BREAKING NEWS

विश्व में कोरोना मामलों की संख्या 17.84 करोड़ से अधिक,मौत का आंकड़ा 38.6 लाख के पार ◾संयुक्त किसान मोर्चा ने किया ऐलान-अन्नदाता सीमा विरोध स्थलों पर 30 जून को 'हूल क्रांति दिवस' मनाएंगे◾जम्मू-कश्मीर के सोपोर में मुठभेड़ के दौरान सेना ने 3 आतंकवादियों को किया ढेर◾योग दिवस पर बोले PM मोदी- कोरोना महामारी के दौरान योग उम्मीद की एक किरण बना हुआ है ◾BJP ने आप पर साधा निशाना, कहा - वैक्सीनेशन पर ध्यान न देकर गुजरात और पंजाब के दौरे कर रहे केजरीवाल◾जम्मू कश्मीर के सोपोर इलाके में सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़◾WTC फाइनल (NZ vs IND) : डेवोन कॉनवे का अर्धशतक, न्यूजीलैंड के 2/101◾CM योगी आदित्यनाथ ने कोरोना संक्रमण के मद्देनजर अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस को घर पर ही मनाने की अपील की◾PM मोदी के साथ सर्वदलीय बैठक का न्योता मिलने के बाद कश्मीर की पार्टियों में मंथन का दौर◾फारूक अब्दुल्ला ने केंद्र के वार्ता के न्योते पर जम्मू के NC नेताओं को चर्चा के लिए श्रीनगर बुलाया◾सत्ता के नशे में चूर मोदी सरकार लोगों के प्रति अपनी जिम्मेदारी पूरी तरह भूल चुकी है : सुरजेवाला ◾UP सरकार ने तय किया हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा का परिणाम फार्मूला◾अनलॉक की ओर बढ़ रहा UP, लगभग दो महीने बाद खुलेंगे रेस्टोरेंट व मॉल, जानेें कहा और कितनी दी गई रियायत ◾भाजपा पर बरसे अखिलेश, बोले- संकीर्ण राजनीति के चलते कोविड-19 टीकाकरण अभियान की गति हुई धीमी ◾केंद्रीय एजेंसियां सता रही, विधायक की उद्धव से अपील, कहा- बहुत देर होने से पहले भाजपा के साथ मेलमिलाप करना ही ठीक रहेगा◾दिल्ली में बीते चार महीने में सबसे कम कोरोना के नए मामले आए सामने, संक्रमण दर अब 0.17 फीसदी◾WHO की अपील- कोरोना को दोबारा जोर पकड़ने से रोकने के लिए स्वास्थ्य ढांचे को मजबूत बनाएं देश◾पशुपति पारस को उनके ही संसदीय क्षेत्र में घेरने की तैयारी में जुटे चिराग, हाजीपुर से निकालेंगे 'संघर्ष यात्रा'◾राज्यों के पास 3.06 करोड़ से अधिक कोरोना टीके उपलब्ध, अब तक 27 करोड़ लोगों को लगी वैक्सीन ◾राम मंदिर जमीन मामले में रणदीप सुरजेवाला की मांग- सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में हो जांच◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

किसान नेता राकेश टिकैत बोले-सरकार को व्यापारी की चिंता ज्यादा, किसानों की कम

केंद्र सरकार द्वारा पिछले साल लाये गए कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली की सीमाओं पर किसानों का आंदोलन जारी है। इस बीच कानूनों को लेकर किसान नेताओं ने गांव-गांव जाकर बताना शुरू कर दिया है, यही कारण है कि लगातार देशभर के विभिन्न जगहों पर महापंचायत और कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। हालांकि किसान नेता राकेश टिकैत का कहना है कि सरकार को व्यापारों की चिंता ज्यादा और किसानों की कम है। 

हरियाणा के कुरुक्षेत्र के एक गांव में मंगलवार को एक कार्यक्रम किया जा रहा है जहां, भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत पहुंचे हुए हैं। राकेश टिकैत ने कहा कि, कुरुक्षेत्र मीटिंग में शामिल होने पहुंचा हुआ हूं। हम इन कानूनों के बारे में गांव गांव तक बात पहुंचाएंगे, क्योंकि इससे नुकसान तो किसानों को ही हो रहा है। जब तक ये बिल वापस नहीं होंगे तब तक इस तरह देश के गांव में महापंचायत होती रहेगी। हम एक दिन छोड़ के हर दिन पंचायत करेंगे। 

हालांकि सरकार और किसान संगठनों की 11 दौर की बातचीत हो चुकी है लेकिन अभी तक कोई नतीजा नहीं निकल सका है।  क्या बैठक का कोई संदेश आया है? इस सवाल के जवाब में टिकैत ने कहा कि, सरकार की तरफ से अभी तक कोई फोन नहीं आया है बातचीत करने के लिए, उन्हें व्यापारी की चिंता ज्यादा है किसानों की कम है। 

दरअसल दरअसल तीन नए अधिनियमित खेत कानूनों के खिलाफ किसान पिछले साल 26 नवंबर से राष्ट्रीय राजधानी की विभिन्न सीमाओं पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। किसान उत्पाद व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सुविधा) अधिनियम, 2020; मूल्य आश्वासन और कृषि सेवा अधिनियम 2020 और आवश्यक वस्तु (संशोधन) अधिनियम, 2020 पर किसान सशक्तिकरण और संरक्षण समझौता हेतु सरकार का विरोध कर रहे हैं । 

नीतीश कैबिनेट का विस्तार, शाहनवाज हुसैन ने बिहार के मंत्री के तौर पर ली शपथ