BREAKING NEWS

महाराष्ट्र : कांग्रेस के साथ संयुक्त बैठक से पहले NCP नेताओं की बैठक ◾अमित शाह ने झारखंड में चुनावी रैली को किया संबोधित, राम मंदिर को लेकर कांग्रेस पर साधा निशाना◾लोकसभा में कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने उठाया चुनावी बॉन्ड का मुद्दा◾साध्वी प्रज्ञा को रक्षा मंत्रालय की समिति में मिली जगह, कांग्रेस ने बताया दुर्भाग्यपूर्ण◾दिल्ली : महाराष्ट्र में शिवसेना संग गठबंधन पर सीडब्ल्यूसी ने लगाई मुहर ◾महाराष्ट्र में सरकार गठन की प्रकिया 1 दिसंबर से पहले हो जाएगी पूरी : संजय राउत ◾दिल्ली : सोनिया गांधी के आवास पर सीडब्ल्यूसी की बैठक, महाराष्ट्र पर चर्चा की संभावना◾झारखंड विधानसभा चुनाव : पहले चरण में भाजपा के लिए सीटें बचाना हुआ मुश्किल , 'अपने' दे रहे कड़ी टक्कर ◾पेट्रोल, डीजल के दाम में वृद्धि पर लगा ब्रेक, देखें पूरी लिस्ट◾भारत को सौंपे गए तीन और राफेल विमान, पायलट-टेक्नीशियंस का प्रशिक्षण शुरू : सरकार◾भारत को सौंपे गए तीन और राफेल विमान, पायलट-टेक्नीशियंस का प्रशिक्षण शुरू : सरकार◾दिल्ली में निशुल्क यात्रा की योजना लागू होने के बाद से महिला यात्रियों की हिस्सेदारी 10 फीसदी बढ़ी ◾तीसहजारी कांड : दिल्ली पुलिस ने अदालत में दाखिल की प्रगति रिपोर्ट, SIT जांच में मांगा सहयोग◾लोकसभा से चिट फंड संशोधन विधेयक 2019 को मंजूरी◾महाराष्ट्र की राजनीतिक तस्वीर साफ हुई, जल्द बन सकती है शिवसेना-राकांपा-कांग्रेस की सरकार ◾मंत्रिमंडल ने 1.2 लाख टन प्याज आयात की मंजूरी दी : सीतारमण◾NC, PDP ने कश्मीर में सामान्य हालात बताने पर केंद्र की आलोचना की◾पृथ्वी-2 मिसाइल का रात के समय सफलतापूर्वक परीक्षण ◾महाराष्ट्र में सरकार गठन पर जल्द मिलेगी गुड न्यूज : राउत ◾सकारात्मक चर्चा हुई, जल्द सरकार बनेगी : चव्हाण◾

दिल्ली – एन. सी. आर.

बिक रही एनसीईआरटी की पायरेटेड किताब

 ncert

नई दिल्ली : एनसीईआरटी की पायरेटेड किताबें बेचने वाले गिरोह का भंडाफोड़ करते हुए दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने बदमाश को गिरफ्तार किया है, जो एनसीईआरटी की पायरेटेड किताबें छापने और उनको बेचने के धंधे में शामिल था। पुलिस ने आरोपी के पास अलग-अलग विषयों की हजारों किताबें बरामद की हैं तो वहीं प्रिंटिंग का सामान भी मिला है। आरोपी की पहचान शकरपुर निवासी अभिषेक चौधरी उर्फ गोल्डी (28) के रूप में की गई है, जिसने गाजीपुर में प्रिंटिंग यूनिट तैयार किया हुआ था। अतिरिक्त आयुक्त, अपराध शाखा राजीव रंजन ने बताया कि पुलिस ने कॉपीराइट सहित अन्य धाराओं में एफआईआर दर्ज करके छानबीन शुरू कर दी है।

एनसीईआरटी की किताबों की अच्छी गुणवत्ता के कारण उनकी मांग अधिक होती है, जिसके कारण केंद्रीय मानव संसाधन मंत्रालय की तरफ से भी सीबीएसई के स्कूलों में एनसीईआरटी की किताबें चलाने के लिए कहा था। इससे पहले स्कूल प्रबंधन अपने फायदे के अनुसार अलग-अलग प्रकाशनों की किताबें चलवाते थे। एनसीईआरटी की किताबों की मांग बढ़ने के कारण गिरोह ने उन किताबों की पायरेटेड कॉपी प्रिंट करनी शुरू कर दी।

पुलिस को सूचना मिली थी कि यमुना पार के इलाके में किताबें पायरेटेड की जा रही हैं, जिसमें कक्षा छह से लेकर बारह तक की किताबें शामिल हैं। इसके बाद पुलिस उपायुक्त राजेश देव की देखरेख में एसीपी जसबीर सिंह, इंस्पेक्टर विवेकानंद झा, एसआई लोकेंद्र, राकेश, एएसआई नरेंद्र, जगदीश, सिपाही योगेश की टीम का गठन कर छापेमारी करके आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। एनसीईआरटी निदेशक से भी मदद मांगी गई और एनसीईआरटी की टीम भी पुलिस के साथ थी। आरोपी ने पूछताछ में बताया कि उसने बीकॉम किया था और अपने पिता की प्रेस में मदद कर रहा था।

वर्ष 2017 में वह राहुल नाम के शख्स के संपर्क में आया और दोनों ने एनसीईआरटी की किताबें छापनी शुरू की। इतना ज्यादा मुनाफा होने के बाद अभिषेक ने गाजीपुर में एक ऑफसेट प्रेस खोली, जहां सिर्फ पायरेटेड किताबें छापी जाती थी। आरोपी चावड़ी बाजार से एनसीईआरटी के वाटर मार्क वाला पेपर लेकर आता था और छापने के बाद उत्तर व दक्षिण भारत के हिस्से में किताब पहुंचा दी जाती थी।