BREAKING NEWS

आज का राशिफल ( 02 जुलाई 2022)◾NCP ने महाराष्ट्र की शिंदे नीत सरकार को बताया दो पहिया स्कूटर◾एकनाथ शिंदे का दावा : हम आसानी से जीतेंगे फ्लोर टेस्ट ◾उद्धव का एकनाथ पर बड़ा एक्शन - पार्टी विरोधी गतिविधि के आरोप में शिवसेना में सभी पदों से हटाया◾PM Modi Bhimavaram and Gandhinagar tour : प्रधानमंत्री मोदी 4 जुलाई को भीमावरम और गांधीनगर का करेंगे दौरा◾JP Nadda Hyderabad Road Show : राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक से एक दिन पहले हैदराबाद में जेपी नड्डा का रोड शो◾Prophet remark case : सुप्रीम कोर्ट द्वारा नुपुर को फटकार लगाए जाने के कुछ घंटों बाद दिल्ली पुलिस बोली - 18 जून को शर्मा से हुई थी पूछताछ◾Prophet remark case : जानिए ! नुपुर शर्मा केस में सुप्रीम कोर्ट ने क्या-क्या कहा◾ विदेशी चोरी कर ले गए थे तमिलनाडु से बाइबल , लंदन के संग्रहालय में मौजूद ◾ दिल्ली में फिर बढ़ने लगा कोरोना का कहर, 24 घंटे में 813 नए मामले सामने आए◾ राष्ट्रपति चुनाव : शिअद व जजपा करेंगी मुर्मू का समर्थन ◾ Presidential Election 2022: द्रौपदी मुर्मू सर्वसम्मति की उम्मीदवार हो सकती थीं, CM ममता का बड़ा बयान◾ GST collection: जून में 56% उछला जीएसटी संग्रह, मार्च 2022 के बाद से लगातार चौथा महीना है जब कलेक्शन इतना अधिक◾उप्र : नोएडा में अवैध कोरियाई रेस्तरां का भंडाफोड़, भारी मात्रा में शराब बरामद, दो गिरफ्तार◾ यूक्रेन -रूस युद्ध : ओदेसा में रूस के मिसाइल हमले में 19 लोगों की मौत◾ Punjab: क्या पंजाब लोक कांग्रेस का बीजेपी में होगा विलय? कैप्टन अमरिंदर सिंह जल्द कर सकते हैं बड़ा ऐलान ◾राहुल गांधी का भाजपा पर तीखा प्रहार, बोले- देश में ‘‘गुस्से और नफरत" का बनाया माहौल◾ भारत ने पाकिस्तान से हिरासत में रखे कैदियों को रिहा करने को कहा◾ PM Modi News: प्रधानमंत्री मोदी ने रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से की फोन पर बात, जानें किन मुद्दों पर हुई चर्चा◾ राजस्थान : कन्हैयालाल के कत्ल के बाद एक्शन में गहलोत प्रशासन, भड़काऊ बयान देने वाला मौलवी गिरफ्तार ◾

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के दौरे के दौरान उमर खालिद ने रची थी दिल्ली दंगों की साजिश

दिल्ली पुलिस ने फरवरी में उत्तर-पूर्व दिल्ली में ही हिंसा के पीछे कथित तौर पर बड़ी साजिश होने के मामले में उमर खालिद और जेएनयू छात्र शरजील इमाम के खिलाफ कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की। चार्जशीट में पुलिस ने कहा कि जेएनयू के पूर्व छात्र नेता उमर खालिद ने इस साल फरवरी में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की यात्रा के दौरान दिल्ली दंगों को हवा देने की साजिश रची थी, ताकि भारत में अल्पसंख्यकों पर अत्याचार का विश्व स्तर पर प्रचार हो सके। 

