BREAKING NEWS

अयोध्या मामला : सुप्रीम कोर्ट ने ‘निर्वाणी अखाड़ा’ को लिखित नोट दाखिल करने की दी इजाजत ◾राज्यपाल सत्यपाल मलिक बोले- किसी भी आतंकवादी या नौकरशाह ने अपना बच्चा आतंकवाद में नहीं खोया◾PMC बैंक घोटाला : 24 अक्टूबर तक बढ़ी आरोपी राकेश वधावन और सारंग वधावन की हिरासत◾सोशल मीडिया अकाउंट को आधार से जोड़ने के सभी मामले सुप्रीम कोर्ट में ट्रांसफर◾मोदी से मिले नोबेल पुरस्कार विजेता अभिजीत बनर्जी, PM ने मुलाकात के बाद किया ये ट्वीट ◾J&K और लद्दाख के सरकारी कर्मचारियों को केंद्र का दिवाली तोहफा, 31 अक्टूबर से मिलेगा 7th पेय कमीशन का लाभ ◾राजनाथ सिंह बोले- नौसेना ने यह सुनिश्चित करने के लिए सतर्कता बरती कि 26/11 दोबारा न होने पाए◾राज्यपाल जगदीप धनखड़ का बयान, बोले-ऐसा लगता है कि पश्चिम बंगाल में किसी प्रकार की सेंसरशिप है◾भारतीय सेना ने पुंछ में LoC के पास मोर्टार के तीन गोलों को किया निष्क्रिय◾INX मीडिया भ्रष्टाचार मामले में पी.चिदंबरम को मिली जमानत◾गृहमंत्री अमित शाह का आज जन्मदिन, PM मोदी सहित कई नेताओं ने दी बधाई◾अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट करेगा तय, समझौता या फैसला !◾पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की बिगड़ी तबीयत, अस्पताल में भर्ती◾Exit Poll : महाराष्ट्र और हरियाणा में भाजपा की प्रचंड जीत के आसार◾अनुच्छेद 370 हटाने के भारत के उद्देश्य का करते हैं समर्थन, पर कश्मीर में हालात पर हैं चिंतित : अमेरिका◾चुनाव के बाद एग्जिट पोल के नतीजे, भाजपा ने राहुल को मारा ताना ◾पकिस्तान द्वारा डाक मेल सेवा पर रोक लगाने के लिए रवि शंकर प्रसाद ने की आलोचना ◾सम्राट नारुहितो के राज्याभिषेक समारोह में शामिल होने जापान पहुंचे राष्ट्रपति कोविंद ◾गृह मंत्री अमित शाह से मिले CM कमलनाथ, केंद्र से 6,600 करोड़ रुपये की सहायता मांगी ◾पाकिस्तान ने भारत के साथ डाक सेवा बंद की, भारत ने अंतरराष्ट्रीय नियमों का उल्लंघन बताया ◾

दिल्ली – एन. सी. आर.

गंगा की जिम्मेदारी हमारी तो यमुना की तुम्हारी : शेखावत

नई दिल्ली : नवंबर तक गंगा आचमन करने योग्य हो जाएगी। इसमें सीवर आदि का पानी बिल्कुल नहीं गिरेगा। हमारी कोशिश है कि गंगासागर तक पूरी गंगा साफ होनी चाहिए। उक्त बातें केन्द्रीय जलशक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने सोमवार को ओखला में जलबोर्ड द्वारा बनाये जा रहे देश के सबसे बड़े सीवर ट्रीटमेंट प्लांट (एसटीपी) के शिलान्यास अवसर पर कहीं। शेखावत ने कहा कि 1985 से गंगा की सफाई का काम हो रहा है लेकिन 2014 से पहले तक इसकी दशा में कोई परिवर्तन नहीं आया। 

