BREAKING NEWS

मनमोहन ने की Modi सरकार की आलोचना, कहा - सरकार आर्थिक मंदी को स्वीकार नहीं कर रही है◾अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की भारत यात्रा के मद्देनजर J&K में सुरक्षा बल सतर्क◾राम मंदिर का मॉडल वही रहेगा, थोड़ा बदलाव किया जाएगा : नृत्यगोपाल दास ◾मुंबई के कई बड़े होटलों को बम से उड़ाने की धमकी, ई-मेल भेजने वाला लश्कर-ए-तैयबा का सदस्य◾‘हिंदू आतंकवाद’ की साजिश वाली बात को मारिया ने 12 साल तक क्यों नहीं किया सार्वजनिक - कांग्रेस◾सरकार को अयोध्या में मस्जिद के लिए ट्रस्ट और धन उपलब्ध कराना चाहिए - शरद पवार◾संसदीय क्षेत्र वाराणसी में फलों फूलों की प्रदर्शनी देख PM मोदी हुए अभिभूत, साझा की तस्वीरें !◾दुनिया भर में कोरोना वायरस का प्रकोप, विश्व में अब तक 75,000 से अधिक लोग वायरस से संक्रमित◾आर्मी हेडक्वार्टर को साउथ ब्लॉक से दिल्ली कैंट ले जाया जाएगा : सूत्र◾INDO-US के बीच व्यापार समझौता ‘अटका’ नहीं है : डोनाल्ड ट्रंप ने कहा - जल्दबाजी में यह नहीं किया जाना चाहिये◾कन्हैया ने BJP पर साधा निशाना , कहा - CAA से गरीबों एवं कमजोर वर्गों की नागरिकता खत्म करना चाहती है Modi सरकार◾महंत नृत्य गोपाल दास बने श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष , नृपेंद्र मिश्रा को निर्माण समिति की कमान◾पंजाब में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले सिद्धू के AAP में जाने की अटकलें , भगवंत बोले- कोई वार्ता नहीं हुई◾पंजाब में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले नवजोत सिद्धू AAP में जाने की अटकलें , भगवंत बोले- कोई वार्ता नहीं हुई◾प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अगले माह जाएंगे बांग्लादेश दौरे पर◾विनायक दामोदर सावरकर पर बड़े विमर्श की तैयारी, अमित शाह संभालेंगे कमान◾अगले 5 साल में खोले जाएंगे 10,000 नए एफपीओ, मंत्रिमंडल ने दी योजना को मंजूरी◾केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में 22वें विधि आयोग के गठन को मंजूरी दी◾देश विरोधी नारों के मामले को लेकर केजरीवाल बोले - कन्हैया के चार्जशीट पर निर्णय के लिए विधि विभाग से कहेंगे◾प्रियंका गांधी राज्यसभा की सदस्य बननी चाहिए - अविनाश पांडे◾

निगम की लापरवाही लेगी और कितनी जान

नई दिल्ली : निगम अधिकारियों की लापरवाही की वजह से अब तक केवल क्षेत्र में गंदगी और विकास कार्यों में देरी होने का मामला सामने आता था। लेकिन अब उनकी लापरवाही लोगों की जान पर आफत बनकर टूटने लगी है। अगर समय रहते निगम अधिकारियों की नींद टूट जाती और इमान जग जाता तो आज फिल्मीस्तान में हुए हादसे में इतने लोगों की मौत नहीं होती। 

हादसे के समीप रहने वाले लोगों ने निगम अधिकारियों पर जमकर हंगामा बोलते हुए गंभीर आरोप लगाए हैं। कहा दो माह में निगम अधिकारी दो बार इस बिल्डिंग का सर्वे करके जा चुके हैं। लेकिन किसी ने भी इन पर सीलिंग की कार्रवाई नहीं की। वहां रहने वाले लोगों ने आरोप लगाया कि निगम अधिकारियों की मिलीभगत से इस इलाके में ऐसी सैकड़ों फैक्ट्री चल रही है। 

50 हजार सीलिंग के दिए थे आदेश

गौरतलब है कि डीएसआईडीसी ने वर्ष 2018 में राजधानी दिल्ली की तीनों नगर निगमों को 50 हजार ऐसी अवैध फैक्ट्रियों की सूची दी थी, जिन पर निगम को कार्रवाई करनी थी। निगम अभी तक इस सूची पर पूरी तरह से कार्रवाई नहीं कर पाया है। केवल पुरानी दिल्ली की ही बात करें तो यहां पर करीब 5 से अधिक अवैध फैक्ट्री संचालित की जा रही हंै। बता दें कि अवैध फैक्ट्री पर सीलिंग की कार्रवाई को लेकर कोर्ट वर्ष 1990 से आदेश जारी कर रहा है, लेकिन आजतक अच्छे से इस पर अमल नहीं किया गया। 

एक सप्ताह पहले भी हुआ था इंस्पेशन 

उत्तरी दिल्ली नगर निगम के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि एक सप्ताह पहले भी निगम ने इस फैक्ट्री का इंस्पेक्शन किया था। कहना है कि इस दौरान बिल्डिंग पर ताले जुड़े हुए थे। इसके बाद निगम ने नोटिस जारी किया था। हालांकि अभी तक इस मामले पर कोई भी आधिकारिक रूप से बोलने के लिए राजी नहीं है।

इन इलाकों में सबसे ज्यादा अवैध फैक्ट्रियां

जिन इलाकों में सबसे ज्यादा अवैध फैक्ट्रियां व कारखाने हैं, उनमें बाहरी दिल्ली, रोहिणी जिला और बाहरी उत्तरी दिल्ली के कई गांव, नरेला, बवाना, बुध विहार,सुल्तानपुर माजरा, सुल्तानपुरी, विजय विहार, अमन विहार, प्रेम नगर, मुबारकपुर, नांगलोई, मुंडका, रिठाला, बुराड़ी, समयपुर बादली, जहांगीरपुरी, शालीमार बाग, पीतमपुरा, मटियाला, तिलक नगर, नवादा, उत्तम नगर, हरि नगर, सागरपुर, डाबरी, पालम, कापसहेड़ा आदि शामिल हैं।