BREAKING NEWS

जामिया हिंसा मामले में पुलिस ने दायर की चार्जशीट, कुल 17 लोगों की हुई गिरफ्तारी◾उत्तर प्रदेश : योगी सरकार ने 5 लाख 12 हजार करोड़ का बजट किया पेश, जानें क्या रहा खास◾CAA-NRC दोनों अलग, किसी को चिंता करने की जरूरत नहीं : उद्धव ठाकरे◾संजय सिंह का बड़ा बयान, बोले-अमित शाह के तहत बिगड़ रही है कानून और व्यवस्था की स्थिति ◾बिहार : प्रशांत किशोर बोले- नीतीश कुमार मेरे पिता के समान◾लापता नहीं हुआ आतंकी मसूद अजहर, कड़ी सुरक्षा के बीच परिवार के साथ पाक में ही छिपा बैठा है◾विदेश मंत्री जयशंकर ने यूरोपीय संघ के नेताओं से की मुलाकात, विभिन्न मुद्दों पर की बात◾कोरोना वायरस से चीन में 1,868 लोगों की मौत, लगातार बढ़ रही मरने वालों की संख्या ◾मुख्यमंत्री केजरीवाल बोले- दिल्ली में जल्द ही दूर होगी बसों की कमी◾स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी को बोला-'बेगानी शादी में अब्दुल्ला दीवाना'◾केंद्र सरकार को कम से कम अब हमसे बात करनी चाहिए: शाहीन बाग प्रदर्शनकारी ◾केजरीवाल ने जल विभाग सत्येंन्द्र जैन को दिया, राय को मिला पर्यावरण विभाग ◾कश्मीर पर टिप्पणी करने वाली ब्रिटिश सांसद का भारत ने किया वीजा रद्द, दुबई लौटा दिया गया◾हर्षवर्धन ने वुहान से लाए गए भारतीयों से की मुलाकात, आईटीबीपी के शिविर से 200 लोगों को मिली छुट्टी ◾ जामिया प्रदर्शन: अदालत ने शरजील इमाम को एक दिन की पुलिस हिरासत में भेजा ◾दिल्ली सरकार होली के बाद अपना बजट पेश करेगी : सिसोदिया ◾झारखंड विकास मोर्चा का भाजपा में विलय मरांडी का पुनः गृह प्रवेश : अमित शाह ◾दोषियों के खिलाफ नए डेथ वारंट पर निर्भया की मां ने कहा - उम्मीद है आदेश का पालन होगा ◾सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन राजनीतिक दुर्भावना से प्रेरित : रविशंकर प्रसाद ◾शाहीन बाग पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा - प्रदर्शन करने का हक़ है पर दूसरों के लिए परेशानी पैदा करके नहीं ◾

दिल्ली में वायु गुणवत्ता पर असर डालने वाले पदूषकों की पहचान के लिए होगा अध्ययन

दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति (डीपीसीसी) दिल्ली एनसीआर में प्रदूषण में उतार-चढ़ाव की निगरानी तथा विशिष्ट प्रदूषकों की पहचान के लिए एक जाने माने थिंक टैंक के साथ मिलकर प्रयोग के तौर पर एक अध्ययन करेगी ताकि प्रदूषण में आकस्मिक वृद्धि की स्थिति में जरुरी उपाय तैयार किया जा सके।

सेंटर फॉर साइंस एंड इनवायरोनमेंट (सीएसई) के उपमहानिदेशक चंद्रभूषण ने बताया कि दिल्ली-एनसीआर में परिवेशी वायु स्रोत अनुपात अध्ययन में जापानी उपकरण कंपनी होरिबा द्वारा प्रदत्त उपकरण का इस्तेमाल किया जाएगा । यह उपकरण राष्ट्रीय राजधानी में प्रदूषण स्तर की समयोचित निगरानी कर सकता है।

इस अध्ययन का उद्देश्य दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण के विभिन्न स्रोतों की पहचान करना और उच्च प्रदूषण संभावित चुनिंदा स्थलों पर स्रोतों के उदगम का ब्योरा जुटाना है।

पीयूष गोयल को वित्त, कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया

चंद्र भूषण ने कहा, ‘‘तीन महीने के इस अध्ययन के दौरान दिल्ली एनसीआर के विभिन्न स्थानों के मूलाधार आंकड़े जुटाये जाएंगे। इसकी स्वतंत्र अध्ययन की योजना तैयार की गयी है जिसमें एक्सआरएफ और बीटा रे शमन प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल किया जाएगा।’’

उन्होंने कहा कि प्रदूषण के विभिन्न स्रोतों के मूलाधारों का पता चलने के बाद समय से उनका विश्लेषण हो पाएगा और नियमाकों को शीघ्र ही सुधार के उपाय करने में मदद मिलेगी।

उन्होंने कहा, ‘‘प्रदूषण की स्थिर निगरानी से काम नहीं चलेगा। हमें यथाशीघ्र कदम उठाने के लिए गतिशील निगरानी की जरुरत है।’’

डीपीसीसी के वायु गुणवत्ता संभाग के प्रमुख मोहन जी जॉर्ज ने कहा कि प्रदूषण स्तर में आकस्मिक वृद्धि के बारे में भिन्न भिन्न समझ है और इस अध्ययन से उसकी हमारी समझ सुधरेगी।

उन्होंने कहा, ‘‘हमें आशा है कि उसकी समझ में सुधार आने से अनुक्रमित जवाबी कार्ययोजना को और प्रभावी तरीके से लागू करना संभव होगा। ’’