नई दिल्ली : विश्वास नगर से भाजपा विधायक ओम प्रकाश शर्मा एक बार फिर अपने बयान की वजह से खबरों में हैं। इस बार भाजपा विधायक ने अपने बयान के जरिए सुप्रीम कोर्ट को निशाने पर लिया है। दिवाली पर रात आठ से दस बजे के बीच ग्रीन पटाखे ही चलाने के कोर्ट के बयान को विधायक ने हास्यस्पद बताया है। जिसे लेकर विपक्षी पार्टियां उन्हें घेरने लगी हैं।

पंजाब केसरी से बातचीत के दौरान ओम प्रकाश शर्मा का कहना है कि वह कोर्ट का सम्मान करते हैं लेकिन कोर्ट को भी लोगों की धार्मिक भावनाओं का ख्याल रखना चाहिए। कोर्ट कहती है कि केवल ग्रीन पटाखे ही चलाए जा सकते हैं। जबकि अभी तक बाजार में ऐसा कोई पटाखा है ही नहीं।

इसे अभी तक न तो कोई बना रहा है और न ही कोई बेच रहा है, न ही अभी तक इसे बेचने के लिए किसी को लाइसेंस ही दिया गया है। यही नहीं गूगल भी बता रहा है कि यह पटाखा आने वाले दो साल के बाद ही बन पाएगा। ऐसे में जो इसे इस दिवाली पर चलाने का आदेश देना हास्यास्पद ही नजर आता है।

पटाखे फोड़ने पर हुईं 562 एफआईआर, 310 लोग अरेस्ट