BREAKING NEWS

DGCA ने जुलाई 2019 में सुरक्षा संबंधी त्रुटियों को लेकर कोझिकोड हवाईअड्डे को दिया था नोटिस◾भारत और चीन के बीच मेजर जनरल लेवल की बैठक जारी, देपसांग से सैनिकों को हटाने के बारे में होगी चर्चा ◾World Corona : विश्व में महामारी का कहर तेज, संक्रमितों का आंकड़ा 1 करोड़ 94 लाख के करीब◾कोरोना वायरस : पिछले 24 घंटे में 61 हजार 537 नए मामलों की पुष्टि, 933 लोगों ने गंवाई जान ◾केरल विमान हादसा : एअर इंडिया एक्सप्रेस का एलान- कोझिकोड तक तीन राहत उड़ानों का किया गया प्रबंध ◾LAC के पास सेना और वायुसेना को उच्च स्तर की सतर्कता बरतने के दिए गए निर्देश◾चीनी अतिक्रमण का उल्लेख करने वाली रिपोर्ट से धूमिल हुई रक्षा मंत्री की छवि : कांग्रेस ◾केरल विमान हादसा : कोझिकोड एयरपोर्ट पर रनवे पर विमान फिसलने से अब तक 18 लोगों की मौत◾कोझीकोड में हुए विमान हादसे पर PM मोदी ने ट्वीट कर जताया दुख, कहा- हादसे से व्यथ‍ित हूं◾केरल के कोझीकोड एयरपोर्ट पर रनवे से फिसला विमान, दो हिस्सों में टूटा, पायलट और को-पायलट समेत 17 लोगों की मौत◾महाराष्ट्र में कोरोना से 300 लोगों की मौत, 10483 नए मामले की पुष्टि◾सुशांत केस: रिया चक्रवर्ती की याचिका में पक्षकार बनने के लिये केन्द्र ने न्यायालय में दी अर्जी◾असदुद्दीन ओवैसी के खिलाफ अवमानना कार्यवाही को लेकर SC में याचिका दायर ◾दिल्ली में बीते 24 घंटे में कोरोना के 1,192 नए केस, संक्रमितों का आंकड़ा 1.42 लाख के पार ◾केरल में भूस्खलन की घटना पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने जताया दुख, कांग्रेस कार्यकर्ताओं से राहत बचाव कार्य में मदद करने की अपील की◾सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव की तबीयत बिगड़ी, लखनऊ मेदांता अस्पताल में भर्ती◾देश में 24 घंटे के भीतर कोरोना से 49 हजार 769 मरीज हुए ठीक, मृत्यु दर घटकर 2.05 % हुई : स्वास्थ्य मंत्रालय◾यूपी में 24 घंटे में कोरोना से 63 लोगो की मौत, 4404 नए मामले◾मुझे नहीं, सुशांत मामले की जांच को किया गया था क्वारंटाइन : IPS विनय तिवारी◾शपथ ग्रहण के बाद बोले उपराज्यपाल सिन्हा-अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद मुख्यधारा में आया J&K◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

एम्स में इस वर्ष साढ़े पांच लाख से अधिक मरीज नहीं पहुंचे इलाज कराने

देश के सबसे बड़े चिकित्सकीय संस्थान अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में इलाज के लिए पहुंचने वाले मरीजों की संख्या में भारी गिरावट दर्ज की गई है। करीब 12.41 फीसदी मरीजों के आने की संख्या कम हो गई है। सबसे ज्यादा एम्स के प्रमुख ओपीडी में गिरावट दर्ज की गई है। एम्स की ओर से तैयार किए गए वार्षिक रिपोर्ट में ये बात सामने आई है। 

निर्भया के दोषियों से अंतिम मुलाकात के लिए जेल प्रशासन ने परिजनों को लिखा पत्र

रिपोर्ट पर नजर डालें तो पिछले सात वर्षों में सबसे कम मरीज इस वर्ष एम्स इलाज कराने के लिए पहुंचे हैं। हालांकि, मुख्य अस्पताल सहित एम्स के सभी सेंटरों में मरीजों के दाखिले, सर्जरी व प्रोसिजर बढ़े हैं। लगातार मरीजों की संख्या में आ रही गिरावट : एम्स में इलाज के लिए आने वाले मरीजों की संख्या में लगातार गिरावट दर्ज कर रही है। वर्ष 2018-19 में एम्स की ओपीडी में कुल 38 लाख से अधिक मरीज आए थे। जबकि वर्ष 2017-2018 में 43 लाख से अधिक मरीज इलाज के लिए आए थे। इसका कारण मुख्य अस्पताल की ओपीडी में मरीजों की संख्या घटने के अलावा सीसीएम (सेंटर फॉर कम्यूनिट मेडिसिन) की सक्रियता कम होना है। 

मुख्य ओपीडी में 4 लाख से अधिक दर्ज की गई गिरावट 

रिपोर्ट के अनुसार, एम्स के प्रमुख ओपीडी राजकुमारी अमृत कौर में इस वर्ष 4 से अधिक मरीज इलाज कराने नहीं पहुंचे। इसी तरह आरपी सेंटर में 5 हजार से अधिक मरीज इस वर्ष इलाज कराने नहीं पहुंचे हैं। कम्युनिटी सेंटर में भी मरीजों की संख्या में गिरावट दर्ज की गई है। हालांकि इस रिपोर्ट के अनुसार कैंसर, हार्ट, डेंटल, ट्रॉमा सेंटर और झज्जर में बने आउटरिच सेंटरों के ओपीडी में मरीजों की संख्या बढ़ी है। अस्पताल सूत्रों का कहना है कि सुपर स्पेशलिटी सेंटरों के ओपीडी में अभी भी मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ है, जो इस बात का संकेत है कि बड़ी बीमारी में लोग अभी भी इलाज के लिए एम्स को पंसद कर रहे हैं।