BREAKING NEWS

हाई कमान से मुलाकात के बाद बोले पायलट: पद की कोई लालसा नहीं, समस्या का जल्द समाधान जल्द हो◾वेंटिलेटर सपोर्ट पर पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, सफलतापूर्वक हुई मस्तिष्क की सर्जरी हुई ◾महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के 9,181 नये मामले सामने आये ,293 और लोगों की मौत◾केरल : बारिश थमने से कुछ राहत, इडुक्की में भूस्खलन में मरने वालों की संख्या बढ़कर 49 हुई◾पायलट मामले के समाधान के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने तीन सदस्यीय समिति गठित की ◾दिल्ली में बीते 24 घंटे में कोरोना के 707 नए मामलों की पुष्टि, संक्रमितों का आंकड़ा 1.46 लाख के पार◾संजय राउत के बयान को लेकर मानहानि का मामला दर्ज कराएंगे सुशांत सिंह राजपूत के परिजन ◾लीग चेयरमैन बृजेश पटेल ने दी जानकारी - यूएई में आईपीएल के लिये सरकार से मंजूरी मिली◾शाह फैसल ने जेकेपीएम के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया, प्रशासनिक सेवा में लौटने की अटकलें जारी◾सुशांत सिंह राजपूत केस में SC पहुंची रिया चक्रवर्ती, कहा - मीडिया साबित करना चाहता है 'मैं दोषी हूं'◾विधानसभा सत्र से पहले पायलट ने राहुल और प्रियंका से की मुलाकात, घर वापसी की अटकलें तेज◾कोविड-19 : देश में रिकवरी दर 69 फीसदी के पार, मृत्यु दर घटकर दो प्रतिशत के करीब ◾पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी कोरोना पॉजिटिव, ट्वीट कर दी जानकारी ◾इस स्वतंत्रता दिवस पर वाजपेयी का रिकॉर्ड तोड़ेंगे PM मोदी, 7वीं बार लाल किले से फहराएंगे तिरंगा◾आप्टिकल फाइबर परियोजना के उद्घाटन पर बोले पीएम मोदी- यह प्रोजेक्ट अंडमान-निकोबार को दुनिया से जोड़ेगा ◾मणिपुर में आज बीरेन सिंह सरकार का बहुमत परीक्षण, कांग्रेस-BJP ने विधायकों को जारी किया व्हिप◾कोरोना वायरस : देश में पिछले 24 घंटे में एक हजार से अधिक लोगों की मौत, संक्रमितों का आंकड़ा 22 लाख के पार ◾देश में संसाधनों की लूट को रोकने के लिए EIA 2020 का मसौदा वापस ले सरकार : राहुल गांधी◾World Corona : विश्व में संक्रमितों का आंकड़ा 1 करोड़ 97 लाख के पार, 7 लाख 29 हजार की मौत ◾जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों के हमले में घायल भाजपा नेता ने इलाज के दौरान तोड़ा दम◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

एटीएम में लगाती थीं स्किमिंग डिवाइस

नई दिल्ली : उत्तरी जिला पुलिस ने एटीएम में स्किमिंग डिवाइस लगाकर डेबिट कार्ड्स की क्लोनिंग करने वाले रोमानिया (विदेशी) गैंग का पर्दाफाश किया है। पुलिस ने इस विदेशी गैंग की दो युवतियों समेत पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों की पहचान कॉस्टैच ईरिना (26), कैरागिका एलिसाबेथा (33), लवतारु ईओन (38), दुमित्री निकोली (36) और निस्टोरी लिली (36) के रूप में हुई है। आरोपियों के पास से 102 क्लोनिंग प्लास्टिक कार्ड्स, चार फोन, एक लैपटॉप, पासवर्ड रिकॉर्ड करने में इस्तेमाल कैमरा व मैमोरी बरामद हुई है।

