BREAKING NEWS

नगा मुद्दा : मणिपुर के कांग्रेस विधायक सोनिया गांधी और प्रधानमंत्री से मिलने पहुंचे दिल्ली◾महाराष्ट्र : कांग्रेस, राकांपा ने सीएमपी पर बनाई कमेटी, भाजपा भी नाउम्मीद नहीं ◾अमित शाह ने विपक्ष पर ‘‘कोरी राजनीति’’ करने का लगाया आरोप, कहा- किसी दल के पास बहुमत हो तो कर सकता है दावा ◾अयोध्या पर उच्चतम न्यायालय के फैसले को मुख्यमंत्री योगी ने बताया स्वर्णाक्षरों में लिखे जाने वाला ◾पेट में दर्द की शिकायत के बाद मुलायम पीजीआई में भर्ती ◾महाराष्ट्र में सरकार गठन के लिए शिवसेना और कांग्रेस-NCP के बीच बातचीत जारी◾SC के पैनल ने दिल्ली-NCR में 15 नवंबर तक स्कूल बंद रखने का दिया आदेश◾प्रधानमंत्री मोदी को ब्रिक्स सम्मेलन से आर्थिक, सांस्कृतिक संबंध मजबूत होने की उम्मीद ◾TOP 20 NEWS 11 November : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾बातचीत सही दिशा में आगे बढ़ रही है : ठाकरे ने कांग्रेस नेताओं से मुलाकात के बाद कहा ◾JNU ने वापस लिया शुल्क बढ़ोतरी का फैसला, आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों के लिए योजना की प्रस्तावित ◾सुप्रीम कोर्ट का ऐतिहासिक फैसला, RTI के दायरे में आएगा CJI का दफ्तर◾संजय राउत को अस्पताल से मिली छुट्टी, कहा- महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री तो शिवसेना का ही होगा◾कुलभूषण जाधव के लिए पाकिस्तान करेगा अपने आर्मी एक्ट में बदलाव ◾शिवसेना का BJP पर तीखा वार, कहा-सरकार गठन को लेकर जारी गतिरोध का आनंद उठा रही है पार्टी◾कर्नाटक के 17 विधायक अयोग्य, लेकिन लड़ सकते हैं चुनाव : SC◾महाराष्ट्र : राज्यपाल के फैसले को SC में चुनौती देने वाली याचिका का उल्लेख नहीं करेगी शिवसेना◾लगातार 5 दिन से बढ़ते पेट्रोल के दाम पर लगा ब्रेक, डीजल के दाम भी स्थिर ◾महाराष्ट्र : शिवसेना-राकांपा-कांग्रेस का नहीं हुआ गठबंधन, अब ऑपरेशन लोटस की तैयारी में BJP◾दिल्ली-NCR में सांस लेना हुआ दूभर, गंभीर श्रेणी में पहुंची हवा◾

दिल्ली – एन. सी. आर.

‘बैलेट पेपर से ‘आप’ का चुनाव का राग अलापना हार की बौखलाहट’

नई दिल्ली : दिल्ली विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष विजेन्द्र गुप्ता ने शनिवार को कहा कि आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह द्वारा बैलेट पेपर द्वारा चुनाव करवाने का फिर से राग अलापना यह दर्शाता है कि मुख्यमंत्री केजरीवाल व उनकी आम आदमी पार्टी कितनी बौखलाई हुई है। आने वाले विधानसभा चुनावों से पूर्व ही अपनी हार सुनिश्चित जान कर हार के बहाने अभी से तलाशने शुरू कर दिए हैं। इन्हीं ईवीएम की बदौलत ही आम आदमी पार्टी ने पिछले विधानसभा चुनाव में 70 में से 67 सीटों पर विजय पाकर प्रचंड बहुमत प्राप्त किया था।

गुप्ता ने कहा कि लोकसभा चुनावों से पूर्व भी आम आदमी पार्टी सहित अलग-अलग राजनैतिक दलों ने चुनावी प्रक्रिया में  ईवीएम के दुरुपयोग के खिलाफ शिकायत की थी। आरोप था कि ईवीएम मशीनों से छेड़छाड़ कर चुनावों में मतदान के नतीजों को प्रभावित किया जा सकता है। भारत के चुनाव आयोग ने आम आदमी पार्टी सहित सभी राजनैतिक दलों को चुनौती दी थी कि वे आएं और ईवीएम से छेड़छाड़ कर मतदान को प्रभावित करने के अपने आरोपों की साबित करें। लेकिन कोई भी दल अपने इन आरोपों को साबित करने के लिए सामने नहीं आया। 

नेता विपक्ष ने कहा कि चुनाव आयोग व सर्वोच्च न्यायालय दोनों ही ईवीएम की बजाए पेपर बैलेट से चुनाव करवाने की मांग को ठुकरा चुके हैं। टेक्नोलॉजिकल तरक्की के साथ देश पेपर लैस होने की तरफ अग्रसर हो रहा है। दिल्ली विधानसभा ने भी पेपर लैस होने की तरफ कदम बढ़ा दिया है। लेकिन इसके विपरीत सत्ताधारी आप पार्टी मैन्युअल सिस्टम की बात कर पुराने युग में लौटने की मांग कर रही है जो किसी भी तरह से जायज नहीं है।