BREAKING NEWS

ट्रेनों के निजीकरण पर रेलवे का बयान : नौकरियां नहीं जाएंगी, लेकिन काम बदल सकता है ◾तमिलनाडु में कोरोना मरीजों की संख्या एक लाख के पार ,बीते 24 घंटों में 4329 नये मामले और 64 लोगों की मौत◾पीएम के लेह दौरे पर बोले अधीर रंजन - सैनिकों का मनोबल बढ़ा लेकिन चीनी अतिक्रमण नकारे नहीं ◾दिल्ली में कोरोना का कहर जारी, बीते 24 घंटे में 2,520 नए केस, संक्रमितों का आंकड़ा 94 हजार के पार◾महाराष्ट्र में कोरोना वायरस ने फिर तोड़ा रिकॉर्ड , 6364 नये मामले आये सामने और 198 लोगों की मौत ◾मोदी की लद्दाख यात्रा पर तिलमिलाए चीन ने कहा - हमें विस्तारवादी कहना आधारहीन◾दिल्ली-NCR में 4.7 रिक्टर स्केल तीव्रता भूकंप के झटके, राजस्थान के अलवर में था भूकंप का केंद्र◾सीएम योगी का ऐलान - शहीद पुलिसकर्मियों के परिवार को सरकारी नौकरी और एक करोड़ रुपये का मुआवजा ◾चीन से सीमा विवाद पर भारत के समर्थन में आया जापान, कहा- LAC की यथास्थिति बदलने के एकतरफा प्रयास का करेंगे विरोध◾पीएम मोदी ने गलवान घाटी झड़प में घायल सैनिकों से कहा- ‘आपने करारा जवाब दिया’◾लद्दाख में अतिक्रमण को लेकर राहुल ने ट्वीट किया वीडियो, कहा-कोई तो बोल रहा है झूठ◾लेह से चीन को PM मोदी का सख्त सन्देश, बोले- इतिहास गवाह है कि विस्तारवादी ताकतों को हमेशा मिली हार◾PM मोदी के लेह दौरे से तिलमिलाया ड्रैगन, कहा-कोई पक्ष हालात न बिगाड़े ◾चीन और पाकिस्तान से बिजली उपकरणों का आयात नहीं करेगा भारत ◾PM मोदी के लेह दौरे पर सियासत शुरू, मनीष तिवारी बोले- जब इंदिरा गई थीं तो पाक के दो टुकड़े किए थे◾World Corona : दुनियाभर में संक्रमितों का आंकड़ा 1 करोड़ 8 लाख के पार, सवा पांच लाख के करीब लोगों की मौत◾कानपुर में शहीद हुए पुलिसकर्मियों को CM योगी ने दी श्रद्धांजलि, कहा-व्यर्थ नहीं जाएगा यह बलिदान ◾चीन के साथ तनाव के बीच PM मोदी का औचक लेह दौरा, अग्रिम पोस्ट पर जवानों से की मुलाकात◾देश में एक दिन में 20 हजार से अधिक कोरोना मामलों की पुष्टि, संक्रमितों का आंकड़ा सवा छह लाख के पार◾15 अगस्त को लॉन्च हो सकती है स्वदेशी कोरोना वैक्सीन COVAXIN, 7 जुलाई से शुरू होगा ह्यूमन ट्रायल◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

रेलवे स्टेशन पर सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त

नई दिल्ली : स्वतंत्रता दिवस के मौके पर रेलवे पुलिस इसलिए भी ज्यादा सतर्क है, क्योंकि दिल्ली में रेल से प्रतिदिन 10 से 12 लाख लोग आते-जाते हैं। स्वतंत्रता दिवस के मध्य नजर दिल्ली पुलिस की रेलवे यूनिट ने आरपीएफ और रेलवे के अधिकारियों के साथ विशेष बैठक भी की है। जिसमें सुरक्षा की दृष्टि से कमजोर पहलुओं को ठीक करने की दिशा में कदम भी उठाए हैं। दिल्ली में कई बड़े रेलवे स्टेशनों पर आने के ऐसे दर्जनभर चोर रास्ते हैं जहां से आतंकी व असामाजिक तत्व आसानी से रेलवे स्टेशनों तक पहुंच सकते हैं। 