क्योंकि इसकी हॉलिस्टिक एप्रोच सही नहीं थी। उन्होंने कहा कि केन्द्र में नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार बनने के बाद से गंगा, हिंडन, यमुना एवं इसकी सहायक नदियों की सफाई के लिए 28 हजार करोड़ रुपए दिए गए। केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि दिल्ली में यमुना का 22 किलोमीटर लंबा हिस्सा है, जिसकी सफाई के लिए औपचारिक तौर पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की जिम्मेदारी ज्यादा बनती हैं, हालांकि केन्द्र सरकार की ओर से उन्हें हर संभव मद्द दी जाएगी।

इस मौके पर मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में देश का सबसे बड़ा एसटीपी बनने जा रहा है। इसके लिए जलबोर्ड सहित दिल्ली के लोगों और सभी स्टेक होल्डर्स को बहुत-बहुत बधाई। उन्होंने कहा कि मुझे विश्वास है कि केन्द्र एवं दिल्ली सरकार मिलकर यमुना को जल्द साफ करने में कामयाब होंगे। केन्द्र सरकार इसके लिए 85 फीसदी फंडिंग दे रही है। उन्होंने कहा कि 10 दिनों में ये उनकी केन्द्रीय मंत्री से दूसरी मुलाकात है। प्राशासनिक तौर पर दिल्ली की स्थिति काफी पेचीदगी पूर्ण है लेकिन सभी एजेंसी मिलकर काम करें तो बदलाव जरूर आयेगा। 

सीएम ने कहा कि हम पानी की रिसाइकलिंग और रिचार्जिंग की दिशा में हम काम कर रहे हैं। अभी हम यमुना में पानी को रोकने के पायलट प्रोजेक्ट पर काम शुरू करने जा रहे हैं। इस प्रोजेक्ट के लिए भी हमें केन्द्र सरकार की तरह से बहुत सहयोग मिल रहा है। इसके अलावा हम कोरोनेशन प्लांट के एसटीपी का शोधित पानी पल्ला में छोड़ेंगे। इसके बाद पल्ला से 20 किमी दूर वजीराबाद में उस पानी को वापस निकालेंगे। इसके बाद इसे ट्रीट करके लोगों तक पहुंचाया जाएगा।

1160 करोड़ की लागत से 2022 तक बनकर होगा तैयार

1160 करोड़ की लागत से बनने वाले इस एसटीपी की क्षमता 564 एमएलडी होगी यानी यह प्लांट एक दिन में 56 करोड़ 40 लाख लीटर पानी का शोधन करेगा। यह प्लांट 2022 तक बनकर तैयार होगा, जिसमें केन्द्र जीका के माध्यम से 85 प्रतिशत और दिल्ली सरकार 15 प्रतिशत की राशि देगी। इस प्लांट की खासियत होगी यह पांच मेगावॉट बिजली भी बनाएगा।

हरियाणा को एसटीपी का पानी हमें पल्ला में पानी दे : सीएम

सीएम ने कहा कि यह एसटीपी रोजाना 56.4 करोड़ लीटर गंदे पानी को ट्रीट करेगा। लेकिन इस पानी के इस्तेमाल का अभी तक कोई प्लान नहीं बन सका है। हरियाणा के बॉर्डर वाले इलाकों में सिंचाई के लिए पानी की बहुत दिक्कत है। अगर हम इस पानी को हरियाणा को दे दें तो वहां ये सिंचाई के लिए इस्तेमाल होगा। बदले में इतना ही पानी हरियाणा हमें पल्ला में दे दे।

थोड़ा धन्यवाद हमें भी मिल जाता

शिलान्यास अवसर पर एक समय ऐसा भी आया जब मंच हंसी-ठहाकों से गूंज गया। दरअसल, अपने संबोधन के दौरान केन्द्रीय मंत्री शेखावत ने कहा कि इस प्लांट के शिलान्यास को लेकर कुछ पोस्टर लगे देखे थे जिनमें दिल्ली के सीएम धन्यवाद दे रहे हैं जबकि हमने भी इसके लिए 85 प्रतिशत धनराशि उपलब्ध करायी है। थोड़ा सा धन्यवाद हमें भी मिलना चाहिए था।