BREAKING NEWS

राजस्थान: कांग्रेस विधायक दल की बैठक, पायलट की वापसी पर गहलोत खेमे के कई विधायक खफा◾उत्तर प्रदेश : CM योगी ने प्रधानमंत्री से HFNC उपकरणों की खरीद में मदद करने का किया अनुरोध◾पर्यावरण सरंक्षण कानून के खिलाफ और भारत के भविष्य से समझौता है EIA का मसौदा : कांग्रेस◾दिल्ली में कोरोना का विस्फोट जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 1.47 लाख के पार, बीते 24 घंटे में 1,257 नए केस ◾उत्तर प्रदेश में कोरोना का कहर जारी, बीते 24 घंटे में कोरोना के 5,130 नए केस, संक्रमितों का आंकड़ा 1.31 लाख के पार◾केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- कोरोना के रोजाना बढ़ते मामलों से राज्यों को अधिक चिंतित नहीं होना चाहिए◾उर्दू के मशहूर शायर राहत इंदौरी का दिल का दौरा पड़ने से निधन, कोरोना संक्रमण के बाद अस्पताल में थे भर्ती◾पुतिन का दावा-रूस ने बना ली कोरोना वायरस की पहली वैक्सीन, बेटी को लगाया गया टीका◾ब्रेन सर्जरी के बाद वेंटिलेटर सपोर्ट पर प्रणब मुखर्जी, हालत नाजुक◾मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक में PM मोदी में कोरोना टेस्टिंग बढ़ाने पर दिया जोर, कहा-महामारी बदल रही अपना रूप◾राजनीति में व्यक्तिगत शत्रुता का कोई स्थान नहीं, बस पार्टी के सामने जरूरी मुद्दों को रखा : सचिन पायलट◾जम्मू-कश्मीर के दो जिलों में ट्रायल के तौर पर 15 अगस्त के बाद शुरू होगी 4G इंटरनेट सेवा ◾CM गहलोत बोले- BJP की सरकार गिराने की साजिश रही नाकाम, हमारे सभी विधायक है हमारे साथ ◾कोरोना वायरस : देश में पिछले 24 घंटे में 53 हजार 601 नए मरीजों की पुष्टि, 871 लोगों ने गंवाई जान ◾मनरेगा पर राहुल ने शेयर किया ग्राफ, क्या सूट-बूट-लूट की सरकार समझ पाएगी गरीबों का दर्द◾बुलंदशहर : US में पढ़ने वाली छात्रा की छेड़खानी के दौरान सड़क हादसे में मौत◾UP : बागपत में BJP नेता एवं पूर्व जिलाध्यक्ष की गोली मारकर हत्या, CM योगी ने जताया शोक ◾World Corona : दुनियाभर में महामारी का प्रकोप बरकरार, संक्रमितों का आंकड़ा 2 करोड़ के पार◾BSP विधायकों के कांग्रेस में विलय के खिलाफ याचिका पर SC में आज होगी सुनवाई◾पायलट की वापसी के बाद कांग्रेस नेताओं ने जताई खुशी, कहा- 'स्वागत है सचिन'◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

‘अब हर एक किमी पर मिलेगी स्वास्थ्य सुविधाएं’

नई दिल्ली : दिल्ली में सभी नागरिकों को एक किलोमीटर के दायरे में मुफ्त स्वास्थ्य सुविधाएं मिलेंगी। यह घोषणा मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को तिमारपुर के संगम विहार फ्लाईओवर के पास नवस्थापित मोहल्ला क्लीनिक के साथ 100 मोहल्ला क्लीनिकों के उद्घाटन के दौरान कहीं। उन्होंने कहा सभी को बेहतर और मुफ्त स्वास्थ्य सुविधाएं देना ही हमारा सपना था। अब ऐसा होने भी लगा है। 

इससे लगता है कि आम आदमी का राजनीति में आने का मकसद पूरा हो रहा है। इस दौरान स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन भी मौजूद रहे। अब 100 मोहल्ला क्लीनिक खुलने के बाद दिल्ली के लोगों को घर के पास बेहतर प्राथमिक स्वास्थ्य सुविधाएं मिल सकेंगी। इससे पहले दिल्ली में 202 मोहल्ला क्लीनिक चल रहे थे। साथ ही 30 सांध्यकालीन मोहल्ला क्लीनिक का संचालन हो रहा है। अब मोहल्ला क्लीनिक की संख्या 302 हो गई। 

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि पूरी दुनिया में एक साथ इतने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र आज तक नहीं खुले, जितने दिल्ली में पांच साल में मोहल्ला क्लीनिक खुले हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि लाखों लोगों को अब स्वास्थ्य सेवाएं अपने मोहल्ले में ही मिलेंगी। ऐसे मौकों पर लगता है आम आदमी का राजनीति में आना सार्थक साबित हो रहा है, इस राजनीति ने लोगों की जिंदगियां बदली है।

हमने ऐसे काम किए जो दुनियाभर में नहीं हुए

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि हमने ऐसे-ऐसे काम किए जो दुनियाभर में कहीं नहीं हुए। दिल्ली में 3 लाख सीसीटीवी लगाए गए, 2 लाख स्ट्रीट लाइट लगाने जा रहे हैं। पूरी दुनिया में ऐसा कभी नहीं हुआ। दिल्ली के स्कूलों में 22 हजार कमरे बनाए गए। पूरे देश के सरकारी स्कूलों में इतने कमरे नहीं बने। दिल्ली में सबसे सस्ती और 24 घंटे बिजली है। दुर्घटना होने पर किसे के भी मुफ्त इलाज की व्यवस्था है।

