BREAKING NEWS

शाहीन बाग में नहीं निकला कोई हल, महिलाएं वार्ताकारों की बात से नाखुश◾राम मंदिर निर्माण : अमित शाह ने पूरा किया महंत नृत्यगोपाल से किया वादा◾उद्धव ठाकरे शुक्रवार को नयी दिल्ली में प्रधानमंत्री से मिलेंगे ◾UP के 4 स्टेशनों के नाम बदले, इलाहाबाद जंक्शन हुआ प्रयागराज जंक्शन◾J&K प्रशासन ने महबूबा मुफ्ती के करीबी सहयोगी पर लगाया PSA◾ओवैसी के मंच पर प्रदर्शनकारी युवती ने लगाए 'पाकिस्तान जिंदाबाद' के नारे, पुलिस ने किया राजद्रोह का केस दर्ज◾भारत में लोगों को Trump की कुछ नीतियां नहीं आई पसंद, लेकिन लोकप्रियता बढ़ी - सर्वेक्षण◾दिल्ली सहित उत्तर के कई इलाकों में बारिश , फिर लौटी ठंड , J&K में बर्फबारी◾Trump की भारत यात्रा के मद्देनजर दिल्ली पुलिस ने रूट पर CCTV कैमरे लगाने शुरू किए◾गांधी के असहयोग आंदोलन जैसा है सीएए, एनआरसी और एनपीआर का विरोध : येचुरी ◾AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी की मौजूदगी में मंच पर पहुंचकर लड़की ने लगाए पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे◾महिलाओं को सेना में स्थायी कमीशन मिलने से लैंगिक समानता लाने की दिशा में मिलेगी सफलता : सेना प्रमुख◾मुझे ISI, 26/11 आंतकी हमलों से जोड़ने वाले BJP प्रवक्ताओं के खिलाफ करुंगा मानहानि का दावा : दिग्विजय◾अमेरिकी राष्ट्रपति के बयान का संदर्भ व्यापार संतुलन से था, चिंताओं पर ध्यान देंगे : विदेश मंत्रालय◾राम मंदिर ट्रस्ट ने PM मोदी से की मुलाकात, अयोध्या आने का दिया न्योता◾अयोध्या में बजरंगबली की शानदार और भव्य मूर्ति बनाने के लिए ट्रस्ट से करेंगे अनुरोध - AAP◾अमित शाह सीएए के समर्थन में 15 मार्च को हैदराबाद में करेंगे रैली ◾AMU के छात्रों ने मुख्यमंत्री योगी के खिलाफ निकाला विरोध मार्च ◾भाकपा ने किया ट्रंप की यात्रा के विरोध में ‘प्रगतिशील ताकतों’, नागरिक संस्थाओं से प्रदर्शन का आह्वान◾TOP 20 NEWS 20 February : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾

बंधक बना नाबालिग से रेप मामले में व्यक्ति को 12 साल की कैद

नई दिल्ली : कड़कड़डूमा कोर्ट ने 2013 के एक मामले में 14 वर्ष की लड़की को काम दिलाने के बहाने दिल्ली लाकर बंधक बना कर रेप करने के मामले में 30 वर्षीय शाहबुद्दीन गाजी उर्फ राजू को 12 साल कैद की सजा सुनाई है। पॉक्सों कोर्ट स्पेशल जज एनके मल्होत्रा ने दोषी पर 61 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया और इसे पीड़ित लड़की को देने का आदेश दिया। इसके अलावा पीड़िता को 3 लाख रुपए हर्जाना देने का भी आदेश दिया और पीड़िता को जबरन देह व्यापार में धकेलने जैसे गंभीर मामले की जांच सब-इस्पेक्टर रैंक के पुलिस अधिकारी से कराने पर भी अदालत ने सवाल उठाए। 

डिस्ट्रिक डीसीपी को फैसले की कॉपी भेजने का भी आदेश दिया। दोषी शाहबुद्दीन गाजी मूलरूप से कोलकाता का रहने वाला है। साल 2013 में वह अपने दूर के रिश्तेदारों की 14-15 वर्ष की दो लड़कियों को यह कहकर दिल्ली लेकर आया था, वहां पर वह दोनों लड़कियों की घरों में जॉब लगवा देगा, लेकिन उसने यहां लाकर दोनों लड़कियों को बंधक बना लिया। इस दौरान जब उसकी पत्नी अपने गांव गई हुई थी, तो उसने एक लड़की के साथ रेप भी किया। 

इस दौरान पीड़ित लड़की की चचेरी बहन किसी तरह से उसके चंगुल से छूटकर वापस अपने गांव चली गई थी, लेकिन पीड़ित लड़की को उसने घर से बाहर नहीं निकलने दिया। उसने न केवल उसका खुद रेप किया बल्कि नोएडा आदि जगहों पर लेकार लड़की से जबरन देह व्यापार कराया। दोषी की पत्नी के वापस लौटने पर उसने उसे पूरी बात बताते हुए वापस घर जाने की इच्छा जताई तो उसे बेहरमी से पीटा गया। दोषी की पत्नी ने भी उसकी मदद नहीं की।  एक दिन मौका पाकर वह उसके चंगुल से छूटकर भाग गई और पुलिस के पास पहुंची। 

पुलिस को दिए बयान में लड़की ने अपने साथ हुई पूरी वारदात के बारे में बताया। पुलिस ने लड़की का मेडिकल कराने के बाद पीड़िता के बयान पर आईपीसी की धारा 342, धारा 366ए, धारा 376 के अलावा पॉक्सो एक्ट की धारा 6 और धारा 17 में मामला दर्ज कर शाहबुद्दीन गाजी और उसकी पत्नी रेहाना बीवी को गिरफ्तार कर लिया। सबूतों के अभाव में रेहाना को अदालत ने बरी कर दिया। 

सरकारी वकील ने 12 गवाह पेश किए। जिसके आधार पर ही अदालत ने यह सजा सुनाई। इसके अलावा पुलिस की जांच पर इस बात पर अदालत ने सवाल खड़ा किया कि जांच अधिकारी ने पीड़ित के पैरेंट्स और उसकी चचेरी बहन का बयान दर्ज नहीं किया, हो सकता है कि उसके साथ भी क्राइम हुआ हो।