहीं किया। हमने देश के विकास में हर सरकार के योगदान की बात लाल किले से कही।

गैर बीजेपी राज्यों में मिला एक करोड़ लोगों को रोजगार

लोकसभा में पीएम मोदी ने कहा कि किसी भी कांग्रेस पीएम ने लालकिले से नहीं कहा कि देश के विकास में सभी सरकारों का योगदान है। लेकिन मैंने लालकिले से कहा कि देश के विकास में सभी सरकार, राज्य सरकारों का योगदान है। पीएम ने कहा, देश में बेरोजगारी का आंकड़ा दिया जाता है। देश में रोजगार का भी आंकड़ा देना चाहिए। गैर बीजेपी राज्यों में एक करोड़ लोगों को रोजगार मिला। हम असंगठित क्षेत्र को संगठित क्षेत्र में लाने की कोशिश कर रहे हैं। मैं इसमें बीजेपी और एनडीए के राज्यों का जिक्र नहीं कर रहा हूं। एक साल में 70 लाख नए ईपीएफ में नाम जुड़े हैं, इनमें 18 से 25 साल के युवक युवतियां ज्यादा हैं।

मोदी बोले कि देश के मध्यम वर्ग का नौजवान अपने दम पर जीना चाहते हैं। आज आईएएस अधिकारी कहते हैं कि हमारे बच्चे अधिकारी नहीं बनना चाहेत बल्कि स्टार्टअप शुरू करना चाहते हैं। कोई भी सरकार हो उसे देश के मध्यम वर्ग के नौजवानों की आकांक्षाओं को बल देना चाहिए। मुद्रा योजना में 10 करोड़ लोगों को बिना दलाली के लोन दिया।

 पीएम ने कहा, अस्सी के दशक में युवाओं को इक्कसवीं सदी के सपने दिखाए जाते थे। लेकिन वो कैसे इक्कीसवीं सदी होगी जिसमें एविएशन पॉलिसी ना हो। हमने एविएशन पॉलिसी बनाई और देश की छोटी छोटी हवाई पट्टियों को देश से जोड़ा। 900 से ज्यादा नए हवाई जहाज खरीदने का आर्डर भारत से दिया गया। मॉनीटरिंग के कारण विकास के काम में गति आई।

लोकसभा में पीएम ने अटल बिहारी वाजपेयी की बात को दोहराया। उन्होंने कहा कि छोटे मन से कोई बड़ा नहीं होता, टूटे मन से कोई खड़ा नहीं होता। उन्होंने कहा कि 80 के दशक में 21वीं सदी के सपने दिखाई जाते थे, लेकिन वो सरकार इस देश में एविएशन पॉलिसी भी नहीं ला पाई। आज हमारी सरकार देश के छोटे शहरों को हवाईमार्ग से जोड़ रही है। आज देश में करीब 450 जहाज ऑपरेशनल हैं, इस साल हमने 900 से ज्यादा हवाई जहाज खरीदने के ऑर्डर दिए हैं।

आधार मुद्दे पर पीएम मोदी ने कहा, जब हम चुनाव जीत कर आए तो कांग्रेस की तरफ से कहा जाता था कि मोदी आधार को खत्म कर देगा। लेकिन जब मोदी ने आधार का वैज्ञानिक उपयोग किया तो फिर आपको तकलीफ हो रही है। मोदी बोले कि क्या चट भी मेरी और पट भी मेरी। उन्होंने कहा कि पहले सरकारी खजाने का पैसा बिचौलिया खा जाते थे, लेकिन आज आधार कार्ड के कारण वो पैसा खाना खत्म हो गया है।आपको इसी बात की तकलीफ है।

पीएम ने कहा कि हमारी सरकार के आने से पहले 18000 गांवों में बिजली नहीं थी, लेकिन हमारी सरकार ने उस काम को किया। कुछ ही समय में हर गांव में बिजली पहुंच जाएगी। हमने देश में बिजली उत्पादन बढ़ाने पर जोर दिया। हमारी सरकार बिजली उत्पादन, बिजली पहुंचाने के साथ ही बिजली बचाने पर भी जोर दे रही है।

किसानों के नाम हो रही है राजनीति की कोशिश

मोदी बोले ने कि किसानों के नाम राजनीति की कोशिश हो रही है। ये सच है कि किसान के उत्पादन की सप्लाई चेन से फसल बर्बाद हो जाती है। इससे करीब एक लाख करोड़ का नुकसान होता था। हमने प्रधानमंत्री किसान संपदा योजना लॉन्च की। हम सप्लाई चेन में नए इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित करने की तैयारी कर रहे हैं।

