दिल्ली कांग्रेस की नवनियुक्त अध्यक्ष शीला दीक्षित ने शुक्रवार को पार्टी के तीनों कार्यकारी अध्यक्षों के साथ बैठक की जिसमें राष्ट्रीय राजधानी में पार्टी संगठन को मजबूत बनाने पर चर्चा की गई।

सूत्रों के मुताबिक नियुक्ति के बाद दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के नवनियुक्त चारों शीर्ष पदाधिकारियों की पहली आधिकारिक बैठक में पार्टी की मौजूदा स्थिति, चुनौतियों और आगे के संभावित कार्यक्रमों के बारे में बातचीत की गई। वैसे, शीला और तीनों कार्यकारी अध्यक्ष 16 जनवरी को पदभार ग्रहण करेंगे।

बैठक के बारे में पूछे जाने पर कार्यकारी अध्यक्ष राजेश लिलोठिया ने कहा, ‘‘बैठक के विवरण के बारे में मैं खुलासा नहीं कर सकता। यह कह सकते हैं कि हमें संगठन को मजबूत बनाने पर जोर देना है। शीला जी के अनुभवी नेतृत्व में हम पार्टी को फिर से मजबूत बनाने के लिए काम करेंगे।’’

जो गाय के नाम पर वोट मांगते हैं, उन्हें चारा भी देना चाहिए – केजरीवाल

फिलहाल यह जानकारी नहीं मिल पाई है कि इस बैठक में आम आदमी पार्टी के साथ गठबंधन को लेकर चल रही अटकलों पर चर्चा हुई या नहीं। वैसे, सूत्रों का कहना है कि शीला दीक्षित गठबंधन के पक्ष में नजर नहीं आ रही हैं और इस बारे में कोई भी फैसला कांग्रेस के राष्ट्रीय नेतृत्व के ऊपर छोड़ने के मूड में हैं।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के अनुभव पर भरोसा जताते हुए बृहस्पतिवार को उन्हें दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी का अध्यक्ष नियुक्त किया । इसके साथ ही देवेन्द्र यादव, हारून यूसुफ और राजेश लिलोठिया को कार्यकारी अध्यक्ष बनाया गया है।