BREAKING NEWS

PNB धोखाधड़ी मामला: इंटरपोल ने नीरव मोदी के भाई के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस फिर से किया सार्वजनिक ◾कोरोना संकट के बीच, देश में दो महीने बाद फिर से शुरू हुई घरेलू उड़ानें, पहले ही दिन 630 उड़ानें कैंसिल◾देशभर में लॉकडाउन के दौरान सादगी से मनाई गयी ईद, लोगों ने घरों में ही अदा की नमाज ◾उत्तर भारत के कई हिस्सों में 28 मई के बाद लू से मिल सकती है राहत, 29-30 मई को आंधी-बारिश की संभावना ◾महाराष्ट्र पुलिस पर वैश्विक महामारी का प्रकोप जारी, अब तक 18 की मौत, संक्रमितों की संख्या 1800 के पार ◾दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर किया गया सील, सिर्फ पास वालों को ही मिलेगी प्रवेश की अनुमति◾दिल्ली में कोविड-19 से अब तक 276 लोगों की मौत, संक्रमित मामले 14 हजार के पार◾3000 की बजाए 15000 एग्जाम सेंटर में एग्जाम देंगे 10वीं और 12वीं के छात्र : रमेश पोखरियाल ◾राज ठाकरे का CM योगी पर पलटवार, कहा- राज्य सरकार की अनुमति के बगैर प्रवासियों को नहीं देंगे महाराष्ट्र में प्रवेश◾राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने हॉकी लीजेंड पद्मश्री बलबीर सिंह सीनियर के निधन पर शोक व्यक्त किया ◾CM केजरीवाल बोले- दिल्ली में लॉकडाउन में ढील के बाद बढ़े कोरोना के मामले, लेकिन चिंता की बात नहीं ◾अखबार के पहले पन्ने पर छापे गए 1,000 कोरोना मृतकों के नाम, खबर वायरल होते ही मचा हड़कंप ◾महाराष्ट्र : ठाकरे सरकार के एक और वरिष्ठ मंत्री का कोविड-19 टेस्ट पॉजिटिव◾10 दिनों बाद एयर इंडिया की फ्लाइट में नहीं होगी मिडिल सीट की बुकिंग : सुप्रीम कोर्ट◾2 महीने बाद देश में दोबारा शुरू हुई घरेलू उड़ानें, कई फ्लाइट कैंसल होने से परेशान हुए यात्री◾हॉकी लीजेंड और पद्मश्री से सम्मानित बलबीर सिंह सीनियर का 96 साल की उम्र में निधन◾Covid-19 : दुनियाभर में संक्रमितों का आंकड़ा 54 लाख के पार, अब तक 3 लाख 45 हजार लोगों ने गंवाई जान ◾देश में कोरोना से अब तक 4000 से अधिक लोगों की मौत, संक्रमितों का आंकड़ा 1 लाख 39 हजार के करीब ◾पीएम मोदी ने सभी को दी ईद उल फितर की बधाई, सभी के स्वस्थ और समृद्ध रहने की कामना की ◾केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा- निजामुद्दीन मरकज की घटना से संक्रमण के मामलों में हुई वृद्धि, देश को लगा बड़ा झटका ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

छत से कूदी छात्रा, रीढ़ की हड्डी टूटी स्कूल ने दो घंटे तक बैठाए रखा

नई दिल्ली : शिक्षा और इंफ्रास्ट्रक्चर में रिफॉर्म के लिए चर्चा में आए दिल्ली के सरकारी स्कूल अब दुर्घटना संभावित क्षेत्र बनते जा रहे हैं। स्कूलों पर ऐसा ग्रहण लगा है कि आए दिन बच्चों के साथ दुर्घटनाओं के मामले सामने आ रहे हैं। ताजा मामला सर्वोदय कन्या विद्यालय दयानंद रोड, दरियागंज का है। 

यहां नौवीं कक्षा की एक छात्रा द्वारा स्कूल की छत से छलांग लगाने का मामला सामने आया है। घटना गुरुवार दोपहर की है। छत से कूदने के कारण छात्रा की रीड हड्डी टूटने की खबर भी सामने आ रही है। मामले में स्कूल प्रशासन अपनी जिम्मेदारी से बचता नजर आ रहा है। वहीं बदनामी के डर से मामले के पुलिस तक पहुंचने से बचाया जा रहा है। सूत्रों के मुताबिक पीड़ित छात्रा अनाथ है और डिप्रेशन की बीमारी से जूझ रही है। 

छात्रा अंसारी रोड स्थित एक आश्रम में रहती है। जानकारी के मुताबिक घटना के बाद पीसीआर (पुलिस कंट्रोल रूम) को कॉल की गई। पुिलस सूत्रों के मुतािबक छात्रा के सीिढ़यों से गिरने की बात सामने आ रही है। इस मामले में जब जिला उप शिक्षा निदेशक (डीडीई) रजनी रावल से फोन पर बात की गई तो उन्होंने शिक्षा निदेशक से बात करने के लिए कहा और फोन काट दिया। वहीं स्कूल प्रबंधन भी इस मामले में बोलने से गुरेज कर रहा है।

क्या है पूरा मामला 

सूत्रों के मुताबिक गुरुवार को कक्षा नौवीं बी की छात्रा सब्जेक्ट टीचर के कहने पर लाइब्रेरी में एक पुस्तक लेने गई थी। पुस्तक को लेकर छात्रा की लाइब्रेरियन के साथ बहसबाजी हो गई और गुस्से में छात्रा ने लाइब्रेरियन को धक्का दे दिया। इसके बाद लगभग 1.30 बजे उसने खुद को टॉयलेट में बंद कर लिया। 

करीब दो घंटे बाद एक लेडी सफाई कर्मचारी ने उसे बाहर निकाला। पर छात्रा का गुस्सा ठंडा नहीं हुआ था और वह टॉयलेट से सीधा स्कूल की छत पर पहुंच गई। छात्रा छत पर खड़ी थी और नीचे खड़ा टीचिंग और नॉन टीचिंग स्टाफ उसे पीछे हटने के लिए कह रहा था। पर छात्रा ने उनकी एक न सुनी और छत से कूद गई। एक मंजिल से गिरने के कारण छात्रा की रीड की हड्डी टूट गई। 

हैरत की बात है कि घटना के बाद घायल छात्रा को अस्पताल ले जाने के बजाए बदनामी के डर से स्कूल प्रशासन ने उसे स्कूल परिसर में ही बैठाए रखा। फिर बाद में उसे कश्मीरी गेट स्थित ट्रोमा सेंटर ले जाया गया।

मामले में बोलने को लेकर जिला डीडीई ने चेताया

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक घटना की जानकारी मिलने पर लगभग दोपहर 3.30 बजे सेंट्रल डिस्ट्रिक्ट की उप शिक्षा निदेशक(डीडीई) रजनी रावल स्कूल पहुंचीं। उनके पहुंचने तक छात्रा को स्कूल में ही बैठाए रखा गया, जबकि उस समय उसे उपचार की जरूरत थी। 

जानकारी के मुताबिक स्कूल पहुंचने के बाद रजनी रावल ने स्कूल के सभी स्टाफ को इस मामले में बोलने को लेकर चेताया है। उन्होंने कहा कि स्कूल की कोई भी खबर बाहर नहीं जानी चाहिए।