BREAKING NEWS

शिवसेना नागरिकता संशोधन विधेयक का करेगी समर्थन: संजय राउत ◾हैदराबाद एनकाउंटर मामले पर बुधवार को सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट◾कर्नाटक उपचुनाव : कांग्रेस नेता शिवकुमार ने मानी हार, बोले-लोगों ने दलबदलुओं को किया स्वीकार◾विभाजनकारी चालक के साथ कैब की सवारी है ‘कैब’ विधेयक: कपिल सिब्बल ◾शिवसेना ने केंद्र पर लगाया हिंदुओं-मुसलमानों का ‘अदृश्य विभाजन’ करने का आरोप◾कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का जन्मदिन आज, PM मोदी समेत कई नेताओं ने दी बधाई◾दिल्ली: अनाज मंडी में 24 घंटे बाद फिर लगी इमारत में आग, मौके पर पहुंची दमकल की गाड़ियां◾कर्नाटक उपचुनाव : येदियुरप्पा का दावा- भाजपा जीतेगी 15 में से 13 सीटें◾कर्नाटक उपचुनाव : मतगणना जारी, परिणाम तय करेंगे BJP का भविष्य ◾असम में नागरिकता संशोधन विधेयक के खिलाफ 16 संगठनों का मंगलवार को बंद का आह्वान ◾दिल्ली : आग की त्रासदी के बाद अस्पताल में भयावह दास्तां ◾दिल्ली अग्निकांड : दमकलकर्मी ने इमारत में फंसे 11 लोगों को बचाया ◾दिल्ली अग्निकांड : इमारत का पिछले हफ्ते हुआ था सर्वेक्षण, ऊपरी मंजिलों पर ताला लगा हुआ था - अधिकारिक सूत्र◾नागरिकता संशोधन विधेयक सोमवार को लोकसभा में पेश करेंगे शाह◾प्रियंका गांधी वाड्रा ने UP में त्वरित सुनवायी अदालत के गठन में देरी पर सवाल उठाया ◾भाजपा ने अपने सांसदों के लिए व्हिप किया जारी , 11 दिसंबर तक सदन में रहें मौजूद ◾तिरुवनंतपुरम टी-20 : शिवम के अर्धशतक पर भारी सिमंस की पारी, विंडीज ने की बराबरी◾मोदी ने पूर्वोत्तर राज्यों, जम्मू-कश्मीर व लद्दाख को सर्वोच्च प्राथमिकता दी : जितेंद्र सिंह ◾PM मोदी ने महिलाओं को सुरक्षित महसूस कराने में प्रभावी पुलिसिंग की भूमिका पर जोर दिया ◾भाजपा 2022 के मुंबई नगर निकाय चुनाव अकेले लड़ेगी ◾

दिल्ली – एन. सी. आर.

सुप्रीम कोर्ट का निर्णय पूरी मानवता के लिए है : डॉ. हर्षवर्धन

 harsh vardhan

नई दिल्ली : राम जन्मभूमि पर सर्वोच्च न्यायालय का फैसला किसी समाज विशेष का नहीं बल्कि पूरी मानवता के लिए है। उक्त बातें कहते हुए शनिवार को प्रथम विश्व संस्कृत सम्मेलन में केन्द्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने विश्व हिन्दू परिषद् (विहिप) के पूर्व संरक्षक और दिवंगत नेता अशोक सिंहल को भी याद किया। 

देश-दुनिया में संस्कृत को जनभाषा बनाने के लिए प्रयासरत राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की संस्था ‘संस्कृत भारती’ द्वारा छतरपुर मंदिर परिसर में आयोजित प्रथम विश्व सम्मेलन के उद्घाटन कार्यक्रम में डॉ. हर्षवर्धन के अलावा केन्द्रीय राज्यमंत्री प्रताप सारंगी, विभिन्न विश्वविद्यालयों के कुलपति, आचार्य, अध्यापक सहित अनेक गणमान्य लोग उपस्थित रहे। 

संस्कृत संवर्धन प्रतिष्ठान के शैक्षणिक निदेशक प्रो. चांद किरण सलूजा ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का संदेश पढ़ा। जिसमें प्रधानमंत्री ने विश्व में संस्कृत का दायरा बढ़ने पर प्रसन्नता जतायी। डॉ. हर्षवर्धन ने सर्वोच्च न्यायालय के फैसले का स्वागत करते हुए यह भी कहा कि अशोक सिंहल अयोध्या में राममंदिर निर्माण के लिए होने वाले तमाम आंदोलनों के मुख्य कर्ताधर्ता थे।