BREAKING NEWS

आज का राशिफल (08 फरवरी 2023)◾आत्मनिर्भर नए भारत में हिंसा और वामपंथी उग्रवादी विचार की कोई जगह नहीं है : अमित शाह◾जीवीके ने राहुल गांधी के दावों को खारिज किया, कहा : मुंबई एयरपोर्ट को बेचने का कोई दबाव नहीं था◾Shraddha Walker Murder Case : श्रद्धा के शरीर के 17 से ज्यादा टुकड़े किए, आफताब ने कबूला - चार्जशीट◾तुर्किये और सीरिया में आए भीषण भूकंप में 7000 से अधिक लोगों की मौत◾शिंदे ने मछुआरे समुदाय को नजरअंदाज करने के लिए ठाकरे परिवार पर निशाना साधा◾सुप्रीम कोर्ट में MCD मेयर चुनाव के लिए आप की याचिका पर बुधवार को होगी सुनवाई ◾युवा कांग्रेस ने अडाणी समूह के मामले को लेकर किया प्रदर्शन◾मनोज तिवारी : केजरीवाल मंदिर के पुजारियों के साथ अन्याय कर रहे हैं, इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा◾Bilkis Bano case: सुप्रीम कोर्ट ने दोषियों की सजा में छूट के खिलाफ याचिका पर जल्द सुनवाई का दिया आश्वासन◾अमित शाह बोले- नयी सहकारिता नीति बनने से देश में सहकारी आंदोलन मजबूत होगा◾'कांग्रेस की अडाणी से नजदीकी...', राहुल गांधी के बयानों पर भाजपा सांसद निशिकांत दुबे का पलटवार ◾ममता बनर्जी बोलीं- सिर्फ TMC ही ‘डबल इंजन’ सरकार को सत्ता से कर सकती है बाहर◾असम : बाल विवाह के खिलाफ कार्रवाई के बाद अब समय सीमा के अंदर आरोपपत्र दाखिल करने की बड़ी चुनौती ◾श्रद्धा वाकर हत्याकांड में अदालत ने चार्जशीट पर लिया संज्ञान, 21 को सुनवाई◾ UP Politics: राहुल गांधी का बड़ा आरोप, बोले- 'CM योगी धार्मिक नेता नहीं, बल्कि एक मामूली ठग, बीजेपी कर रही अधर्म'◾AgustaWestland Scam: सुप्रीम कोर्ट ने बिचौलिये क्रिश्चियन मिशेल को जमानत देने से इंकार किया◾CM हिमंत बोले- त्रिपुरा की क्षेत्रीय अखंडता से समझौता नहीं करेगी भाजपा◾झारखंड : मंडी शुल्क के खिलाफ अनाज व्यापारियों का आंदोलन, दुकानें और प्रतिष्ठान बंद रखने का निर्णय ◾गृह मंत्रालय का बड़ा ऐलान, 'देश के 31 जिलों में अल्पसंख्यकों को नागरिकता देने का प्रावधान'◾

निर्भया मामला : दोषियों को फांसी देने के बाद तिहाड़ के बाहर लगे ‘निर्भया अमर रहे’, ‘भारत माता की जय’ के नारे, बांटी गई मिठाइयां

नयी दिल्ली : निर्भया सामूहिक बलात्कार एवं हत्या मामले के चारों दोषियों को शुक्रवार सुबह साढ़े पांच बजे फांसी दिये जाने के बाद यहां तिहाड़ जेल के बाहर एकत्र लोगों ने तिरंगा लहराया और ‘निर्भया अमर रहे’, ‘भारत माता की जय’ के नारे लगाये। कुछ लोगों ने मिठाइयां भी बांटी। जेल के बाहर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये गये थे। वहां चारों दोषियों--मुकेश सिंह (32), पवन गुप्ता (25), विनय शर्मा (26) और अक्षय कुमार सिंह (31)--को रखा गया था।

जेल के बाहर एकत्र लोगों में सामाजिक कार्यकर्ता योगिता भयाना भी थी। उन्होंने एक पोस्टर ले रखा था जिस पर लिखा था, ‘‘निर्भया को न्याय मिल गया। अन्य बेटियों को अब भी इंतजार।’’उन्होंने कहा, ‘‘आखिरकार न्याय प्रदान किया गया।’’ उन्होंने कहा कि यह कानूनी प्रणाली की जीत है। यह वीभत्स घटना 16 दिसंबर 2012 को हुई थी जब फिजियोथैरेपी की 23 वर्षीय एक छात्रा से दिल्ली में चलती बस में सामूहिक बलात्कार किया गया था और उस पर हमला भी किया गया था। बाद में, उसकी सिंगापुर के एक अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई थी।

निर्भया के परिवार से जुड़े आकाश दीप ने कहा कि सात साल से अधिक समय तक चली लंबी कानूनी लड़ाई के बाद वह जीत देखने आये थे। उन्होंने कहा, ‘‘यह एक लंबी लड़ाई थी। हालांकि आज न्याय मिल गया।’’ पश्चिम दिल्ली निवासी सना ने कहा, ‘‘इस फांसी के बाद हमारे समाज में कुछ नहीं बदलेगा। लेकिन हम खुश हैं कि चारों दोषियों को फांसी मिली और न्याय हुआ।’’