BREAKING NEWS

केजरीवाल ने BJP पर साधा निशाना - बिजली सब्सिडी खत्म कर देगी भाजपा◾महाराष्ट्र, हरियाणा विधानसभा चुनाव के लिए मतदान आज , देशभर में 51 विधानसभा सीटों के लिए भी उपचुनाव◾पोस्ट पेमेंट बैंक ने चुनौतियों को अवसर में बदला : PM मोदी ◾प्याज के मुद्दे पर भाजपा का केजरीवाल पर हमला, मुख्यमंत्री आवास का होगा घेराव◾सीमा पार तीन आतंकी शिविर ध्वस्त किये गए, 6-10 पाक सैनिक ढेर : सेना प्रमुख ◾PoK में भारतीय सेना की बड़ी कार्रवाई : सेना ने LoC पार जैश, हिजबुल के 35 आतंकी मार गिराए◾30 अक्टूबर को जामिया के दीक्षांत समारोह में राष्ट्रपति कोविंद होंगे मुख्य अतिथि◾महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए कल होगा मतदान, BJP लगातार दूसरे कार्यकाल की कोशिश में ◾वैश्विक आर्थिक जोखिमों के कारण बहुपक्षीय सहयोग को मजबूत करने की जरूरत : सीतारमण ◾मनमोहन सिंह करतारपुर गलियारे के औपचारिक उद्घाटन में नहीं होंगे शामिल : सूत्र◾TOP 20 NEWS 20 October : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾भारत की तरफ से गोलीबारी में हमारे 4 जवान शहीद, हमने भारतीय सेना के 9 सैनिकों को मार गिराया : PAK◾कमलेश तिवारी हत्याकांड: योगी से मिले परिजन, पत्नी बोली- CM ने हर संभव कार्रवाई का दिया आश्‍वासन◾भारतीय सेना ने PoK में तबाह किए आतंकी कैंप, 5 पाकिस्तानी सैनिक ढेर◾अभिजीत बनर्जी को लेकर BJP पर राहुल ने साधा निशाना, कहा- ये बड़े लोग नफरत से अंधे हो गए है◾अभिजीत बनर्जी के नोबेल पुरस्कार को राजनीतिक चश्मे से न देखा जाए : मायावती◾क्रिप्टोकरेंसी को लेकर सतर्कता बरत रहे हैं देश : निर्मला सीतारमण◾पाकिस्तान ने किया संषर्ष विराम का उल्लंघन, 2 सैनिक शहीद, 1 नागरिक की मौत◾तुर्की ने कश्मीर मुद्दे पर पाकिस्तान का दिया साथ, PM मोदी ने रद्द की यात्रा ◾ओवैसी बोले- एक दिन में 15 बोतल किया रक्तदान, हुए ट्रोल◾

दिल्ली – एन. सी. आर.

दुष्कर्म पीड़िता को एडमिशन न देने के मामले में नया मोड़

देहरादून : देहरादून के बोर्डिंग स्कूल में छात्रा संग गैंगरेप के बाद अन्य स्कूल में एडमिशन न देने मामले में अब नया मोड़ आ गया है। दुष्कर्म पीड़िता के अभिभावकों ने कहा है कि उन्हें संबंधित स्कूल के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं चाहिए। अभिभावकों की ओर से अधिवक्ता ने आरोप लगाया था कि उसे इसलिए एडमिशन नहीं दिया गया, क्योंकि वह दुष्कर्म पीड़िता है। राजधानी के भाऊवाला स्थित एक बोर्डिंग स्कूल में दुष्कर्म का शिकार हुई बच्ची के एडमिशन के मामले में नया मोड़ आ गया है।

दरअसल, पीड़िता की अधिवक्ता अरुणा नेगी चौहान ने आरोप लगाया था कि पीड़िता को गढ़ी कैंट स्थित एक स्कूल ने इसलिए दाखिले से इंकार कर दिया क्योंकि वह पीड़िता है। इस पर सीबीएसई ने भी स्कूल से जवाब मांग था। दूसरी ओर, अभिभावकों ने सीबीएसई को पत्र भेजा है। पत्र में उन्होंने कहा है कि उन्हें स्कूल पर कोई कार्रवाई नहीं करानी है।

उनका कहना है कि वह किसी भी तरह का विवाद नहीं चाहते हैं। मामले में गढ़ी कैंट स्थित स्कूल के प्रिंसिपल डीके शिमाल का कहना है कि उन्होंने पीड़िता को एडमिशन से मना नहीं किया था। उन्होंने बताया कि छात्रा के एडमिशन के लिए कुछ जरूरी कागजात की सीबीएसई से जरूरत थी, जिसकी मांग की गई थी। उन्होंने कहा कि एडमिशन न देने के आरोप पूरी तरह से निराधार हैं।

राजस्थान : दुष्कर्म से बचने के लिए युवती ने चार मंजिला इमारत से लगाई छलांग