BREAKING NEWS

लोकसभा में साध्वी प्रज्ञा के शपथ लेने के दौरान विपक्ष ने किया हंगामा ◾ममता बनर्जी और डॉक्टरों की बैठक को कवर करने के लिए 2 क्षेत्रीय न्यूज चैनलों को मिली अनुमति◾बिहार : बच्चों की मौत मामले में हर्षवर्धन और मंगल पांडेय के खिलाफ मामला दर्ज◾वायनाड से निर्वाचित हुए राहुल गांधी ने ली लोकसभा सदस्यता की शपथ◾सलमान को झूठा शपथपत्र पेश करने के केस में राहत, कोर्ट ने राज्य सरकार की अर्जी खारिज की◾भागवत ने ममता पर साधा निशाना, कहा-सत्ता के लिए छटपटाहट के कारण हो रही है हिंसा ◾लोकसभा में स्मृति ईरानी के शपथ लेने पर सोनिया गांधी समेत कई विपक्षी नेताओं ने किया अभिनंदन ◾डॉक्टरों और ममता बनर्जी के बीच प्रस्तावित बैठक को लेकर संशय◾डॉक्टरों की देशभर में प्रदर्शन, महाराष्ट्र में 40,000 डॉक्टर हड़ताल पर ◾डॉक्टरों की सुरक्षा की मांग वाली याचिका पर सुनवाई कल : सुप्रीम कोर्ट ◾17वीं लोकसभा का पहला सत्र प्रारंभ, PM मोदी सहित नवनिर्वाचित सांसदों ने ली शपथ ◾संसदीय लोकतंत्र में सक्रिय विपक्ष महत्वपूर्ण, संख्या को लेकर परेशान होने की जरूरत नहीं : PM मोदी ◾वर्ल्ड कप में भारत की पाकिस्तान पर सबसे बड़ी जीत, लगा बधाईयों का तांता, अमित शाह ने बताया एक और स्ट्राइक ◾IMA की हड़ताल में शामिल होंगे दिल्ली के अस्पताल, AIIMS ने किया किनारा ◾ममता आज सचिवालय में जूनियर डॉक्टरों से करेंगी बैठक◾विश्व कप 2019 Ind vs Pak : भारत ने पाकिस्तान को डकवर्थ लुइस नियम के तहत 89 रन से रौंदा◾IMA के आह्वान पर सोमवार को दिल्ली के कई अस्पतालों में नहीं होगा काम ◾सभी वर्गों को भरोसे में लेकर करेंगे सबका विकास : PM मोदी◾PM मोदी ने आतंकवाद के खिलाफ कूटनीतिक और रणनीतिक रिवायत को बदला : जितेन्द्र सिंह◾प्रणव मुखर्जी से मिले नीतीश कुमार◾

दिल्ली – एन. सी. आर.

दिल्ली में ‘सरकार’ का प्रदर्शन कई पैमानों पर खरा नहीं उतरता : सर्वेक्षण

दिल्ली में यातायात जाम, प्रदूषण और रोजगार के बेहतर मौके देने पर ‘सरकार’ का प्रदर्शन औसत से नीचे है। एक एनजीओ ने अपने सर्वेक्षण में यह बात कही है। ‘एसोसिएशन ऑफ डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स’ (एडीआर) ने लोकसभा चुनाव से पहले अक्टूबर से दिसंबर 2018 के बीच तीन चीजों की पहचान करने के लिए मतदाता सर्वेक्षण किया गया है, जिनमें शासन के विशेष मुद्दों पर मतदाताओं की प्राथमिकता, इन मुद्दों पर सरकार के प्रदर्शन पर मतदाताओं की रेटिंग तथा मतदान व्यवहार को प्रभावित करने वाले कारक शामिल हैं।

इस सर्वेक्षण में राष्ट्रीय राजधानी की सभी सात लोकसभा सीटों पर करीब 3,500 लोगों से बात की गई। एनजीओ के एक प्रतिनिधि के मुताबिक, सर्वेक्षण के लिए शामिल किए गए सवाल ‘किसी खास सरकार से संबंधित’ नहीं थे। मतदाताओं की तीन शीर्ष प्राथमिकताओं में ‘सरकार’ का प्रदर्शन ‘औसत से कम’ है। इन तीन शीर्ष प्राथमिकताओं में यातायात जाम (पांच के पैमाने पर 2.27 रेटिंग मिली), पानी और वायु प्रदूषण (2.29) और रोजगार के बेहतर मौके (2.29) शामिल हैं।

सर्वेक्षण के मुताबिक, शहरी दिल्ली में महिला सशक्तिकरण और सुरक्षा (1.85) और ध्वनि प्रदूषण पर ‘सरकार’ का प्रदर्शन खराब रहा।बहरहाल, पेय जल और परिवहन सुविधाएं मुहैया कराने पर ‘सरकार’ को तीन से ज्यादा रेटिंग मिली है। वहीं ग्रामीण मतदाताओं की प्राथमिकताओं में कृषि उपज का अधिक मूल्य मिलना, रोजगार के बेहतर मौके, कृषि के लिए बिजली देना हैं। इन पर भी ‘सरकार’ का प्रदर्शन औसत से कम है।

 सर्वेक्षण में बताया गया है कि चुनाव में किसी उम्मीदवार को वोट देने के सवाल पर 84 फीसदी लोगों ने कहा कि मतदान करने में उनकी अपनी राय अहमियत रखती है, जबकि सात प्रतिशत ने कहा कि उनके परिवार की राय मायने रखती है, वहीं पांच प्रतिशत लोगों ने कहा कि उनकी पत्नी या पति की राय मतदान को लेकर मायने रखती है।