BREAKING NEWS

जानिये क्यों, पीएम की 9 मिनट लाइट बंद करने की अपील के बाद अलर्ट मोड पर है बिजली विभाग की कंपनियां◾तबलीगी जमातियों पर भड़के राज ठाकरे,कहा- ऐसे लोगों को गोली मार देनी चाहिए ◾PM मोदी ने अटल बिहारी बाजपेयी की कविता को शेयर करते हुए कहा- आओ दीया जलाएं◾देश में कोरोना वायरस का प्रकोप जारी, गौतम बुद्ध नगर में वायरस के 5 नए मामले आए सामने ◾PM मोदी की दीया अपील पर महाराष्ट्र के ऊर्जा मंत्री ने दी प्रतिक्रिया, कहा- दोबारा सोचने की है जरुरत ◾बिजनौर के आइसोलेशन वार्ड में रखे गए जमातियों ने किया हंगामा, अंडे और बिरयानी की फरमाइश की◾दिल्ली : कोरोना संक्रमित मरीजों के संपर्क में आए गंगाराम अस्पताल के 108 स्वास्थ्यकर्मियों को किया गया क्वारनटीन◾प्रियंका ने किया योगी सरकार पर वार, कहा- स्वास्थ्यकर्मियों को सबसे ज्यादा सहयोग की है जरूरत◾देश में 2900 से ज्यादा लोग कोरोना से संक्रमित, अब तक 68 की मौत◾कोविड-19 : अमेरिका में पिछले 24 घंटे में 1,480 लोगों की मौत, इराक में 820 पॉजिटिव मामलों की पुष्टि◾राजस्थान : कोरोना संक्रमित 60 वर्षीय महिला की मौत, संक्रमण के 191 मामलों की पुष्टि◾जम्मू-कश्मीर में सेना के जवानों ने मुठभेड़ में 2 आतंकवादियों को मार गिराया, ऑपरेशन जारी◾कर्नाटक में कोरोना वायरस से 75 वर्षीय बुजुर्ग की मौत, राज्य में मृतक संख्या बढ़कर 4 हुई ◾कोरोना वायरस दिल्ली में नहीं फैला, घबराने की जरूरत नहीं: केजरीवाल ◾कोविड-19 : राज्यों में संक्रमण के 500 से ज्यादा मामले आये सामने , इसके साथ ही संक्रमित लोगों की संख्या 3,000 पार ◾दुनिया भर के 180 से ज्यादा देशों में कोरोना का कहर जारी, अब तक 53448 लोगों की मौत, करीब 1015191 से ज्यादा लोग इससे संक्रमित◾देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों के तेजी से बढ़ने का सिलसिला जारी, भारत में मौत का आंकड़ा 60 के पार◾गृह मंत्रालय का एक्शन, तबलीगी जमात से जुड़े 360 विदेशियों को ब्लैकलिस्ट में डालने की प्रक्रिया शुरू की ◾देश में 50 डॉक्टर व चिकित्साकर्मी कोविड-19 से संक्रमित : स्वास्थ्य मंत्रालय◾PM की 'दीया अपील' को ओवैसी ने बताया '9 मिनट की नौटंकी', कहा-देश इवेंट मैनेजमेंट कंपनी नहीं◾

भिलाई हादसे में संयंत्र के CEO हटाए गए, दो अधिकारी निलम्बित

भिलाई : केन्द्रीय इस्पात मंत्री चौधरी वीरेन्द, सिंह ने भिलाई इस्पात संयंत्र में कल गैस रिसाव के बाद से लगी आग से 12 कर्मचारियों की मौत एवं 13 के गंभीर रूप से घायल होने की घटना को गंभीरता से लेते हुए संयंत्र के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को तुरंत हटाने एवं दो अधिकारियों को निलम्बित करने की घोषणा की है। श्री सिंह ने आज मुख्यमंत्री डा.रमन सिंह के साथ भिलाई संयंत्र का दौरा करने एवं संयंत्र अस्पताल में घायल लोगो एवं उनके परिजनों से मुलाकात के बाद पत्रकारों को यह जानकारी दी।

