नई दिल्ली : वोटर लिस्ट से मतदाताओं का नाम कटने का मुद्दा अब आम आदमी पार्टी (आप) बनाम दिल्ली पुलिस का रूप लेता जा रहा है। आप नेता एवं दिल्ली सरकार के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने इसे मुद्दे पर दिल्ली पुलिस को घेरते हुए कई आरोप लगाए हैं। पार्टी मुख्यालय में एक प्रेसवार्ता के दौरान मनीष सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली पुलिस जानबूझकर उन कॉल सेंटर के मालिकों और कर्मचारियों को परेशान कर रही है जिन्होंने लोगों को वोटर लिस्ट से उनके नाम कटने की सूचना दी थी।

पुलिस उन्हें जबरदस्ती उठाकर ले जा रही है और पूछताछ करने के नाम पर घंटों थाने में बैठाकर प्रताड़ित कर रही है। सिसोदिया ने कहा कि पुलिस के कहने पर पार्टी द्वारा हायर किए गए कॉल सेन्टर वालों को परेशान किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पुलिस ने आप पर आरोप लगाया कि उसके कहने पर ही कॉल सेंटर वालों ने लोगों को कॉल किए।

सिसोदिया ने कहा कि अगर वोटर लिस्ट से मतदाताओं के नाम काटे गए हैं और लोकतंत्र बचाने के लिए आप के कहने पर कॉल सेंटर वालों ने लोगों को कॉल कर इसके प्रति आगाह कराया है तो इसमें कौन सा गुनाह है? यदि यह कोई गुनाह है तो हां हमने गुनाह किया है। सिसोदिया ने दिल्ली पुलिस को चुनौती दी कि वह आप नेताओं को बुलाकर उनसे पूछे, फिर हम जवाब देंगे।