BREAKING NEWS

Covid-19 : महाराष्ट्र में कोरोना से अबतक 19 की मौत, कुल पॉजिटिव मामले 416◾राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर 170 से अधिक FIR दर्ज - DP◾सोनिया ने लॉकडाउन पर उठाए सवाल तो भड़की BJP, शाह- नड्डा ने किया पलटवार◾मजनू का टीला गुरुद्वारे में रूके थे 225 लोग, गुरुद्वारे के प्रबंधकों पर पुलिस ने किया मामला दर्ज ◾कोरोना संकट : पीएम मोदी कल सुबह 9 बजे वीडियो जारी कर देशवासियों को देंगे संदेश◾24 घंटे में कोरोना के 328 नए मामले आए सामने, तबलीगी जमात से जुड़े 9000 लोगों को किया गया क्वारंटाइन : स्वास्थ्य मंत्रालय◾FIR दर्ज होते ही बदले मौलाना साद के तेवर, समर्थकों से की सरकार का सहयोग करने की अपील◾PM मोदी के साथ मीटिंग के बाद अरुणाचल प्रदेश CM बोले- लॉकडाउन समाप्त होने के बाद भी बरतें सावधानी◾सभी मुख्यमंत्रियों को PM मोदी का आश्वासन - कोरोना संकट को लेकर हर राज्य के साथ खड़ी है केंद्र सरकार◾इंदौर में स्वास्थ्य कर्मियों पर हमला करने के मामले में 4 लोग गिरफ्तार, कई अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज◾देश में कोरोना से मरने वालों की संख्या हुई 50, संक्रमित लोगों की संख्या में हुआ इजाफा ◾महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के तीन और मामले सामने आए, कुल संख्या 338 पर पहुंची ◾कोरोना वायरस : दुनिया भर में 925,132 लोगों में संक्रमण की पुष्टि, 46,291 लोगों की अब तक मौत◾पद्म श्री से सम्मानित स्वर्ण मंदिर के पूर्व ‘हजूरी रागी’ की कोरोना वायरस के कारण मौत ◾मध्य प्रदेश में कोरोना के 12 नए पॉजिटिव केस आए सामने, संक्रमितों की संख्या हुई 98 ◾कोविड-19 के प्रकोप को देखते हुए PM मोदी आज राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ करेंगे चर्चा ◾Coronavirus : अमेरिका में कोविड -19 से छह सप्ताह के शिशु की हुई मौत◾कोविड-19 : संक्रमण मामलों में एक दिन में दर्ज की गई सर्वाधिक बढ़ोतरी, संक्रमितों की संख्या 1,834 और मृतकों की संख्या 41 हुई◾ट्रंप ने दी ईरान को चेतावनी, कहा- अमेरिकी सैनिकों पर हमला किया तो चुकानी पड़ेगी भारी कीमत ◾NIA करेगी काबुल गुरुद्वारे हमले की जांच, एजेंसी ने किया पहली बार विदेश में मामला दर्ज ◾

देश भर में घुसपैठियों को चुन-चुन कर निकालने का काम भाजपा सरकार करने वाली है : शाह 

शिवपुरी (मध्यप्रदेश) : असम सहित देश में घुसपैठियों के खिलाफ की जा रही कार्रवाई को लेकर कांग्रेस सहित अन्य विपक्षी दलों पर वोट बैंक की राजनीति करने का आरोप लगाते हुए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने मंगलवार को कहा कि वर्ष 2018-19 में होने वाले चुनाव जीतने के बाद देश भर में घुसपैठियों को चुन-चुन कर निकालने का काम भाजपा सरकार करने वाली है। भाजपा को देश की सुरक्षा सुनिश्चित करने एवं भारतीयों के अधिकारों का पक्षधर बताते हुए शाह ने यहां पोलो ग्राउंड में ग्वालियर एवं चंबल संभाग के नौ जिलों के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘अभी असम में हमारी सरकार राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) लेकर आई, जो घुसपैठियों की पहचान करता है। आप मुझे बताओ देश में से घुसपैठियों को निकालना चाहिये या नहीं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘वर्ष 1970 से हम मांग कर रहे हैं कि घुसपैठिये निकालने चाहिये। जब एनआरसी लेकर आये, 40 लाख लोग प्रथम सूची में चिन्हित हो गये। उनको निकालने का रास्ता धीरे-धीरे आगे बढ़ रहा है।’’ कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर तंज कसते हुए शाह ने कहा, ‘‘कांग्रेस के राहुल बाबा एंड कंपनी पूरी संसद के अंदर हाय तौबा मचा रही है। मार डाला, क्यों निकाल रहे हो, क्या खायेंगे, इनके मानवाधिकार का क्या होगा। जैसे उनकी नानी मर गई हो।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैं राहुल बाबा एंड कंपनी, सपा, बसपा एवं तृणमूल कांग्रेस को पूछना चाहता हूं कि आपको इनके मानवाधिकार का ख्याल है। ये घुसपैठिये देश में बम धमाके करते हैं। मेरे देश के निर्दोष लोगों की हत्याएं इन्होंने की। उनके मानवाधिकार का विचार आपको नहीं है। मेरे देश के बेरोजगाकर युवा का रोजगार ये घुसपैठिये ले जाते हैं।’’

शाह ने कहा, ‘‘आपको (राहुल) घुसपैठिये में वोट बैंक की चिंता लगती है। मगर राहुल बाबा जितनी हाय तौबा करनी है कर लो। मैं कहता हूं वर्ष 2018-19 में चुनाव जीतने के बाद भाजपा सरकार देश भर में घुसपैठियों को चुन-चुन कर निकालने का काम भाजपा सरकार करने वाली है। आप उन्हें रोक नहीं सकते।’’ राहुल पर हमला जारी रखते हुए उन्होंने कहा, ‘‘आपके (कांग्रेस) शासन के अंदर देश में करोड़ों घुसपैठिये घुस गये, जो देश को दीमक की तरफ चाट गये। ये ज्यादा नहीं चलेगा।’’ उन्होंने कहा, ‘‘भाजपा का शासन है कश्मीर से कन्याकुमारी तक, गुजरात से असम तक। घुसपैठियों को चुन-चुन कर बाहर निकालने का काम भाजपा करेगी।’’ शाह ने कार्यकर्ताओं से सवाल किया, ‘‘मित्रों, ये करना चाहिये या नहीं।’’ इस पर जवाब देते हुए वहां मौजूद कार्यकर्ताओं ने कहा, ‘‘हां’’। शाह ने कहा कि कांग्रेस को अपने वचन याद नहीं रहते हैं । भारतीय सेना का जवान 70 साल से ‘वन रैंक, वन पेंशन’ (ओआरओपी) की मांग करता था। भाजपा सरकार में आने के बाद एक ही साल में सेना के जवानों को 10,000 करोड़ रुपये का ओआरओपी दे दिया।