उत्तर पश्चिमी दिल्ली की बवाना विधानसभा सीट के लिए हुए उपचुनाव के परिणाम कल घोषित किये जाएंगे। वोटों की गिनती स्वामी श्रद्धानंद कॉलेज(पुरानी इमारत) अलीपुर में सोमवार को सुबह 8  बजे से शुरू होगी और परिणाम दोपहर तक आ जाने की उम्मीद है। वर्ष 2015 में हुए विधानसभा चुनाव में बवाना से आम आदमी पार्टी (आप) के टिकट पर वेद प्रकाश जीते थे।

वह इस वर्ष अप्रैल में इस्तीफा देकर भाजपा में शामिल हो गए थे। भाजपा की तरफ से वह इस बार चुनाव मैदान में हैं। आप ने रामचंद्र को और कांग्रेस ने तीन बार के विधायक सुरेंद्र कुमार को उम्मीदवार बनाया है। इस उपचुनाव में कुल 8 उम्मीदवार मैदान में हैं। यह उपचुनाव भाजपा, कांग्रेस और आप तीनों ही पार्टियों के लिए साख का सवाल है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने स्वयं चुनाव कमान संभाल रखी थी। इससे पहले राजौरी गार्डन उपचुनाव में पार्टी के प्रत्याशी की जमानत जब्त हो गई थी।

राजौरी गॉर्डन सीट से भाजपा-अकाली गठबंधन के उम्मीदवार मनजिंदर सिंह सिरसा जीते थे। हालांकि, बवाना उपचुनाव के नतीजे से केजरीवाल सरकार पर तो कोई असर नहीं पड़ेगा किन्तु 2015 के दिल्ली विधानसभा चुनाव के बाद लगातार लड़ रहे चुनाव में पार्टी को शिकस्त ही मिली है। पार्टी को इस साल फरवरी में दिल्ली के तीनों निगमों में भी हार का मुंह देखना पड़ा था। कांग्रेस अपनी खोई हुई जमीन वापस पाने में जुटी है तो भाजपा को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता पर उम्मीद है।