BREAKING NEWS

1988 रोड रेज केस : एक साल की सजा पर बोले सिद्धू-कानून का सम्मान करूंगा◾Delhi High Court ने लगाई घर-घर राशन योजना पर रोक, कहा: दिल्ली सरकार नहीं कर सकती केंद्र के राशन का इस्तेमाल ◾'कुछ नेता ही कांग्रेस के राष्ट्रीय नेतृत्व को कर रहे हैं गुमराह', इस्तीफे के बाद बोले हार्दिक◾जिसका शिवपाल को था इंतजार.. वो घड़ी आ गई! आजम की जमानत का चाचा-भतीजे पर कैसा होगा असर? ◾SC से रिहाई के बाद फिर जेल जा सकते हैं आजम खान, जानिए किस मामले में फंस सकते हैं SP नेता ◾Delhi News: राजधानी फिर हुई धुआं-धुंआ! मुस्तफाबाद की फैक्ट्री में लगी भीषण आग, दमकल की गाड़ियां मौके पर मौजूद◾नवजोत सिंह सिद्धू को SC से मिला बड़ा झटका, 34 वर्ष पुराने रोडरेज मामले में मिली एक वर्ष की सजा ◾कांग्रेस का हाथ छोड़ हार्दिक पटेल खोल रहे पार्टी की पोल.. BJP में शामिल होने पर कही यह बात ◾ कांग्रेस का छूटा हाथ अब बीजेपी के साथ! वरिष्ठ नेता सुनील जाखड़ ने थामा भाजपा का दामन◾दिल्ली : बवाना की थिनर फैक्ट्री में भीषण आग से हड़कंप, 17 फायर टेंडर मौके पर मौजूद◾परिवारिक पार्टियों का उद्देश्य सिर्फ सत्ता पाना, 'भाई-बहन' की पार्टी बनकर रह गई है कांग्रेस : नड्डा ◾टेरर फंडिंग मामले में यासीन मलिक दोषी करार, इस तारीख को सुनाई जाएगी सजा◾ कृष्ण जन्मभूमि-ईदगाह विवाद पर बड़ी खबर : मथुरा की सिविल कोर्ट में होगी सुनवाई, पुलिस हुई अलर्ट ◾औरंगजेब के मकबरे पर लगा ताला..., महाराष्ट्र में बढ़ती हलचल के बीच ASI का फैसला, जानें पूरा मामला ◾दिल्ली : अनिल बैजल के बाद कौन होगा LG पद का दावेदार? इन चार नामों पर चर्चा◾'पत्थर, लाल झंडा और दो पीपल के पेड़...बन गया मंदिर', अखिलेश के बयान पर भड़की BJP◾22 महीनों से जेल में बंद आजम खान ने ली राहत की सांस! SC ने दी अंतरिम जमानत, शर्तों को लेकर कहा... ◾J&K : पुलिस ने शराब के ठेके पर हमले का मामला सुलझाया, LET के चार आतंकियों को किया गिरफ्तार ◾जहां चुनौतियां हैं बड़ी... वहां भारत बन रहा उम्मीद, PM मोदी बोले- देश पेश कर रहा समस्याओं का समाधान ◾ज्ञानवापी मस्जिद मामले पर सुप्रीम कोर्ट में टली सुनवाई, हिंदू पक्ष ने मांगा कल का समय◾

दिल्‍ली में नहीं लगेगा लॉकडाउन , बढ़ सकती हैं पाबंदियां, जानें क्या-क्या नए प्रतिबंध लगा सकती है सरकार

दिल्ली में कोरोना संक्रमण की बढ़ती रफ्तार को नियंत्रित करने के लिए डीडीएमए कुछ नए प्रतिबंध लगा सकता है। दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण  ने सोमवार को कोविड-19 संक्रमण पर रोक लगाने के लिए लॉकडाउन नहीं लगाने का फैसला किया। डीडीएमए ने साथ ही रेस्तरां में बैठकर भोजन करने की सुविधा बंद करने और मेट्रो ट्रेन-बसों में सवारियों की संख्या कम करने जैसी अन्य पाबंदी लगाने पर विचार किया। 

लग सकती है नई पाबंदी

रिपोर्टस के अनुसार, रेस्टोरेंट में बैठकर खाने पर लग सकती है पाबंदी, हालांकि व्यापारियों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए टेक अवे की सुविधा जारी रहेगी।  

बैठक में इन अहम मुद्दों पर चर्चा:

जो भी पाबंदी दिल्ली में लागू है वो एनसीआर में क्यों लागू नहीं हो रही इस मुद्दे पर डीडीएमए में चर्चा हुई। वहीं इस बार पर भी जोर दिया गया कि लोगों को होम आइसोलेशन में कैसे सुविधा दी जाए। वहीं चुनौतियां बढ़ी तो दिल्ली में क्या होगा इस पर भी गहन मंथन हुआ। इस बैठक में शामिल अधिकारियों के मुताबिक अगर 1 दिन में 1 लाख नए मामले आते हैं तो इसके लिए क्या तैयारियां हैं इस पर भी चर्चा हुई। 

आपातकालीन स्थिति में कितना मैन पावर है?

आपातकालीन यानी किसी भी तरह की इमरजेंसी पड़ने पर दिल्ली में कितना मैन पावर है उसे पूरी तरह मुस्तैद रखने को कहा गया है। इस दौरान यह भी अंदाजा लगाने की कोशिश हो रही है कि आपातकालीन स्थिति में यहां कितने ट्रेंड डॉक्टर, छात्र, नर्सेज, पैरामेडिकल स्टाफ और हेल्थ केयर वॉलिंटियर अपनी सेवाएं दे सकते हैं।

दूसरी लहर जैसी तस्वीरें न दिखें ऐसा करने पर फोकस

इस बैठक में कहा गया कि 10 जनवरी तक दिल्ली के पास 900 मीट्रिक टन ऑक्सीजन का इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार है। वहीं DTC बसों और मेट्रो सेवा को 50% की क्षमता पर चलाए जाने की चर्चा के दौरान यह कहा गया की मेट्रो की क्षमता कम करने से जो भीड़ होगी उससे संक्रमण और ज्यादा तेजी से फैल सकता है। वीकली मार्केट इस बात को लेकर चर्चा हुई की क्यों न एक जोन में सुरक्षा जगह देखकर मार्केट लगाई जाए।