रविवार को दाखिल चार्जशीट के अनुसार खालिद एक साजिश के तहत 23 फरवरी को दिल्ली से पटना गया और 27 फरवरी को वापस लौटा। इसमें आरोप लगाया गया कि खालिद ने अन्य आरोपी लोगों के साथ चांद बाग में एक कार्यालय में बैठक भी की थी। प्राथमिकी में पुलिस ने दावा किया कि साम्प्रदायिक हिंसा एक ‘‘सोची समझी साजिश’’ थी, जिसे खालिद और दो अन्य लोगों ने अंजाम दिया। 

पुलिस ने आरोप लगाया कि खालिद ने कथित तौर पर दो अलग-अलग स्थानों पर भड़काऊ भाषण दिए थे और नागरिकों से अपील की थी कि वे ट्रंप की यात्रा के दौरान सड़कों पर उतरें और रास्ते जाम करें, ताकि भारत में अल्पसंख्यकों पर हो रहे अत्याचारों का अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रचार-प्रसार किया जा सके। 

पुलिस ने दावा किया कि इस साजिश में, कई घरों में आग्नेयास्त्र, पेट्रोल बम, एसिड की बोतलें और पत्थर एकत्र किए गए थे। उसने आरोप लगाया कि सह-आरोपी मोहम्मद दानिश को दंगों में शामिल करने के लिए दो अलग-अलग स्थानों पर लोगों को एकत्रित करने की जिम्मेदारी दी गई थी। उत्तर-पूर्वी दिल्ली में नागरिकता कानून में संशोधनों के समर्थकों और विरोधियों के बीच हिंसा के बाद 24 फरवरी को सांप्रदायिक झड़पें शुरू हुई थीं, जिसमें 53 लोगों की मौत हो गई और करीब 200 लोग घायल हो गए थे। 

सूत्रों के अनुसार खालिद, इमाम और एक अन्य आरोपी फैजान खान के खिलाफ कठोर गैर-कानूनी गतिविधियां (निवारण) अधिनियम की संबंधित धाराओं के तहत दर्ज इस मामले में अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश अमिताभ रावत के समक्ष आरोप पत्र दाखिल किया। उनपर, दंगे, गैर-कानूनी तरीके से एकत्रित होने, आपराधिक साजिश, हत्या, धर्म, भाषा, जाति इत्यादि के आधार पर शत्रुता को बढ़ावा देने और भारतीय दंड संहिता की अन्य धाराओं के तहत आरोप लगाए गए हैं। 

इन अपराधों के तहत अधिकतम मृत्युदंड की सजा दी जा सकती है। 930 पन्नों का यह पूरक आरोपपत्र यूएपीए की धारा 13 (गैर-कानूनी गतिविधियां), 16 (आतंकवादी गतिविधि), 17 (आतंकवादी गतिविधि के लिये धन जुटाना) और 18 (षड़यंत्र) के तहत दायर किया गया है। खालिद और इमाम फिलहाल इस मामले में न्यायिक हिरासत में हैं। खान को दिल्ली हाई कोर्ट से जमानत मिल चुकी है। 

मुख्य आरोप पत्र सितंबर में पिंजरा तोड़ की सदस्यों तथा जेएनयू की छात्राओं देवांगना कालिता और नताशा नरवाल, जामिया मिल्लिया इस्लामिया के छात्र आसिफ इकबाल तन्हा और छात्र कार्यकर्ता गुलफिशा फातिमा के खिलाफ दायर किया गया था। अन्य आरोपी जिनका आरोप पत्र में नाम है उनमें कांग्रेस की पूर्व पार्षद इशरत जहां, जामिया समन्वय समिति के सदस्य सफूरा जरगर, मीरान हैदर और शिफाउर्रहमान, आम आदमी पार्टी के निलंबित विधायक ताहिर हुसैन, कार्यकर्ता खालिद सैफी, शादाब अहमद, तसलीम अहमद, सलीम अहमद, सलीम मलिक, मोहम्मद सलीम खान और अतहर खान शामिल हैं।