BREAKING NEWS

देश में कोरोना केस 96 लाख के करीब, अब तक 90 लाख से अधिक लोगों ने महामारी को दी मात ◾हैदराबाद में GHMC चुनाव की मतगणना जारी, प्रचार अभियान में BJP ने झोंक दी थी पूरी ताकत◾TOP 5 NEWS 04 DECEMBER : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें ◾दुनियाभर में कोरोना महामारी का हाहाकार, संक्रमितों का आंकड़ा साढ़े 6 करोड़ के पार ◾आज का राशिफल ( 4 दिसंबर 2020 )◾अगले सप्ताह सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात जा सकते हैं सेना प्रमुख जनरल नरवणे ◾PM मोदी IIT 2020 वैश्विक शिखर सम्मेलन को करेंगे संबोधित◾अमरिंदर ने शाह से मुलाकात की : केंद्र किसानों से जल्द गतिरोध समाप्त करने की अपील की◾कृषि कानूनों के विरोध में प्रकाश सिंह बादल ने लौटाया पद्म विभूषण ◾SC ने कोरोना के आंकड़ों की दोबारा जांच के तरीके के बारे में केजरीवाल सरकार से मांगी जानकारी◾दिल्ली में 24 घण्टे में संक्रमण के 3734 नए मामले आये सामने, 82 लोगों की मौत◾साढ़े सात घंटे तक चली किसानों और सरकार के बीच बैठक बेनतीजा, अब 5 दिसंबर को अगली वार्ता ◾गृह मंत्री बासवराज बोम्मई का ऐलान, कहा- लव जिहाद के खिलाफ कर्नाटक में भी लागू होगा कानून ◾किसान आंदोलन: आपस में उलझे CM अमरिंदर और केजरीवाल, कैप्टन को बताया 'मोदी भक्त' ◾नए कृषि कानूनों के विरोध में राज्यसभा सांसद सुखदेव ढींढसा ने भी लौटाया पद्मभूषण◾CM ममता की केंद्र को चेतावनी, 'कृषि कानूनों को वापस नहीं लिया गया तो देशव्यापी विरोध प्रदर्शन होगा शुरू'◾मीटिंग के दौरान किसानों ने सरकार के लंच को ठुकराया, लंगर से मंगा कर जमीन पर बैठ कर किया भोजन ◾गुजरात में मास्क न पहनने वालों की कोविड सेंटर पर ड्यूटी लगाने के निर्देश पर सुप्रीम कोर्ट की रोक ◾इंटरपोल की चेतावनी - अपराधी गिरोह कोविड-19 का नकली टीका बेच सकते हैं, रहें सावधान ◾अंतिम दौर में कोरोना वैक्सीन का ट्रायल, अगले महीने तक भारत को भी मिलेगा टीका : रणदीप सिंह गुलेरिया◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

दिल्ली प्रदूषण के लिए SC ने पराली के साथ सड़कों पर चलती महंगी गाड़ियों को भी बताया जिम्मेदार

केंद्र सरकार द्वारा सुप्रीम कोर्ट को सूचित किया गया कि वह प्रदूषण पर नियंत्रण के लिए अध्यादेश लाई है और इस अध्यादेश को जारी भी कर दिया गया है। दरअसल, मुख्य न्यायाधीश एस ए बोबडे की पीठ को वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से सुनवाई के दौरान सॉलिसीटर जनरल तुषार मेहता ने इस अध्यादेश के बारे में जानकारी दी। 

सुप्रीम कोर्ट की तरफ से कहा गया है कि दिल्ली के पड़ोसी राज्यों में पराली जलाने की वजह से हो रहे वायु प्रदूषण का मुद्दा उठाये जाने के मामले में कोई निर्देश देने से पहले वह अध्यादेश देखना चाहेगी। कोर्ट ने कहा कि विशेषज्ञों का कहना है कि दिल्ली में प्रदूषण के लिए पराली का जलना ही जिम्मेदार नहीं हैं, आपकी खूबसूरत बड़ी कारें भी प्रदूषण करती हैं। 

इसके आगे कोर्ट ने कहा कि 26 अक्तूबर को दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण के प्रमुख कारक पराली जलाए जाने की रोकथाम के लिए पड़ोसी राज्यों द्वारा उठाए गए कदमों की निगरानी को लेकर सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश मदन बी लोकुर की अध्यक्षता में एक सदस्यीय समिति नियुक्त करने का अपना 16 अक्टूबर का आदेश निलंबित कर दिया था।

बता दें कि कोर्ट ने 16 अक्टूबर को दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण की तेजी से बिगड़ रही स्थिति पर चिंता व्यक्त की थी और न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) मदन लोकुर की एक सदस्यीय समिति नियुक्त की थी, जिसे पड़ोसी राज्यों में पराली जलाने की रोकथाम के लिए उठाए गए कदमों की निगरानी करनी थी। कोर्ट ने उस दिन केंद्र, उत्तर प्रदेश और हरियाणा की आपत्तियों को दरकिनार कर दिया था।