BREAKING NEWS

ऑड-ईवन योजना की अवधि बढ़ाए जाने पर सोमवार को होगा फैसला : केजरीवाल◾NCP नेता नवाब मलिक बोले- शिवसेना को किया गया अपमानित, निश्चित रूप से CM उनका ही होगा◾SC ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में शिवकुमार की जमानत के खिलाफ ED की याचिका की खारिज◾5 साल की बात क्यों, हम चाहते हैं 25 साल रहे शिवसेना का CM : संजय राउत◾दिल्ली-NCR में आज भी प्रदूषण की स्थिति गंभीर, आसमान में छाई धुंध की चादर◾ऑड-ईवन योजना का अंतिम दिन आज, स्कीम को आगे बढ़ाने पर संशय बरकरार◾तीस हजारी कांड : पथराव करने वाले वकील ही थे, क्या गारंटी?◾INX मीडिया मामला: चिदंबरम की जमानत याचिका पर आज आ सकता है कोर्ट का फैसला◾महाराष्ट्र में शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस के गठबंधन के खिलाफ SC में याचिका दायर◾चीन के साथ 1962 के युद्ध ने विश्व मंच पर भारत की स्थिति को काफी नुकसान पहुंचाया : जयशंकर ◾झारखंड में रघुबर दास नहीं, मोदी-शाह करेंगे चुनाव प्रचार का नेतृत्व ◾भारत ने अयोध्या, कश्मीर पर पाकिस्तानी दुष्प्रचार का दिया करारा जवाब◾शी चिनफिंग और मोदी के बीच वार्ता ◾महाराष्ट्र में भाजपा-शिवसेना में विलगाव ने कांग्रेस-राकांपा को किया है एकजुट ◾गृहमंत्री अमित शाह शुक्रवार को जायेंगे सीआरपीएफ के मुख्यालय ◾झारखंड : भाजपा ने 15 उम्मीदवारों की तीसरी सूची जारी की ◾JNU में विवेकानंद की प्रतिमा के चबूतरे पर आपत्तिजनक संदेश◾राफेल की कीमत, ऑफसेट के भागीदारों के मुद्दों पर सरकार के निर्णय को न्यायालय ने सही करार दिया : सीतारमण ◾झारखंड चुनाव के पहले चरण के लिए कांग्रेस के 40 स्टार प्रचारकों की सूची जारी ◾आतंकवाद के कारण विश्व अर्थव्यवस्था को 1,000 अरब डॉलर का नुकसान : PM मोदी◾

दिल्ली – एन. सी. आर.

‘सरकारी वाहनों द्वारा नियमों की अनदेखी करना चिंता का विषय’

नई दिल्ली: लंबे समय से दिल्ली की सड़कों पर बिना उचित प्रदूषण नियंत्रण प्रमाण पत्र(पीयूसी) के चल रहे सरकारी वाहनों पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए नेता प्रतिपक्ष दिल्ली विधान सभा विजेन्द्र गुप्ता ने कहा है कि यह सिलसिला दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार तथा आम जनता के बीच बढ़ते हुए अविश्वास की ओर संकेत करता है। उन्होंने कहा कि इस समय जब शहर में प्रदूषण अपने चरम स्तर पर पहुंच गया है, सरकारी वाहनों द्वारा नियमों की अनदेखी करना गंभीर चिंता का विषय है और सरकार व दिल्ली के नागरिकों के बीच बढ़ते अविश्वास के और बढ़ने की और इशारा करता है।

विजेंद्र गुप्ता के मुताबिक, कुछ खबरों में देखा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री, पर्यावरण मंत्री सहित, सभी मंत्रियों की सरकारी गाड़ियां बिना प्रदूषण जांच प्रमाण पत्र के चल रही हैं। इन गाड़ियों में नेता विपक्ष व राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण के अध्यक्ष की गाड़ियां भी शामिल है। गुप्ता ने कहा कि दिल्ली की सडकों पर हजारों की संख्या में वाहन बिना प्रदूषण नियंत्रण जांच प्रमाणपत्र के चल रहे हैं। यह सुनिश्चित करने के लिए कि दिल्ली की सड़कों पर बिना प्रदूषण नियंत्रण प्रमाण पत्र वाले वाहन न चलें इसके लिए एक कुशल एवं प्रभावी व्यवस्था का होना अति आवशयक हो जाता है जिससे ये गाड़ियां दिल्ली की सड़कों पर प्रदूषण न फैलाएं।

अधिक लेटेस्ट खबरों के लिए यहां क्लिक  करें।