BREAKING NEWS

कोविड-19 से प्रभावित देशों की सूची में स्पेन को पीछे छोड़ भारत बना पांचवां सबसे प्रभावित देश ◾राज्यसभा चुनाव से पहले अपने विधायकों को बचाने में जुटी कांग्रेस, 65 MLA को अलग-अलग रिसॉर्ट में भेजा◾बीते 24 घंटों में महाराष्ट्र में कोविड-19 के 2,739 नये मामले ,संक्रमितों की कुल संख्या 83 हजार के करीब ◾बीते 24 घंटों में दिल्ली में कोरोना के 1320 नए मामले, कुल संक्रमितों का आंकड़ा 27 हजार के पार◾केजरीवाल सरकार ने सर गंगा राम अस्पताल के खिलाफ दर्ज कराई FIR, नियमों के उल्लंघन का लगाया आरोप◾पूर्वी लद्दाख गतिरोध - मोल्डो में खत्म हुई भारत और चीन सेना के बीच लेफ्टिनेंट जनरल स्तर की बातचीत◾UP : एक साथ 25 जिलों में पढ़ाने वाली फर्जी टीचर हुई गिरफ्तार , साल भर में लगाया 1 करोड़ का चूना◾केजरीवाल सरकार ने दिए निर्देश, कहा- बिना लक्षण वाले कोरोना मरीजों को 24 घंटे के अंदर अस्पताल से दें छुट्टी◾एकता कपूर की मुश्किलें बढ़ी, अश्लीलता फैलाने और राष्ट्रीय प्रतीकों के अपमान के आरोप में FIR दर्ज◾बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर अमित शाह कल करेंगे ऑनलाइन वर्चुअल रैली, सभी तैयारियां पूरी हुई ◾केजरीवाल ने दी निजी अस्पतालों को चेतावनी, कहा- राजनितिक पार्टियों के दम पर मरीजों के इलाज से न करें आनाकानी◾ED ऑफिस तक पहुंचा कोरोना, 5 अधिकारी कोविड-19 से संक्रमित पाए जाने के बाद 48 घंटो के लिए मुख्यालय सील ◾लद्दाख LAC विवाद : भारत-चीन सैन्य अधिकारियों के बीच बैठक जारी◾राहुल गांधी का केंद्र पर वार- लोगों को नकद सहयोग नहीं देकर अर्थव्यवस्था बर्बाद कर रही है सरकार◾वंदे भारत मिशन -3 के तहत अब तक 22000 टिकटों की हो चुकी है बुकिंग◾अमरनाथ यात्रा 21 जुलाई से होगी शुरू,15 दिनों तक जारी रहेगी यात्रा, भक्तों के लिए होगा आरती का लाइव टेलिकास्ट◾World Corona : वैश्विक महामारी से दुनियाभर में हाहाकार, संक्रमितों की संख्या 67 लाख के पार◾CM अमरिंदर सिंह ने केंद्र पर साधा निशाना,कहा- कोरोना संकट के बीच राज्यों को मदद देने में विफल रही है सरकार◾UP में कोरोना संक्रमितों की संख्या में सबसे बड़ा उछाल, पॉजिटिव मामलों का आंकड़ा दस हजार के करीब ◾कोरोना वायरस : देश में महामारी से संक्रमितों का आंकड़ा 2 लाख 36 हजार के पार, अब तक 6642 लोगों की मौत ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

JNU में बवाल, छात्र संघ अध्यक्ष समेत कई घायल, येचुरी बोले - इसके पीछे हिंदुत्व वादी ताकतों का हाथ

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के कई छात्र और शिक्षक रविवार को एक हिंसक हमले में गंभीर रुप से घायल हो गये जिनमें जेएनयू छात्र संघ की अध्यक्ष आईशी घोष और जेएनयू शिक्षक संघ से जुड़े कई नेता और छात्र शामिल हैं। 

जेएनयू की घटना के बाद जामिया का छात्र आईटीओ के लिए निकल पड़ा। 

मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के महासचिव सीताराम येचुरी ने इस घटना की निंदा की है और इसके पीछे हिंदुत्व वादी ताकतों का हाथ बताया हैं। श्री येचुरी ने आरोप लगाया कि प्रशासन और एबीवीपी की मिली भगत से यह सुनियोजित हमला हुआ। 

पुलिस बड़ी संख्या में जेएनयू परिसर और मुख्य द्वार पर खड़े है। 

जेएनयू शिक्षक संघ से जुड़े शिक्षक नेता अविनाश ने पत्रकारों को यह जानकारी देते हुये आरोप लगाया कि एबीवीपी के छात्रों ने उनकी बैठक पर आज बुरी तरह हमला किया जिसमें कई छात्र और शिक्षक घायल हो गए। 

इनमें छात्र संघ के अध्यक्ष आईशी घोष के अलावा श्री अतुल सूद सुचित्रा सेन गरिमा श्रीवास्तव भी शामिल है। सुश्री सेन को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान इलाज के लिए ले जाया गया है। शिक्षक नेता ने कहा, ‘‘हमला तब किया गया जब हम लोग परिसर के भीतर बैठक कर रहे थे।’’

शिक्षक नेता अविनाश ने आरोप लगाया कि विश्वविद्यालय के सुरक्षाकर्मी उन्हें बचाने नहीं आये। एबीवीपी के छात्र पुलिस के सामने लाठी, चाकू, डंडे,पत्थर आदि लेकर आये थे। शिक्षक संघ ने कल ही एक बयान जारी कर आरोप लगाया था कि प्रशासन न केवल परिसर में जारी हिंसा को रोकने में विफल है बल्कि उसके इशारे पर यह सब हो रहा है। छात्रों का आरोप है कि बाहर के कुछ लोगों ने चेहरा बांधकर छात्रों के साथ मारपीट की है। 

इस बीच जामिया कोर्डिनेशन कमेटी ने पुलिस मुख्यालय घेरने के आह्वान किया। घायल छात्रों और शिक्षकों को अस्पताल भेजने के लिए सात एम्बुलेंस भेजी गईं।

 

जामिया शिक्षक संघ ने आपात बैठक बुलाई है। 

पीएचडी के एक छात्र ने बताया कि करीब 200 लोगों के समूह ने जेएनयू परिसर में छत्रों और शिक्षकों पर हमला किया गया। इन लोगों ने हाथों में लाठी-डंडे और लोहे के रॉड थे। छात्र ने कहा कि उनका नाम नहीं छापा जाए वर्ना उनको निशाना बनाया जाएगा। 

उन्होंने कहा कि पुलिस की मिली भगत से इस हमले को अंजाम दिया गया है। छात्रों में दहशत का माहौल है। 

जामिया शिक्षक संघ के महासचिव प्रो. मजीद जमील ने जेएनयू हमले की कड़ी निंदा की है। उन्होंने कहा कि पुलिस जिस प्रकार मूक दर्शक बनी रही वह हैरान करने वाली है। नकाबपोश लोगों ने जेएनयू के छात्रों पर जिस प्रकार से हमले किये है उससे साफ पता चलता है कि किसी साजिश के तहत ऐसा किया गया है।