BREAKING NEWS

26 जनवरी हिंसा: राकेश टिकैत, अन्य किसान नेताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज◾गणतंत्र दिवस पर हुई हिंसा के बाद गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली में कानून-व्यवस्था की समीक्षा की ◾संयुक्त किसान मोर्चा की सफाई - असामाजिक तत्वों ने शांतिपूर्ण प्रदर्शनों को नष्ट करने की कोशिश की◾दिल्ली पुलिस ने ट्रैक्टर परेड में हिंसा के संबंध 200 लोगों को हिरासत में लिया, पूछताछ जारी ◾BCCI प्रमुख सौरव गांगुली को सीने में दर्द, अपोलो हॉस्पिटल में कराया गया एडमिट ◾नेपाल में कोविड टीकाकरण का पहला चरण शुरू, भारत ने तोहफे में दी है 10 लाख वैक्सीन डोज◾ किसान ट्रैक्टर परेड: गणतंत्र दिवस पर हिंसा की जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल◾दो दिवसीय दौरे पर केरल पहुंचे राहुल, मलप्पुरम में गर्ल्स स्कूल के भवन का किया उद्घाटन ◾किसान आंदोलन को बदनाम करने की साजिश हुई कामयाब : हन्नान मोल्लाह◾किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान भड़की हिंसा में 300 पुलिसकर्मी हुए घायल, क्राइम ब्रांच करेगी जांच◾ट्रैक्टर परेड हिंसा : संयुक्त किसान मोर्चा ने बुलाई बैठक, सभी पहलुओं पर होगी चर्चा ◾DND फ्लाईओवर पर लगा भारी जाम, लाल किला मेट्रो स्टेशन की एंट्री व एग्जिट बंद ◾Today's Corona Update : देश में पिछले 24 घंटे में 12 हजार नए केस, 137 मरीजों की हुई मौत ◾वीडियो वायरल होने के बाद बोले राकेश टिकैत-लाठी कोई हथियार नहीं◾विश्व में कोरोना का प्रकोप जारी, मरीजों का आंकड़ा 10 करोड़ से पार ◾किसानों की ट्रैक्टर परेड में बवाल, दिल्ली पुलिस ने हिंसा के मामले में 22 FIR दर्ज की ◾TOP 5 NEWS 27 DECEMBER : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें ◾राकांपा अध्यक्ष शरद पवार बोले- दिल्ली में जो कुछ हुआ, उसका समर्थन नहीं किया जा सकता ◾संयुक्त किसान मोर्चा ने की दिल्ली में ट्रैक्टर परेड के दौरान भड़की हिंसा की निंदा ◾आज का राशिफल (27 जनवरी 2021)◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

धन शोधन मामला : दीपक तलवार को मिली जमानत

दिल्ली की एक अदालत ने धन शोधन मामले में गिरफ्तार किये गये कॉरपोरेट बिचौलिए दीपक तलवार को, शुक्रवार को जमानत दे दी। अदालत ने कहा, ‘‘ आरोपी को और हिरासत में रखने से किसी भी उद्देश्य की पूर्ति नहीं होगी क्योंकि इस मामले में आरोपपत्र दायर किया जा चुका है और इस बात की कोई निश्चितता नहीं है कि कब यह जांच पूरी होगी।’’

गौरतलब हो कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने तलवार को, विदेश से अवैध रूप से धन प्राप्त करने से जुड़े धनशोधन के एक मामले गिरफ्तार किया था। अदालत ने यह भी कहा कि प्रवर्तन निदेशालय का यह मामला दस्तावेजी सबूत पर आधारित है और इस बात का कोई सबूत नहीं है कि आरोपी ने कभी जांच प्रभावित करने या सबूतों के साथ छेड़छाड़ करने की कोशिश की।

विशेष न्यायाधीश अजय कुमार कुहाड़ ने तलवार को इस शर्त पर राहत प्रदान की कि तलवार राष्ट्रीय राजधानी छोड़ने से पहले जांच अधिकारी को सूचित करेंगे और अदालत की अनुमति के बगैर वह देश से बाहर नहीं जायेंगे। तलवार को यह जमानत पांच लाख रूपये के निजी मुचलके और उतनी ही जमानती राशि पर दी गयी। ईडी के अनुसार, तलवार ‘एडवांटेज इंडिया’ नामक एक एनजीओ के संस्थापक सदस्य हैं और इस एनजीओ को जाने माने यूरोपीय मिसाइल निर्माता एमबीडीए इंग्लैंड और एयरबस फ्रांस से सीएसआर के तहत 2012-13 से लेकर 2015-16 तक 90.72 करोड रूपये का विदेशी चंदा मिला था।

एजेंसी ने आरोप लगाया, ‘‘ जांच से खुलासा हुआ कि एनजीओ ने यह दर्शाने के लिए विभिन्न मदों के तहत फर्जी व्यय दिखाये कि विदेशी चंदा का इस्तेमाल विभिनन उद्देश्यों के लिए किया गया। ’’ इस वर्तमान मामले में जमानत मिल जाने पर अब तलवार जेल से बाहर आ जाएंगे क्योंकि उन्हें पांच अन्य मामलों में पहले ही जमानत मिल चुकी है । इन्हीं मामलों में उन्हें गिरफ्तार किया गया था। तलवार को 30 जनवरी, 2019 को दुबई से लाया गया और यहां पहुंचने पर एजेंसी ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। 

जमानत की मांग करते हुए तलवार ने अदालत से कहा था कि इस मामले में उन्हें हिरासत में रखने से किसी भी उद्देश्य की पूर्ति नहीं होगी तथा इस मामले में वह अकेले आरोपी हैं, जिन्हें गिरफ्तार किया गया था और जांच पहले ही समाप्त हो चुकी है। साथ ही उन्होंने अदालत से यह भी कहा कि इस मामले में सभी साक्ष्य दस्तावेजी थे और इन्हें जांच एजेंसी बरामद कर चुकी है। ईडी के वकील अमित महाजन और नीतेश राणे ने अदालत से कहा कि तलवार पर गंभीर आर्थिक अपराध का आरोप है और अगर उन्हें जमानत दी जाती है तो वह न्याय के कठघरे से फरार हो सकते हैं।

जांच एजेंसी ने यह भी कहा कि आरोपी अपनी गिरफ्तारी से पहले भी फरार रहा है और उसे दुबई से लाना पड़ा था। अपने आवेदन में तलवार ने कहा कि इस बात की कोई गुजाइंश नहीं है कि जांच को प्रभावित किया जा सके। इससे पहले दिल्ली की एक अदालत ने यह कहते हुए उनकी अंतरिम जमानत अर्जी खारिज कर दी उन्हें तिहाड़ जेल में रखा गया है जहां सभी सुविधाएं उपलब्ध हैं। तलवार ने कोरोना वायरस महामारी के आधार पर अंतरिम जमानत मांगते हुए कहा था कि उन्हें संक्रमण का खतरा है।