BREAKING NEWS

प्रधानमंत्री ने प्रदूषण की ‘आपात स्थिति’ पर मुख्यमंत्रियों के साथ कितनी बैठकें कीं?: कांग्रेस ◾दिल्ली में प्रदूषण से निपटने के लिए सभी एजेंसियों को साथ मिलकर काम करना होगा : जावड़ेकर ◾प्रदूषण पर संसदीय समिति की बैठक में नहीं आने पर गंभीर की सफाई◾महाराष्ट्र : चन्द्रकांत पाटिल बोले- भाजपा के पास 119 विधायकों का समर्थन, जल्दी ही सरकार बनाएंगे◾TOP 20 NEWS 15 NOV : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾प्रियंका गांधी बोली- भाजपा सरकार भी डींगें हांकने के लिए डाटा छिपाने में लगी है◾प्रदूषण को लेकर SC ने 4 राज्यों के चीफ सेक्रेटरी को किया तलब, कहा- ऑड-ईवन स्थायी समाधान नहीं◾INX मीडिया : दिल्ली हाई कोर्ट ने खारिज की चिदंबरम की जमानत याचिका ◾राहुल बोले- 'मोदीनॉमिक्स' ने इतना नुकसान कर दिया कि सरकार को अपनी रिपोर्ट छिपानी पड़ रही है◾शरद पवार बोले-शिवसेना, NCP और कांग्रेस की सरकार 5 साल का कार्यकाल पूरा करेगी◾ऑड-ईवन योजना की अवधि बढ़ाए जाने पर सोमवार को होगा फैसला : केजरीवाल◾NCP नेता नवाब मलिक बोले- शिवसेना को किया गया अपमानित, निश्चित रूप से CM उनका ही होगा◾SC ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में शिवकुमार की जमानत के खिलाफ ED की याचिका की खारिज◾5 साल की बात क्यों, हम चाहते हैं 25 साल रहे शिवसेना का CM : संजय राउत◾दिल्ली-NCR में आज भी प्रदूषण की स्थिति गंभीर, आसमान में छाई धुंध की चादर◾ऑड-ईवन योजना का अंतिम दिन आज, स्कीम को आगे बढ़ाने पर संशय बरकरार◾तीस हजारी कांड : पथराव करने वाले वकील ही थे, क्या गारंटी?◾INX मीडिया मामला: चिदंबरम की जमानत याचिका पर आज आ सकता है कोर्ट का फैसला◾महाराष्ट्र में शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस के गठबंधन के खिलाफ SC में याचिका दायर◾चीन के साथ 1962 के युद्ध ने विश्व मंच पर भारत की स्थिति को काफी नुकसान पहुंचाया : जयशंकर ◾

दिल्ली – एन. सी. आर.

रविदास मंदिर विवाद : केजरीवाल ने गेंद केंद्र के पाले में डाली

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बृहस्पतिवार को कहा कि वह तुगलकाबाद की उस जमीन के बदले 100 एकड़ वन भूमि देने को तैयार हैं जहां हाल तक संत रविदास मंदिर था। उन्होंने जोर दिया कि इस विवाद का हल केंद्र के पास है। 

केजरीवाल ने दिल्ली विधानसभा में कहा कि यह मुद्दा करोड़ों लोगों की भावनाओं से जुड़ा है और इस मामले को लेकर राजनीति नहीं की जानी चाहिए। 

उन्होंने कहा, ‘‘सभी को मंदिर निर्माण के लिए काम करना चाहिए। करीब 12-15 करोड़ लोग चाहते हैं कि केंद्र यह चार-पांच एकड़ भूमि मंदिर के लिए आवंटित करे।” 

उन्होंने कहा, ‘‘कुछ लोग इसे वन भूमि कहते हैं। यदि डीडीए (दिल्ली विकास प्राधिकरण) यह चार-पांच एकड़ जमीन रविदास समाज को दे देता है तो दिल्ली सरकार केंद्र को 100 एकड़ वन भूमि देगी। इसका समाधान केवल केंद्र के पास है।’’ 

मुख्यमंत्री के भाषण को बाधित करने को लेकर भाजपा विधायकों ओ पी शर्मा और विजेन्द्र गुप्ता को सदन से बाहर कर दिया गया।