BREAKING NEWS

केंद्र सरकार को कम से कम अब हमसे बात करनी चाहिए: शाहीन बाग प्रदर्शनकारी ◾केजरीवाल ने जल विभाग सत्येंन्द्र जैन को दिया, राय को मिला पर्यावरण विभाग ◾कश्मीर पर टिप्पणी करने वाली ब्रिटिश सांसद का भारत ने किया वीजा रद्द, दुबई लौटा दिया गया◾हर्षवर्धन ने वुहान से लाए गए भारतीयों से की मुलाकात, आईटीबीपी के शिविर से 200 लोगों को मिली छुट्टी ◾ जामिया प्रदर्शन: अदालत ने शरजील इमाम को एक दिन की पुलिस हिरासत में भेजा ◾दिल्ली सरकार होली के बाद अपना बजट पेश करेगी : सिसोदिया ◾झारखंड विकास मोर्चा का भाजपा में विलय मरांडी का पुनः गृह प्रवेश : अमित शाह ◾दोषियों के खिलाफ नए डेथ वारंट पर निर्भया की मां ने कहा - उम्मीद है आदेश का पालन होगा ◾TOP 20 NEWS 17 February : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन राजनीतिक दुर्भावना से प्रेरित : रविशंकर प्रसाद ◾शाहीन बाग पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा - प्रदर्शन करने का हक़ है पर दूसरों के लिए परेशानी पैदा करके नहीं ◾निर्भया मामले में कोर्ट ने जारी किया नया डेथ वारंट , 3 मार्च को दी जाएगी फांसी◾महिला सैन्य अधिकारियों पर कोर्ट का फैसला केंद्र सरकार को करारा जवाब : प्रियंका गांधी वाड्रा◾शाहीन बाग : प्रदर्शनकारियों से बात करने के लिए SC ने नियुक्त किए वार्ताकार◾सड़क पर उतरने वाले बयान पर कायम हैं सिंधिया, कही ये बात ◾गार्गी कॉलेज मामले में जांच की मांग वाली याचिका पर कोर्ट ने केन्द्र और CBI को जारी किया नोटिस◾SC ने दिल्ली HC के फैसले पर लगाई मोहर, सेना में महिला अधिकारियों को मिलेगा स्थाई कमीशन◾निर्भया मामले को लेकर आज कोर्ट में सुनवाई, जारी हो सकता है नया डेथ वारंट◾शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों को हटाने के लिए निर्देशों की मांग करने वाली याचिकाओं पर SC में सुनवाई आज ◾केजरीवाल की तारीफ पर आपस में भिड़े कांग्रेस नेता देवरा - माकन, अलका लांबा ने भी कस दिया तंज ◾

जेएनयू में शांति बहाल के लिए शिक्षकों का धरना, छात्रों ने की हूटिंग

नई दिल्ली : जेएनयू में छात्रावास के नए नियमों और फीस वृद्धि के खिलाफ लगातार विद्यार्थियों का धरना-प्रदर्शन जारी है। इसी क्रम में जेएनयू शिक्षक महासंघ (जेएनयूटीएफ) ने सोमवार सुबह जेएनयू में शांति और अकादमिक माहौल बहाल करने की अपील को लेकर एक दिवसीय धरने का आयोजन किया। 

इस दौरान करीब सौ से ज्यादा शिक्षकों ने कैंपस में मार्च भी निकाला। दरअसल जेएनयूटीएफ ने विद्यार्थी और शिक्षकों से सेमेस्टर परीक्षा के सफल आयोजन में सहयोग की अपील की है। हालांकि इस दौरान शिक्षकों को विद्यार्थियों के एक हुजूम के विरोध का भी सामना करना पड़ा।

क्या कहना है महासंघ का... जेएनयू में 12 दिसम्बर से सेमेस्टर परीक्षाएं शुरू होने वाली हैं। ऐसे में परीक्षाओं में शामिल होने को लेकर छात्रों के बीच असमंजस की स्थिति बनी हुई है। जेएनयूटीएफ ने छात्रों की इसी दुविधा के मद्देनजर जेएनयू प्रशासन से परीक्षा के सुचारू संचालन के लिए अनुकूल और शांतिपूर्ण वातावरण मुहैया कराने की अपील की है। 

महासंघ का कहना है कि यह सभी छात्रों के करियर के लिए आवश्यक है। संस्कृत के प्रोफेसर ब्रजेश पांडेय ने आरोप लगाया कि वामपंथी छात्रों के एक गुट ने उनके धरना को बाधित करने का प्रयास किया। इस दौरान शिक्षकों को हूटिंग करते हुए अपशब्द भी कहे गए।