ढाई माह में बनाए जाएंगे 500 और मोहल्ला क्लीनिक... स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने बताया कि अगले ढाई माह में करीब 200 और मोहल्ला क्लीनिक खोलने की तैयारी है। इसके बाद दिल्ली में मोहल्ला क्लीनिक की संख्या 500 के पार हो जाएगी। जैन ने बताया कि अब 40 वर्ग मीटर जमीन पर एक शौचालय वाली जगह पर मोहल्ला क्लीनिक खोलने की इजाजत दे दी जाएगी। पहले 60 वर्ग मीटर व दो शौचालय वाली जमीन पर ही मोहल्ला क्लीनिक खोलने की इजाजत मिलती थी।

109 दवाएं और 212 जांच मुफ्त

दिल्ली सरकार द्वारा स्थापित 1000 मोहल्ला क्लीनिकों में से 302 मोहल्ला क्लीनिक वर्तमान में चल रही है, जबकि अधिकांश मोहल्ला क्लीनिक पोटा केबिन में चलते हैं। कुछ किराए के परिसर से संचालित होते हैं। मोहल्ला क्लीनिक 109 आवश्यक दवाओं का वितरण करते हैं। इन क्लीनिकों में 212 जांचों की सुविधा है। मोहल्ला क्लीनिक के अधिकांश हिस्से में स्वास्थ्य स्लेट (टेबलेट) एक चिकित्सा उपकरण है जो 33 आम चिकित्सा परीक्षण करता है। इसकी कीमत लगभग 60,000 रुपए है।

75 % लोगों ने लिया सुविधा का लाभ

स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने बताया कि मोहल्ला क्लीनिक की वजह से सरकारी स्वास्थ्य सेवाओं में लोगों का विश्वास बढ़ा है। मोहल्ला क्लीनिक पर प्रतिदिन 40 हजार से ज्यादा लोग इलाज करा रहे हैं। दिल्ली में प्रतिदिन ओपीडी जाने वालों की कुल संख्या का यह 20 प्रतिशत है। मोहल्ला क्लीनिक में अब तक 1.69 करोड़ लोगों ने ओपीडी सेवा ली है। 16 लाख लोग टेस्ट करा चुके हैं। इसमें 75 प्रतिशत लोग ऐसे हैं, जिन्होंने पहली बार सरकारी स्वास्थ्य सेवाओं का इस्तेमाल किया है। इससे झोलाछाप डॉक्टरों पर लगाम लगने में मदद मिली है।

क्लीनिकों में न डाॅक्टर हैं न दवाइयां : तिवारी

दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि दिल्ली में पहले से चल रहे 202 मोहल्ला क्लीनिकों की हालत बेहद खराब है, उसको सुधारने की बजाय नए मोहल्ला क्लीनिक खोलकर दिल्ली के करदाताओं के पैसों का उपयोग अपनी राजनीति चमकाने के लिए कर रही है। दिल्ली सरकार जनता में भ्रम फैलाने के लिए दिसम्बर 2019 तक मोहल्ला क्लीनिकों की संख्या 500 तक करने का दावा कर रही है जो दूसरे चुनावी वादों की तरह लगता है। 

नए मोहल्ला क्लीनिकों के उद्घाटन से पहले पूर्व में चलाए जाने वाले मोहल्ला क्लीनिक का सरकार के मुखिया मुआयना कर लेते तो उचित रहता। शायद नए मोहल्ला क्लीनिक खोलने की हसरत दिल से निकल जाती। सच्चाई ये है कि अधिकांश मोहल्ला क्लीनिक जनता के इलाज के स्थान पर घोड़े, भैंस, आदि बांधे जाने वाले स्थल बन चुके हैं। डाक्टर और दवा तो यहां दिखना खुली आंखों से ख्वाब देखने जैसा है।

शिलान्यासों से ‘आप’ को नहीं मिलेंगे वोट : गुप्ता

दिल्ली विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष विजेन्द्र गुप्ता ने केजरीवाल सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि पिछले 56 महीने से सत्ता में रहते हुए दिल्ली की जनता के लिए कोई विकास कार्य नहीं किया। केजरीवाल सरकार ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में दिल्ली में 1000 मोहल्ला क्लीनिक खोलने का वादा किया था। लेकिन उनके कार्यकाल में ये योजना जमीन पर कहीं नजर नहीं आती है। 

अब जब विधानसभा चुनाव नजदीक आ रहे हैं तो केवल गिनती पूरी करने के लिए बिना चिकित्सकों, आवश्यक कर्मियों तथा उपकरणों के बिना मोहल्ला क्लीनिकों का उद्घाटन किया जा रहा है, जबकि सच्चाई यह है कि इन खोले जा रहे मोहल्ला क्लीनिकों में स्वास्थ्य सेवाओं के नाम पर कोई सेवा उपलब्ध नहीं है। 

केजरीवाल, उनके मंत्री व पार्टी के नेता दिल्ली में चुनावों से पहले कितने ही उद्घाटन या शिलान्यास कर लें जनता ‘आप’ को वोट नहीं देने वाली।