BREAKING NEWS

पाकिस्तान ने फिर किया संघर्ष विराम का उल्लंघन, एक जवान शहीद◾प्रियंका गांधी बोलीं- देश में 'भयंकर मंदी' लेकिन सरकार के लोग खामोश◾ मायावती का ट्वीट- देश में आर्थिक मंदी का खतरा, इसे गंभीरता से लें केंद्र◾AAP के पूर्व विधायक कपिल मिश्रा भाजपा में शामिल◾चिदंबरम बोले- मीर को नजरबंद करना गैरकानूनी, नागरिकों की स्वतंत्रता सुनिश्चित करें अदालतें◾राजनाथ के आवास पर ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स की बैठक शुरू, शाह समेत कई मंत्री मौजूद◾भूटान पहुंचे मोदी का PM लोटे ने एयरपोर्ट पर किया स्वागत, दिया गया गार्ड ऑफ ऑनर◾शरद पवार बोले- पता नहीं राणे का कांग्रेस में शामिल होने का फैसला गलत था या बड़ी भूल◾उत्तर कोरिया ने किया नए हथियार का परीक्षण, किम ने जताया संतोष◾12 दिन बाद आज से घाटी में फोन और जम्मू समेत कई इलाकों में 2G इंटरनेट सेवा बहाल◾राम माधव बोले- जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को मिलेगा देश के कानूनों के अनुसार लाभ◾वित्त मंत्रालय के अधिकारियों संग PMO की बैठक आज, इन मुद्दों पर होगी चर्चा◾कोविंद, शाह और योगी जेटली को देखने AIIMS पहुंचे, जेटली की हालत नाजुक : सूत्र ◾आर्टिकल 370 : UNSC में Pak को बड़ा झटका, कश्मीर मामले पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक में पाकिस्तान को सिर्फ चीन का मिला समर्थन◾जम्मू में हमारे ''नेताओं की गिरफ्तारी'' निंदनीय, आखिर यह पागलपन कब खत्म होगा : राहुल ◾परमाणु हथियार के पहले प्रयोग न करने की नीति पर बोले राजनाथ: परिस्थितियों पर निर्भर करेगा फैसला◾कश्मीर में किसी की जान नहीं गई, कुछ दिनों में हालात होंगे सामान्य◾कश्मीर मुद्दे पर UNSC में बोले अकबरुद्दीन- जेहाद के नाम पर हिंसा फैला रहा है PAK◾भूटान की यात्रा समय की कसौटी पर खरी उतरने वाली मित्रता को और मजबूत करेगी : PM मोदी◾बाबरी मस्जिद से पहले उस जगह राम मंदिर मौजूद था : रामलला◾

दिल्ली – एन. सी. आर.

‘जल संचयन परियाेजना बनेगी मिसाल’

नई दिल्ली : केन्द्रीय जल शक्ति मंंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साथ दिल्ली देहात के सांगरपुर गांव के यमुना तट पर महत्वाकांक्षी जलाशय संचयन परियोजना का शुभारंभ किया। इस दौरान दिल्ली सरकार के सिंचाई एवं बाढ़ नियंत्रण मंत्री सत्येन्द्र जैन भी मौजूद रहे। इस अवसर पर शेखावत ने कहा कि आने वाले समय में यह प्रोजेक्ट दिल्ली मॉडल के रूप में केवल देश में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में मिसाल बनेगा और बड़े पैमाने पर अपनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि पूरे विश्व में पानी एक बहुत बड़ी चुनौती है। 

हमें इजरायल देश से पानी संरक्षण को लेकर सीख लेनी चाहिए। हालांकि पानी सरंक्षण का कार्य राजस्थान के किसान ने शुरू किया था लेकिन भारत में इस विधि को समय से नहीं अपनाया और इजरायली लोग यहां आकर इस विधि को अपने देश ले गए। उन्होंने कहा कि दुनियाभर में कुल मिलाकर लगभग 75 फीसदी पानी उपलब्ध है लेकिन उसमें से पीने योग्य पानी महज 3-4 फीसदी है। अगर अंर्टाकटिका और अन्य ग्लेशियर की बर्फ को छोड़ दें तो दुनिया में केवल एक फीसदी पानी पीने योग्य है। 

वहीं मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि आज यमुना के पानी को जमीन के नीचे संचयन करने का एक बहुत बड़ा प्रयोग शुरू होने जा रहा है। यह पॉयलट परियोजना सफल रही तो देश के लिए मील का पत्थर साबित होगी। इसके बाद बारिश के पानी को हर जगह संरक्षित किया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि अपने स्तर पर किसान तो कई प्रकार के प्रयोग किया करते थे लेकिन किसी राज्य की सरकार ने इतने बड़े स्तर पर इस तरह का प्रयोग किया हो, यह शायद इतिहास में पहली बार होने जा रहा है। 

जिस प्रकार से आज न केवल देश में बल्कि पूरी दुनिया में पानी के लिए हाहाकार मचा हुआ है, कई जगहों पर जिस प्रकार से तेजी के साथ जमीन में जल स्तर घटता जा रहा है, ऐसे में अगर यह प्रोजेक्ट सफल होता है, तो यह देश और समाज के लिए एक नया रास्ता दिखाने की दिशा में बड़ा कदम होगा। 

वहीं दिल्ली सरकार में सिंचाई एवं बाढ़ नियंत्रण मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि आगामी तीन वर्षों में यहां के स्थानीय गांववासी तीन दशक पहले की तरह ही गड्ढा खोदने पर लौटे से पानी भर सकेंगे। इस मौके विधायक शरद चौहान, अजेश यादव, रामचन्द्र, दिल्ली सरकार में प्रमुख सचिव विजय देव, सिंचाई एवं बाढ़ नियंत्रण विभाग के सचिव निखिल कुमार आदि अधिकारी उपस्थित रहें।