BREAKING NEWS

परीक्षा पे चर्चा 2020 : छात्रों से बोले PM मोदी-टेक्नोलॉजी को अपना दोस्त बनाएं, उसके गुलाम न बनें◾मनी लॉन्ड्रिंग मामले में रॉबर्ट वाड्रा के करीबी सीसी थंपी को ईडी ने किया गिरफ्तार◾CAA को लेकर चंद्र कुमार बोस बोले-लोकतांत्रिक देश के नागरिकों पर कोई कानून नहीं थोप सकते◾BJP सांसद सौमित्र खान के बिगड़े बोल, कहा- CAA का विरोध करने वाले प्रख्यात नागरिक ममता बनर्जी के कुत्ते हैं◾पंचतत्व में विलीन हुए श्री अश्विनी कुमार चोपड़ा 'मिन्ना जी' ◾BJP के पूर्व सांसद और वरिष्ठ पत्रकार अश्विनी कुमार चोपड़ा जी का निगम बोध घाट में हुआ अंतिम संस्कार◾पंचतत्व में विलीन हुए पंजाब केसरी दिल्ली के मुख्य संपादक और पूर्व भाजपा सांसद श्री अश्विनी कुमार चोपड़ा◾अश्विनी कुमार चोपड़ा - जिंदगी का सफर, अब स्मृतियां ही शेष...◾करनाल से बीजेपी के पूर्व सांसद अश्विनी कुमार चोपड़ा के निधन पर राजनाथ सिंह समेत इन नेताओं ने जताया शोक ◾अश्विनी कुमार की लेगब्रेक गेंदबाजी के दीवाने थे टॉप क्रिकेटर◾PM मोदी ने वरिष्ठ पत्रकार और पूर्व सांसद अश्विनी चोपड़ा के निधन पर शोक प्रकट किया ◾पंजाब केसरी दिल्ली के मुख्य संपादक और पूर्व भाजपा सांसद श्री अश्विनी कुमार जी को भावपूर्ण श्रद्धांजलि ◾निर्भया गैंगरेप: अपराध के समय दोषी पवन नाबलिग था या नहीं? 20 जनवरी को सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट◾सीएए पर प्रदर्शनों के बीच CJI बोबड़े ने कहा- यूनिवर्सिटी सिर्फ ईंट और गारे की इमारतें नहीं◾कमलनाथ सरकार के खिलाफ धरने पर बैठे MLA मुन्नालाल गोयल, घोषणा पत्र में किए गए वादों को पूरा नहीं करने का लगाया आरोप ◾नवाब मलिक बोले- अगर भागवत जबरदस्ती पुरुष की नसबंदी कराना चाहते हैं तो मोदी जी ऐसा कानून बनाए◾संजय राउत ने सावरकर को लेकर कांग्रेस पर साधा निशाना, बोले- विरोध करने वालों को भेजो जेल, तब सावरकर को समझेंगे'◾दोषियों को माफ करने की इंदिरा जयसिंह की अपील पर भड़कीं निर्भया की मां, बोलीं- ऐसे ही लोगों की वजह से बच जाते हैं बलात्कारी◾पाकिस्‍तान: सुप्रीम कोर्ट ने देशद्रोह मामले में फैसले के खिलाफ मुशर्रफ की याचिका पर सुनवाई से किया इनकार ◾सीएए और एनआरसी के खिलाफ लखनऊ में महिलाओं का प्रदर्शन जारी◾

NGT ने दिल्ली के मुख्य सचिव से हैदरपुर में अतिक्रमण मामले पर गौर करने का दिया निर्देश

राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) ने बुधवार को दिल्ली के मुख्य सचिव को एक याचिका पर गौर करने का निर्देश दिया, जिसमें हैदरपुर में सरकारी जमीन पर अतिक्रमण का आरोप लगाया है। एनजीटी के अध्यक्ष न्यायमूर्ति आदर्श कुमार गोयल के नेतृत्व वाली पीठ ने दिल्ली विकास प्राधिकरण की दलीलों का संज्ञान लेने के बाद आदेश दिया। 

डीडीए ने कहा कि यह इलाका उत्तरी दिल्ली नगर निगम के अंतर्गत आता है। हालांकि, निगम ने इससे इनकार किया और एक हलफनामा दाखिल कर कहा कि मुख्य नगर योजनाकार, भूमि और संपदा विभाग तथा राजस्व विभाग के मुताबिक दिल्ली सरकार की जमीन पर अतिक्रमण है और यह उसकी जमीन नहीं है। 

निगम ने कहा कि इसके तहत अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई करने का जिम्मा भूमि का मालिकाना हक रखने वाले डीडीए पर है।  पीठ ने कहा, ‘‘प्राधिकारों के अलग-अलग रूख के मद्देनजर हम दिल्ली के मुख्य सचिव को मामले पर गौर करने और यह तय करने का निर्देश देते हैं कि सरकारी जमीन से अतिक्रमण हटाने के लिए कौन कार्रवाई कर रहा है और अगली तारीख को रिपोर्ट पेश की जाए।’’ 

अधिकरण शहर के निवासी सतीश कुमार की याचिका पर सुनवाई कर रहा था, जिनका आरोप है कि हैदरपुर में कुछ लोगों ने सरकारी जमीन पर अतिक्रमण कर रखा है।