BREAKING NEWS

महाराष्ट्र : सरकार बनाने की राह में आदित्य को सीएम बनाने की मांग से बाधा ◾आतंक वित्तपोषण : प्रवर्तन निदेशालय ने सलाहुद्दीन, अन्य से जुड़ी सम्पत्तियों को कब्जे में लिया ◾श्रीलंका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति 29 नवम्बर को आयेंगे भारत की यात्रा पर : जयशंकर ◾रजनीकांत, हासन ने तमिलनाडु की भलाई के लिए हाथ मिलाने के दिए संकेत◾जम्मू कश्मीर में जल्द से जल्द राजनीतिक गतिविधियां बहाल होनी चाहिये : राम माधव ◾पाक नापाक हरकतें करता रहता है : राजनाथ ◾पाक नापाक हरकतें करता रहता है : राजनाथ ◾सोनिया ने दिल्ली के वायु प्रदूषण पर चिंता जताई ◾लोकसभा में उठा प्रदूषण का मुद्दा: पराली जलाने के बजाय वाहनों, उद्योगों को ठहराया गया जिम्मेदार . संसद ◾विदेश मंत्री एस जयशंकर पहुंचे श्रीलंका , नये राष्ट्रपति से करेंगे मुलाकात◾आप' के साथ दिल्ली के 'वाटर-वार' में कूदे पासवान◾दिल्ली में भूकंप के झटके, रिक्टर स्केल पर 5.0 रही तीव्रता◾TOP 20 NEWS 19 November : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾अयोध्या फैसले पर ओवैसी फिर बोले- SC का फैसला किसी भी तरह से ‘पूर्ण न्याय’ नहीं ◾भाजपा के कार्यकर्ताओं ने CM केजरीवाल के गुमशुदगी पोस्टर लगाए, किया प्रदर्शन ◾ममता बनर्जी के 'अल्पसंख्यक अतिवादी' वाले बयान पर ओवैसी ने किया पटलवार ◾JNU विवाद : जीवीएल नरसिम्हा बोले-नर्सरी में एक लाख फीस देने वालों को उच्च शिक्षा के लिए 50 हजार देने में दिक्कत क्यों◾आर्थिक मंदी को लेकर 30 नवंबर को कांग्रेस की होने वाली रैली स्थगित हुई ◾महाराष्ट्र सरकार गठन पर सोनिया के घर हुई बैठक, अहमद, एंटनी और खड़गे भी हुए शामिल◾सांसदों ने आसन के समीप आकर की नारेबाजी, लोकसभा अध्यक्ष ने दी चेतावनी◾

दिल्ली – एन. सी. आर.

मोदी का रूख सकारात्मक, नेताओं को तलाक पर सियासी बयानबाजी करने से रोकें: मदनी

नयी दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से हाल ही में मुस्लिम शिष्टमंडल के साथ मुलाकात करने वाले जमीयत उलेमा-ए-हिंद के महासचिव महमूद मदनी ने मुसलमानों से जुड़े मुद्दों पर मोदी के रूख को 'सकारात्मक' करार दिया, उन्होंने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री को अपनी सरकार और पार्टी के लोगों को तीन तलाक जैसे 'संंवेदनशील मुद्दे' पर सियासी बयानबाजी से रोकना चाहिए।

उन्होंने प्रधानमंत्री के उस बयान की तारीफ की जिसमें मोदी ने कहा था कि तीन तलाक के मुद्दे पर राजनीति नहीं होनी चाहिए और मुस्लिम समाज के बुद्धिजीवी लोगों को इस मामले को हल करने के लिए आगे आना चाहिए।

\"\"

बीते मंगलवार को मदनी के नेतृत्व में एक मुस्लिम शिष्टमंडल ने मोदी से मुलाकात की थी जिसमें तीन तलाक और कई मुद्दों पर चर्चा की गई थी। मदनी ने कहा, ''कुल मिलाकर यह कहा जाएगा कि प्रधानमंत्री के साथ हमारी मुलाकात बहुत सकारत्मक रही। वह हमें बहुत सकारात्मक लगे। इसी सकारात्मकता की वजह से यह बात हुई कि एक व्यवस्था बने जिसके माध्यम से समाज की बातों को उन (प्रधानमंत्री) तक पहुंचा सके। हमारे बहुत सारे मुद्दे हैं और एक साथ सब पर बात नहीं हो सकती। इसलिए हमने एक व्यवस्था बनाने की बात की जिससे उन तक सारी बातें पहुंचाया जा सके।\" उन्होंने कहा, ''भारत सरकार और मुस्लिम समाज के बीच बहुत दूरी है। इस दूरी को पूरी तरह खत्म तो नहीं किया जा सकता, लेकिन इसे काफी हद तक कम किया जा सकता है।\"

\"\"

महमूद मदनी ने कहा, ''तीन तलाक पर प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार की तरफ से कदम उठाने का वो असर नहीं होगा जो आप लोगों के जरिए होगा। उन्होंने कि आप लोग (शिष्टमंडल) ही अपनी बहन-बेटियों को मुसीबत से निकालने के लिए खुद आगे बढ़ें।\" गोरक्षा के नाम पर होने वाली हिंसा का हवाला देते हुए मदनी ने कहा, ''देश में जो हालात बनाए जा रहे हैं, जिस तरह से मारपीट हो रही है, नफरत भरी बयानबाजी हो रही है, वो चिंता का विषय है। अपनी इन चिंताओं से हमने प्रधानमंत्री को अवगत कराया है।\" उन्होंने कहा, ''प्रधानमंत्री ने बहुत अच्छी बात कही कि देश का अगर कोई व्यक्ति पिछड़ गया तो हम विकास नहीं कर सकते। उन्होंने कहा कि हम किसी के साथ नाइंसाफी नहीं होने देंगे।\"

(भाषा)