डीसीपी नूपुर प्रसाद ने बताया कि दिल्ली में पिछले कुछ महीनों से एटीएम क्लोन कार्ड द्वारा ठगी की शिकायतें मिल रही थीं। सदर बाजार थाने में करीब तीन महीने पूर्व ऐसा ही एक कैस दर्ज हुआ था। एसीपी सदर बाजार राम मेहर सिंह के नेतृत्व में एसएचओ सदर बजार सुरेंद्र सिंह यादव की टीम जांच में जुट गई। पुलिस को एटीएम बूथ से एक फुटेज मिली।

जिसमें नकाबपोश दो महिलाएं नजर आईं, जो एटीएम मशीन में स्किमिंग डिवाइस लगाकर चली गईं। पुलिस को मालूम था कि इस गैंग के सदस्य मशीन को निकालने आएंगे। पुलिस ने एटीएम के पास जाल बिछा दिया। जैसे ही विदेशी महिलाएं स्किमिंग डिवाइस निकालने पहुंची एसआई आशीष, एसआई प्रकाश और कॉन्स्टेबल दलीप, सीमा आदि ने आरोपियों को दबोच लिया। उनकी निशानदेही पर अन्य तीन पुरुष साथियों को भी पकड़ लिया। इनकी गिरफ्तारी के बाद ठगी के सात मामले सुलझा लिए गए हैं।

पुलिस की माने तो यह गैंग लाजपत नगर, मालवीय नगर, करोलबाग, राजेंद्र नगर में भी वारदातों को अंजाम दे चुके हैं। पुलिस दिल्ली भर में ऐसे लोगों को रिकॉर्ड खंगाल रही है, जिनके पास एटीएम कार्ड होते हुए भी खाते से रुपए निकल गए। फिलहाल पुलिस ने आरोपियों को कोर्ट में पेश कर तिहाड़ भेज दिया है।

रोमानिया : गरीब अमीर होने आए दिल्ली दिल्ली में डेबिट-क्रेडिट कार्ड का क्लोन बनाकर ठगी की वारदातों को अंजाम देने वाला रोमानिया गैंग गरीब तबके का है। उन्होंने अमीर होने के लिए यूके से ऑनलाइन स्किमिंग मशीन खरीदी थी। जिसके बाद अमीर होने के लिए दिल्ली आ गए। यह गैंग अक्टूबर 2018 से दिल्ली में एक्टिव था। आशंका है कि यह गैंग अब तक एक हजार से अधिक लोगों को अपना शिकार बनाकर एक करोड़ से अधिक की ठगी कर चुका है।

इन्होंने दिल्ली आकर कितनी तेजी से रुपया बनाया, इस बात का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि गरीब होने के बवजूद ये लोग दिसंबर 2018 में आस्ट्रेलिया के टूर पर गए थे। इन्होंने दिल्ली में और तेजी से लूट मचाने के लिए अपने दो और साथियों को दिल्ली बुला लिया। यह गैंग पुलिस से बचने के लिए दिल्ली में ठिकाने बदलता रहता है।

ऐसे देते थे अंजाम कोई भी जल्दी से महिलाओं पर शक नहीं करता। इसीलिए गैंग की महिलाएं मुंह पर नकाब लगाकर एटीएम बूथ में जातीं और एटीएम कार्ड लगाने वाली जगह पर स्किमिंग मशीन फिट कर देतीं। इसके अलावा एक माइक्रो स्पाई कैमरा डिस्प्ले के ऊपर फिट कर देतीं। इस तरह उन्हें पास वर्ड का भी पता चल जाता था।

पहले भी पकड़ा गैंग इस गिरोह ने तीन महीने पहले सदर बाजार इलाके में ठगी की एक वारदात की थी। तब एटीएम बूथ से पुलिस को सीसीटीवी फुटेज मिली। पुलिस उस समय का सारा मोबाइल डंप डाटा निकाला। पुलिस को संदिग्धों को पता चल गया। उससे पहले की पुलिस उन्हें पकड़ने पहुंचती। गैंग के सदस्य दिसंबर में आॅस्ट्रेलिया चले गए।

- वसीम सैफी