BREAKING NEWS

छत्तीसगढ़: CRPF ने नक्सल प्रभावित जिले में स्थापित किया शिविर◾बाल विवाह के खिलाफ असम में 4000 से ज्यादा मुकदमे, CM himant biswa लेंगे एक्शन◾रामचरितमानस विवाद: VHP की सपा व राजद की मान्यता रद्द करने की मांग, सीईसी से मिलने का समय मांगा◾कांग्रेस के नेतृत्व वाली विपक्षी दलों ने Adani group के मामले में JPC जांच की मांग की◾मनीष सिसोदिया ने कहा- LG वीके सक्सेना के दखल की वजह से दिल्ली सरकार शिक्षकों को प्रशिक्षण के लिए विदेश नहीं भेज पा रही◾पाकिस्तान में बलूचिस्तान के लासबेला में भूकंप के झटके महसूस किए गए◾बिहार में बड़ा रेल हादसा : दो हिस्सों में बटी सत्याग्रह एक्सप्रेस, बाल-बाल बचे यात्री◾अडानी पर हमलावर हुआ विपक्ष, पवन खेड़ा ने कहा- PM मोदी ने एक गुब्बारा फुलाया और वो फुस्स हो गया◾ईंट निर्माता संघ ने उठाया बड़ा कदम, बिहार के 450 सरकारी विद्यालयों में लड़कियों के लिए बनवाएगा शौचालय◾CM शिवराज ने दिया संकेत, केंद्रीय बजट की तर्ज पर बनेगा मध्य प्रदेश का बजट◾पाकिस्तान: इमरान समर्थकों के खिलाफ कार्रवाई तेज, पूर्व मंत्री शेख राशिद गिरफ्तार◾AAP ने LG सक्सेना पर टीचर्स को विदेश भेजने से रोकने का लगाया आरोप, कहा- फाइल अक्टूबर से पड़ी है पेंडिंग ◾Iran ने ड्रोन हमले के लिए इजराइल को जिम्मेदार ठहराया, जवाबी कार्रवाई की धमकी दी◾Budget 2023: वित्त मंत्री ने किया ऐलान, कहा- सिगरेट, सोना-चांदी महंगा, मोबाइल पार्ट्स-LED टीवी होंगे सस्ते ◾ममता बनर्जी बोलीं- भाजपा कुछ नेताओं के फायदे के लिए LIC, राष्ट्रीयकृत बैंकों के पैसे का कर रही इस्तेमाल ◾उत्तर प्रदेश : रामपुर में निर्वस्त्र महिला ने फैलाया खौफ, रातभर जागने पर मजबूर हुए लोग, जांच में जुटी पुलिस◾मनीष के साथ भागी मुस्लिम युवती...परिवार ने लगाए गंभीर आरोप, लड़की ने वीडियो जारी कर पलटवार किया ◾अखिलेश यादव को मुरादाबाद में Plane Landing की नहीं मिली अनुमति, सपा ने कहा- बेहद निंदनीय एवं अलोकतांत्रिक कृत्य◾प्रयागराज पहुंचे धीरेंद्र शास्त्री , बागेश्वर धाम में करेंगे 121 कन्याओं का विवाह ◾बलात्कार के आरोपी आसाराम को एक और मामले में उम्र कैद, जानें उस रात की पुरी कहानी◾

संजय सिंह ने अर्धसैनिक बलों की पेंशन बहाल करने की मांग को लेकर राज्यसभा में बहस का दिया नोटिस

आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने अर्धसैनिक बलों के जवानों की पेंशन सहित अन्य सुविधाओं को बहाल करने की मांग करते हुए राज्यसभा में बहस का नोटिस दिया है। इस मुद्दे पर जल्द बहस करने की मांग भी की गई है। 

संजय सिंह ने अपने नोटिस में कहा है कि देश में 10 लाख से अधिक अर्धसैनिक बलों के जवान काम कर रहे हैं।  ये जवान सीमा सुरक्षा के साथ साथ बाढ़, प्राकृतिक आपदा, साम्प्रदायिक दंगों और चुनाव तक में अपनी जान की फिक्र किए बिना देश के नागरिकों की सुरक्षा करते हैं। 

यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि सरकार आर्मी और अर्धसैनिक बलों में भेदभाव कर रही है-संजय 

संजय सिंह ने मांग की है कि 2004 के बाद के जवानों की पेंशन बंद करने, कैंटीन की सुविधा पर जीएसटी लगाने, वन रैंक वन पेंशन का लाभ सातवें वेतन आयोग की तर्ज पर लागू ना होने, जवानों के बच्चों को उत्तम शिक्षण संस्थानों की कमी और जूनियर अधिकारियों को ठीक से पदोन्नति और वेतन लाभ ना मिलना शामिल है।

इस मुद्दे पर व्यापक चर्चा होना जरूरी-संजय 

नोटिस में ये भी कहा गया है कि आर्मी के जवानों को ये सभी सुविधाएं मिलती हैं, लेकिन अर्धसैनिक बल के जवान इससे अछूते हैं। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि सरकार आर्मी और अर्धसैनिक बलों में भेदभाव कर रही है। उन्हें शहीद का दर्जा तक नहीं दिया जाता। संजय सिंह ने कहा कि इस मुद्दे पर व्यापक चर्चा होना जरूरी है। ऐसे में नियम 267 के तहत उन्होंने राज्यसभा के सभापति से अनुरोध करते हुए कहा है, कि अन्य कार्यो को स्थगित कर इस गंभीर और संवेदनशील मुद्दे पर सदन में चर्चा कराई जाए।

क्रिकेट में पहली बार राष्ट्रमंडल खेलों का पदक हमेशा विशेष रहेगा : PM मोदी