BREAKING NEWS

भारत ने अयोध्या, कश्मीर पर पाकिस्तानी दुष्प्रचार का दिया करारा जवाब◾शी चिनफिंग और मोदी के बीच वार्ता ◾महाराष्ट्र में भाजपा-शिवसेना में विलगाव ने कांग्रेस-राकांपा को किया है एकजुट ◾गृहमंत्री अमित शाह शुक्रवार को जायेंगे सीआरपीएफ के मुख्यालय ◾झारखंड : भाजपा ने 15 उम्मीदवारों की तीसरी सूची जारी की ◾JNU में विवेकानंद की प्रतिमा के चबूतरे पर आपत्तिजनक संदेश◾राफेल की कीमत, ऑफसेट के भागीदारों के मुद्दों पर सरकार के निर्णय को न्यायालय ने सही करार दिया : सीतारमण ◾झारखंड चुनाव के पहले चरण के लिए कांग्रेस के 40 स्टार प्रचारकों की सूची जारी ◾आतंकवाद के कारण विश्व अर्थव्यवस्था को 1,000 अरब डॉलर का नुकसान : PM मोदी◾महाराष्ट्र गतिरोध : कांग्रेस, राकांपा और शिवसेना में बातचीत, सोनिया से मिल सकते हैं पवार ◾मोदी..शी की ब्राजील में बैठक के बाद भारत, चीन अगले दौर की सीमा वार्ता करने पर हुए सहमत ◾कुलभूषण जाधव मामले में पाकिस्तान ने भारत से किसी भी समझौते से किया इनकार ◾राफेल के फैसले से JPC की जांच का रास्ता खुला : राहुल गांधी ◾राफेल पर उच्चतम न्यायालय के फैसले के बाद देवेंद्र फड़णवीस बोले- राहुल गांधी को अब माफी मांगनी चाहिए ◾नोबेल विजेता कैलाश सत्यार्थी ने कहा- शुद्ध हवा सुनिश्चित करने के लिए प्रधानमंत्री को ठोस कदम उठाने चाहिए◾TOP 20 NEWS 14 November : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾RSS-भाजपा को सबरीमाला पर न्यायालय का फैसला मान लेना चाहिए : दिग्विजय सिंह ◾महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाए जाने को लेकर CM ममता ने राज्यपाल कोश्यारी पर साधा निशाना ◾प्रधानमंत्री की छवि बिगाड़ने के लिए कांग्रेस ने लगाए थे राफेल सौदे पर भ्रष्टाचार के आरोप : राजनाथ◾राफेल मामले में SC के फैसले को रविशंकर ने बताया सत्य की जीत, राहुल गांधी से की माफी की मांग ◾

दिल्ली – एन. सी. आर.

राहुल गांधी चार बार गठबंधन को कर चुके हैं मना, फिर भी तलाशी जा रही हैं संभावनाएं

नई दिल्ली : कांग्रेस और आप पार्टी के बीच गठबंधन को लेकर चल रही कवायदों पर जब भी विराम लगे, लेकिन इससे पहले पार्टी के भीतर राजनीति खूब हो रही है। गठबंधन को लेकर पिछले एक महीने में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राहुल गांधी चार बार गठबंधन को लेकर मना कर चुके हैं, लेकिन प्रदेश प्रभारी पीसी चाको अभी भी गठबंधन के लिए कोशिश में लगे हैं। इससे जहां चुनावों की तैयारियों में नुकसान हो रहा है, वहीं विपक्षी पार्टियों को भी हमला करने का मौका मिल रहा है।

गौरतलब है कि प्रदेश अध्यक्ष शीला दीक्षित और तीनों कार्यकारी अध्यक्ष की राहुल गांधी के साथ बैठक हुई थी, उसमें भी राहुल गांधी ने कह दिया था कि दिल्ली कांग्रेस अगर गठबंधन नहीं चाहती है तो गठबंधन नहीं होगा। उसके बाद भी गठबंधन की कोशिशों में प्रदेश प्रभारी लगे रहे। दूसरी बैठक सभी पूर्व प्रदेश अध्यक्षों, पूर्व स्पीकर योगानंद शास्त्री और प्रदेश प्रभारी पीसी चाको की राहुल गांधी के साथ हुई। ​बैठक के बाद शीला दीक्षित ने बयान भी दिया था कि दिल्ली में आप के साथ गठबंधन के पक्ष में राहुल गांधी भी नहीं है।

लेकिन गठबंधन की कवायदें उसकी बात भी जारी रही। जो कांग्रेसी गठबंधन चाहते थे, वह यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलने पहुंच गए। उसके बाद शीला दीक्षित की मुलाकात सोनिया गांधी से भी हुई। तीसरी बार राहुल गांधी ने आईजी स्टेडियम में आयोजित जनसभा में भी राहुल गांधी ने दावा किया था कि वह दिल्ली में सातों सीट जीतेंगे।

चौथी बार प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला के साथ प्रेस कांफ्रेंस करते हुए एक सवाल के जवाब में भी कहा था कि दिल्ली यूनिट आप से गठबंधन नहीं चाहती है। अब चार-चार बार राहुल गांधी के मना करने के बाद भी पीसी चाको गठबंधन की संभावनाओं में लगे हुए हैं। यहां तक की रोजाना ऐसा कोई न कोई शकूफा भी छोड़ा जा रहा है, जिससे गठबंधन की चर्चा मीडिया में बनी रही।