यह रास्ते कहीं पर रेलवे की टूटी हुई बाउंड्री की वजह से बने हैं तो कहीं रेलवे लाइन के किनारे बसी अवैध झुग्गी बस्ती के कारण बने हुए हैं। इन्हें अवैध या चोर रास्तों के नाम से जाना जाता है। डीसीपी रेलवे दिनेश कुमार गुप्ता का कहना है कि ऐसे रास्तों पर जीआरपी और आरपीएफ मिलकर पेट्रोलिंग कर रही है ताकि कोई ऐसे रास्तों से घुसपैठ ना कर सके। इसके अलावा कई बार लोग छोटे स्टेशनों से ट्रेन में बैठकर बिना चेकिंग के बड़े रेलवे स्टेशन तक आ जाते हैं। 

मगर अब छोटे स्टेशनों पर भी तलाशी ली जा रही है। रेलवे पुलिस पार्किंग में खड़े वाहनों पर भी नजर बनाए हुए हैं। वहीं सुरक्षा व्यवस्था को और पुख्ता करने के लिए रेलवे स्टेशन व आस -पास जीआरपी के जवान आरपीएफ, ट्रैफिक पुलिस और पीसीआर के साथ ज्वाइंट पेट्रोलिंग कर रहे हैं।

आतंकियों से निपटेगी क्विक रिस्पांस टीम 

दिल्ली रेलवे पुलिस ने आतंकियों व असामाजिक तत्वों से निपटने के लिए 10 क्विक रिस्पांस टीम भी बनाई है जो अत्याधुनिक हथियारों से लैस हैं। ये टीमें आतंकियों को मुंहतोड़ जवाब देने में पूरी तरह से सक्षम है। यह दिल्ली में सभी बड़े रेलवे स्टेशनों के आसपास तैनात की गई हैं।

अभेद्य है रेलवे की सुरक्षा

डीसीपी रेलवे दिनेश कुमार गुप्ता का कहना है कि रेलवे स्टेशन पर सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त किए गए हैं। स्वतंत्रता दिवस के मद्देनजर दिल्ली पुलिस ने आरपीएफ व रेलवे ऑफिसरों के साथ सिक्योरिटी रिव्यू को लेकर एक हाई लेवल मीटिंग भी की है।  रेलवे पुलिस आरपीएफ रेलवे अधिकारी पीसीआर और ट्रैफिक के साथ ज्वाइंट पेट्रोलिंग कर रही है। डॉग स्क्वायड टीम व बम डिस्पोजल टीम भी रेलवे स्टेशनों पर मोर्चा संभाले हुए हैं। नई दिल्ली रेलवे स्टेशन ओल्ड दिल्ली, रेलवे स्टेशन, हजरत निजामुद्दीन, सराय रोहिल्ला, आनंद विहार रेलवे स्टेशन आदि बड़े स्टेशनों पर सुरक्षा के व्यापक बंदोबस्त किए गए हैं। 

आतंकियों के मंसूबों को नाकाम करने के लिए। दस क्विक रिस्पांस टीमें तैनात की गई हैं। रेलवे स्टेशनों पर लाउडस्पीकर और पोस्टर चस्पा कर लोगों को जागरूक किया जा रहा है कि वह पुलिस की आइज एंड ईयर स्कीम का हिस्सा बने और संदिग्धों के बारे में सूचना दें। भीड़ में दूर तक नजर रखने के लिए जगह-जगह ऊंचे मचान बनाए गए हैं और मोर्चे बनाए गए हैं। जहां आधुनिक हथियारों से लैस जवान तैनात हैं।