उन्होने भारतीय इस्पात प्राधिकरण द्वारा घटना की जांच के लिए बनाई गई एक समिति के अलावा इस्पात मंत्रालय की ओर से भी एक अलग जांच समिति बनाने की घोषणा की जिसमें देशभर के जाने माने विशेषज्ञों को शामिल कर घटना के कारणों एवं इसमें बरती गई लापरवाही के बारे में रिपोर्ट देने को कहा जायेगा। उन्होने बताया कि किसी भी दोषी को कतई बख्शा नही जायेगा।शुरूआती कार्रवाई करते हुए संयंत्र के मुख्य कार्यपालन अधिकारी एम.रवि को हटा दिया गया है,तथा महाप्रबन्धक सुरक्षा एवं महाप्रबन्धक ऊर्जा को निलम्बित कर दिया गया है।उन्होने बताया कि आज शाम तक संयंत्र के नए मुख्य कार्यपालन अधिकारी की नियुक्ति कर दी जायेगी। श्री सिंह ने इसे काफी बड़ दुर्घटना मानते हुए कहा कि जांच के बाद सही स्थिति का पता चलेगा लेकिन उनका शुरूआती तौर पर मानना है कि गैस पाइप लाइन विस्तार में नई तकनीक का अगर इस्तेमाल किया जाता तो इस गंभीर हादसे से बचा जा सकता था।

उन्होने कहा कि जांच के लिए गठित समिति को सात दिन के भीतर रिपोर्ट देने को कहा जायेगा। श्री सिंह ने बताया कि इस हादसे में नौ लोगो की संयंत्र के भीतर तथा तीन गंभीर रूप से घायल लोगो की उपचार के दौरान मौत हुई है। कुछ गंभीर रूप से घायल है जिनका इलाज चल रहा है। गंभीर रूप से घायल लोगो को दिल्ली भी उपचार के लिए भेजने की उन्होने पेशकश की,पर चिकित्सकों ने जहां उन्हे इससे परेशानी बढ़ने की संभावना जताई वहीं परिजन भी संयंत्र अस्पताल में हो रहे इलाज पर सन्तोष जताया। उन्होने बताया कि म़तको के परिजनों को अनुग्रह राशि 25 लाख की बजाय 30 लाख,गंभीर रूप से घायलों को 10 लाख की बजाय 15 लाख तथा मामूली रूप से घायलों को दो लाख रूपए की अनुग्रह राशि देने का निर्णय लिया गया है।

राज्य में विधानसभा चुनावों की वजह से आचार संहिता लागू होने के कारण चुनाव आयोग से इसके लिए अनुमति ली गई है। श्री सिंह ने कहा कि मृतकों एवं गंभीर रूप से घायल कर्मचारियों के परिजनों को नौकरी भी देने का निर्णय लिया गया है। उनके परिजनों के नौकरी के इच्छुक नही होने पर मृत एवं गंभीर रूप से घायल कर्मचारियों की शेष सेवा अवधि तक वेतन दिया जायेगा।उन्होने कहा कि धिकारियों को उन्होने निर्देशित कर दिया है कि प्रक्रिया में विलम्ब नही होना चाहिए। इससे पूर्व श्री सिंह ने मुख्यमंत्री डा.सिंह के साथ भिलाई संयंत्र अस्पताल का दौरा किया,जहां उन्होंने भिलाई इस्पात संयंत्र के हादसे में घायल श्रमिकों के स्वास्थ्य और उनकी उपचार व्यवस्था का जायजा लिया। उन्होने अस्पताल परिसर में ही एक संक्षिप्त बैठक में कल के सम्पूर्ण घटना क्रम पर विचार-विमर्श किया।