BREAKING NEWS

कोविड-19 का प्रकोप : दुनियाभर में कोरोना के मामले 11 लाख के पार, 59 हजार से अधिक लोगों की मौत ◾स्वास्थ्य मंत्रालय : देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 3,072 तक पहुंची, अब तक 75 लोगों की मौत ◾दिल्ली में 445 लोग COVID-19 से संक्रमित, और बढ़ सकते हैं मामलें : CM केजरीवाल◾तबलीगी जमात के मुखिया मौलाना साद ने क्राइम ब्रांच को भेजा जवाब, कहा- अभी सेल्फ क्वारनटीन में हूं, बाकी सवाल बाद में◾स्वास्थ्य मंत्रालय का बयान : देश के कुल कोरोना संक्रमित मामलों में 30 फीसदी तबलीगी जमात के लोग◾राहुल गांधी ने PM मोदी पर साधा निशाना, ट्वीट कर कही ये बात ◾कोविड-19 पर सरकार ने जारी किया परामर्श, चेहरे और मुंह के बचाव के लिए घर में बने सुरक्षा कवर का करे प्रयोग◾जानिये क्यों, पीएम की 9 मिनट लाइट बंद करने की अपील के बाद अलर्ट मोड पर है बिजली विभाग की कंपनियां◾तबलीगी जमातियों पर भड़के राज ठाकरे,कहा- ऐसे लोगों को गोली मार देनी चाहिए ◾PM मोदी ने अटल बिहारी बाजपेयी की कविता को शेयर करते हुए कहा- आओ दीया जलाएं◾देश में कोरोना वायरस का प्रकोप जारी, गौतम बुद्ध नगर में वायरस के 5 नए मामले आए सामने ◾PM मोदी की दीया अपील पर महाराष्ट्र के ऊर्जा मंत्री ने दी प्रतिक्रिया, कहा- दोबारा सोचने की है जरुरत ◾बिजनौर के आइसोलेशन वार्ड में रखे गए जमातियों ने किया हंगामा, अंडे और बिरयानी की फरमाइश की◾दिल्ली : कोरोना संक्रमित मरीजों के संपर्क में आए गंगाराम अस्पताल के 108 स्वास्थ्यकर्मियों को किया गया क्वारनटीन◾प्रियंका ने किया योगी सरकार पर वार, कहा- स्वास्थ्यकर्मियों को सबसे ज्यादा सहयोग की है जरूरत◾देश में 2900 से ज्यादा लोग कोरोना से संक्रमित, अब तक 68 की मौत◾कोविड-19 : अमेरिका में पिछले 24 घंटे में 1,480 लोगों की मौत, इराक में 820 पॉजिटिव मामलों की पुष्टि◾राजस्थान : कोरोना संक्रमित 60 वर्षीय महिला की मौत, संक्रमण के 191 मामलों की पुष्टि◾जम्मू-कश्मीर में सेना के जवानों ने मुठभेड़ में 2 आतंकवादियों को मार गिराया, ऑपरेशन जारी◾कर्नाटक में कोरोना वायरस से 75 वर्षीय बुजुर्ग की मौत, राज्य में मृतक संख्या बढ़कर 4 हुई ◾

सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फैसलों ने देश के कानूनी और संवैधानिक ढांचे को किया मजबूत : राष्ट्रपति कोविंद

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने रविवार को दिल्ली में सुप्रीम कोर्ट द्वारा आयोजित अंतर्राष्ट्रीय न्यायिक सम्मेलन के मान्य सत्र को संबोधित किया। सम्मेलन को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति ने कहा कि मुझे यह जानकर खुशी हुई कि पर्यावरण संरक्षण और सतत विकास में सामंजस्य स्थापित करने में न्यायपालिका की भूमिका को विभिन्न देशों में तीव्र ध्यान दिया जा रहा है।

उन्होंने कहा, लैंगिक न्याय के पोषित लक्ष्य का पीछा करने में एक उदाहरण का उल्लेख करने के लिए भारत का सुप्रीम कोर्ट हमेशा सक्रिय और प्रगतिशील रहा है। दो महीने पहले कार्यस्थल में यौन उत्पीड़न को रोकने के लिए दिशानिर्देश जारी करने से लेकर इस महीने में सेना में महिलाओं को समान दर्जा देने के लिए निर्देश प्रदान करने के लिए, भारत के सर्वोच्च न्यायालय ने प्रगतिशील सामाजिक परिवर्तन का नेतृत्व किया है। 

मध्यस्थता और सुलह के माध्यम से विवाद समाधान एक लंबी मुकदमेबाजी प्रक्रिया का सहारा लेने के बजाय प्रभावी ढंग से समस्या को हल करने में मदद करेगा। एक वैकल्पिक विवाद समाधान तंत्र की शुरुआत करने की दिशा में हाल ही में कोर्ट पर बोझ को कम करने की उम्मीद है। 

सुप्रीम कोर्ट द्वारा पारित ऐतिहासिक फैसलों ने हमारे देश के कानूनी और संवैधानिक ढांचे को मजबूत किया है। इसकी बेंच और बार अपनी कानूनी छात्रवृत्ति और बौद्धिक ज्ञान के लिए जाने जाते हैं। भारत का सुप्रीम कोर्ट भी कई कट्टरपंथी सुधारों के लिए प्रशंसा का पात्र है, जिसने आम लोगों के लिए न्याय को अधिक सुलभ बनाया।