BREAKING NEWS

दिल्ली : सरिता विहार और जसोला में शाहीन बाग प्रदर्शन के खिलाफ सड़कों पर उतरे लोग◾पहले शाहीन बाग, फिर जाफराबाद और अब चांद बाग में CAA के खिलाफ धरने पर बैठे प्रदर्शनकारी ◾ट्रम्प की भारत यात्रा पहले से मोदी ने किया ट्वीट, लिखा- अमेरिकी राष्ट्रपति का स्वागत करने के लिए उत्साहित है भारत◾सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फैसलों ने देश के कानूनी और संवैधानिक ढांचे को किया मजबूत : राष्ट्रपति कोविंद ◾Coronavirus के प्रकोप से चीन में मरने वालों की संख्या बढ़कर 2400 पार ◾शाहीन बाग प्रदर्शन को लेकर वार्ताकार ने SC में दायर किया हलफनामा, धरने को बताया शांतिपूर्ण◾मन की बात में बोले PM मोदी- देश की बेटियां नकारात्मक बंधनों को तोड़ बढ़ रही हैं आगे◾बिहार में बेरोजगारी हटाओ यात्रा के खिलाफ लगे पोस्टर, लिखा-हाइटैक बस तैयार, अतिपिछड़ा शिकार◾भारत दौरे से पहले दिखा राष्ट्रपति ट्रंप का बाहुबली अवतार, शेयर किया Video◾CAA के विरोध में दिल्ली के जाफराबाद में प्रदर्शन जारी, भारी संख्या में पुलिस बल तैनात ◾जाफराबाद में CAA के खिलाफ प्रदर्शन को लेकर कपिल मिश्रा का ट्वीट, लिखा-मोदी जी ने सही कहा था◾US में निवेश कर रहे भारतीय निवेशकों से मुलाकात करेंगे Trump◾कांग्रेस नेता शत्रुघ्न सिन्हा ने पाक राष्ट्रपति आरिफ अल्वी से की मुलाकात◾J&K के तीन पूर्व मुख्यमंत्रियों की जल्द रिहाई के लिए प्रार्थना करता हूं : राजनाथ सिंह◾1 मार्च से नहीं मिलेंगे 2000 रुपये के नोट, इस सरकारी बैंक ने लिया बड़ा फैसला !◾इलाहाबाद रेलवे डिवीजन हुआ प्रयागराज रेलवे डिवीजन ◾GSI ने सोनभद्र को लेकर किया खुलासा , कहा - 3 हजार टन नहीं, 160 किलो सोना निकलने की संभावना◾कांग्रेस के शीर्ष नेता, पार्टी का बड़ा वर्ग चाहता है कि राहुल फिर बनें अध्यक्ष : सलमान खुर्शीद◾मायावती ने Modi सरकार पर बोला हमला, कहा - आरक्षण को ‘धीमी मौत’ दे रही है BJP◾देश के 20 राज्यों में AAP पार्टी शुरू करेगी राष्ट्र निर्माण अभियान◾

अदालत ने आजाद की जमानत शर्तों में बदलाव कर चिकित्सा, चुनावी कारणों से दिल्ली आने की इजाजत दी

दिल्ली की एक अदालत ने पिछले महीने यहां जामा मस्जिद में सीएए विरोधी प्रदर्शन के दौरान ‘‘भड़काऊ बयान’’ देने के आरोपी, भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद को मंगलवार को चिकित्सा और चुनाव के उद्देश्य से दिल्ली आने की इजाजत देते हुए उनसे कहा कि दिल्ली पुलिस को अपने यात्रा कार्यक्रम की जानकारी दें। 

अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश कामिनी लाउ ने आजाद की जमानत के आदेश में बदलाव करते हुए यह निर्देश दिये। उन्होंने आजाद को निर्देश दिया कि वह उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में फतेहपुर पुलिस थाने के प्रभारी के पास चार हफ्ते तक हर शनिवार तथा हर महीने के आखिरी शनिवार अपनी हाजिरी दर्ज करवाएं। 

अदालत ने कहा, ‘‘अगर वह दिल्ली में हैं तो अपने कार्यक्रम के बारे में नयी दिल्ली की अपराध शाखा के पुलिस उपायुक्त को जानकारी दें और अपनी हाजिरी लगवाएं। अगर वह कहीं और हैं तो उन्हें नयी दिल्ली में अपराध शाखा के उपायुक्त को अपने पते के बारे में बताना चाहिए।’’ 

अदालत ने कहा, ‘‘वह अपने इलाज के लिये और चुनाव या किसी और उद्देश्य से दिल्ली जा सकते हैं, लेकिन उन्हें अपने कार्यक्रम के बारे में अपराध शाखा के पुलिस उपायुक्त को जानकारी देनी होगी। वह दिल्ली में अदालत को बताए गए अपने दोस्त के पते पर भी रह सकते हैं।’’ 

उनके खिलाफ 20 दिसंबर को दरियागंज इलाके में हुए प्रदर्शन के दौरान हिंसा के सिलसिले में मामला दर्ज किया गया था। अदालत आजाद द्वारा दायर उस याचिका पर सुनवाई कर रही थी जिसमें उन्होंने अपने जमानत आदेश की शर्तों में संशोधन का अनुरोध किया था। 

याचिका में कहा गया था कि भीम आर्मी प्रमुख का राष्ट्रीय राजधानी में एक दफ्तर है जहां वह सामाजिक कार्यों के लिये साप्ताहिक बैठकें करते हैं। 

अदालत ने कहा, ‘‘चुनाव लोकतंत्र का सबसे बड़ा उत्सव हैं। हर किसी को इसमें शामिल होने का अधिकार है और वास्तव में हम अधिकाधिक भागीदारी का आह्वान करते हैं। लेकिन जहां तक चुनाव में भागीदारी का सवाल है, दूसरे के अधिकारों का उल्लंघन नहीं होना चाहिए। लोकतंत्र छलावा नहीं हो सकता। अगर (जमानत) शर्तें चुनावों में आजाद की भागीदारी में आड़े आती हैं तब उन पर लगाई गई पाबंदियों में बदलाव होना चाहिए।’’ 

अदालत ने पूर्व में जमानत देते हुए आजाद के चार हफ्तों तक दिल्ली आने और चुनावों तक राष्ट्रीय राजधानी में कोई ‘‘धरना’’ देने पर रोक लगा दी थी।