उन्होंने कहा, कृषि के लिए एक लाख करोड़ कर्ज की व्यवस्था की। किसानों की आय दो गुनी करने का लक्ष्य किया। आपको इस पर भी संदेह है। फसल पर खर्च कम करके किसान की आय दो गुनी की जा सकती है। आपको (कांग्रेस) को दुख है कि हम 2022 की बातें क्यों करते हैं। जब आप अस्सी के दशक में इक्कीसवीं सदी के सपने दिखा रहे थे। हम 2022 की बात आजादी के 75 साल की प्रेरणा लेकर कर रहे हैं।

 पीएम ने कहा कि लोग सोचते थे कि जीएसटी नहीं आएगी, लेकिन हम वो भी ले आए। जीएसटी के कारण लोजिस्टिक में काफी फायदा पहुंचा है। विपक्ष जीएसटी पर नया खेल खेलने की कोशिश कर रहा है। गरीबों को स्वास्थ्य योजना का लाभ दिया जा रहा है। सरकार को देश के स्वास्थ्य की चिंता है।

नहीं बचेंगे भ्रष्टाचार करने वाले 

मोदी बोले कि भ्रष्टाचार के कारण जमानत पर जीने वाले लोग नहीं बचेंगे, पहली बार देश में चार-चार पूर्व सीएम को न्यायपालिका ने दोषी बनाया और वो अब जेल में हैं। जिन्होंने देश को लूटा है वो देश को लौटाना होगा। मैं इसमें पीछे नहीं हटूंगा, मैं लड़ने वाला इंसान हूं।

देश में जितना भी एनपीए सब कांग्रेस का पाप है

प्रधानमंत्री ने कहा, देश में एनपीए की बात होती है। पिछली सरकार में चहेतों को लोन दिया जाता था। एनपीए के लिए सिर्फ पुरानी सरकार जिम्मेदार है। मैं लोकतंत्र के मंदिर में खड़े होकर कहता हूं कि ये आपके पाप की देन है। हमारी सरकार में हमने एक भी ऐसा लोन नहीं दिया जिसमें एनपीए की नौबत आई हो। कांग्रेस के पाप को जानकर भी देश हित में मैंने मौन रखा। पिछली सरकार ने एनपीए का आंकड़ा 36% बताया लेकिन 2014 जब हमारी सरकार बनी। हमने कागज खंगाले तो पता चला कि एनपीए का असली आंकड़ा 82% था। कांग्रेस के समय 18 लाख करोड़ के एनपीए को 52 लाख करोड़ तक पहूंचाया गया। आज जो एनपीए है वो आपके पापों का ब्याज है।

देश में चल रही है हिट एंड रन की राजनीति 

मोदी बोले कि देश में हिट एंड रन की राजनीति चल रही है। कीचड़ उछालों और भाग जाओ। लेकिन एक बात साफ है कि जितना कीचड़ उछालोगे कमल उतना ही खिलेगा। आज भारत का पासपोर्ट पूरी दुनिया में गर्व का विषय है। लेकिन आप विदेश में जाकर देश की आलोचना कर रहे हैं। जब देश में डोकलाम संकट में था आप चीन के अधिकारियों से बात कर रहे थे। जब हमारे जवान ने पाकिस्तान पर सर्जिल स्ट्राइक की, आपने उस पर भी सवाल उठाए।

प्रधानमंत्री के भाषण के दौरान विपक्ष लगातार नारे बाजी करता रहा। लगातार शोर और हंगामे के बीच विपक्ष की ओर से 'पंद्रह लाख का क्या हुआ?' 'प्रधानमंत्री जवाब दो' के नारे भी लगते रहे। पीएम ने कहा कि इस देश में एक कॉमनवेल्थ गेम हुआ आपने उसमें घोटाला किया, हमारी सरकार के कार्यकाल में फीफा विश्वकप हुआ था, और भी बड़े कार्यक्रम हुए थे।

आपको बता दें कि लोकसभा के बाद प्रधानमंत्री मोदी राज्यसभा को भी संबोधित करेंगे।

देश और दुनिया का हाल जानने के लिए जुड़े रहे पंजाब केसरी के साथ।