नई दिल्ली : लाेकसभा चुनाव के मद्देनजर कांग्रेस और आप के बीच गठबंधन को लेकर लगाए जा रहे कयासों के बाद सोमवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल गठबंधन पर आमने-सामने आ गए। दोनों के बीच ट्विटर पर जबरदस्त भिड़ंत हो गई। राहुल गांधी ने कहा कि गठबंधन पर केजरीवाल यू टर्न ले रहे हैं। जबकि केजरीवाल बोले कि कांग्रेस गठबंधन का दिखावा कर रही है। केजरीवाल के बयान के साथ ही गोपाल राय और संजय सिंह भी कांग्रेस पर हमलावर हो गये। वहीं आप नेता कुमार विश्वास ने तंज कसा कि इसमें बस यू-टर्न पढ़ने और समझने लायक है।

राहुल के ट्वीट पर आप नेताओं ने आक्रमक होते हुए सक्रियता दिखायी। केजरीवाल ने ट्वीट कर पूछा कि कौन सा यू-टर्न? अभी तो बातचीत चल रही थी। केजरीवाल ने लिखा कि आपका ट्वीट दिखाता है कि गठबंधन आपकी इच्छा नहीं मात्र दिखावा है। मुझे दुःख है आप बयानबाजी कर रहे हैं। आज देश को मोदी-शाह के खतरे से बचाना अहम है। दुर्भाग्य है कि आप उत्तर प्रदेश और अन्य राज्यों में भी मोदी विरोधी वोट बांटकर मोदी जी की मदद कर रहे हैं। राय ने भी राहुल गांधी के ट्वीट का जवाब दिया।

उन्होंने कहा कि राहुल गांधी 18 सीटों पर भाजपा को हराने में दिलचस्पी क्यों नही दिखा रहे हैं? राहुल गांधी ने चार सीटों का दरवाजा खोला है तो हमने दिल्ली, हरियाणा और चंडीगढ़ में 18 सीटों पर भाजपा को हराने के लिए दरवाजा खोल रखा है। राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने भी इस मामले में अपना बयान दिया। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि पंजाब में आप के चार सांसद और 20 विधायक हैं। वहां कांग्रेस हमें एक भी सीट नहीं देना चाहती। हरियाणा जहां कांग्रेस का एक सांसद है। वहां भी हमें एक सीट नहीं देना चाहती। दिल्ली जहां कांग्रेस का न तो एक सांसद और न ही एक विधायक है। यहां कांग्रेस हमसे तीन सीटें चाहती है।

आप-कांग्रेस कर रहे हैं नूरा कुश्तीः गुप्ता
नेता विपक्ष विजेन्द्र गुप्ता ने सोमवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल के बीच गठबंधन के आरोप-प्रत्यारोप को लेकर कहा कि गठबंधन-गठबंधन खेलते-खेलते राहुल गांधी और केजरीवाल दोनों में एक-दूसरे को झूठा साबित करने की होड़ मची है। सभी जानते हैं कि ये नूरा-कुश्ती है। विजेन्द्र गुप्ता ने कहा कि दोनों ही पार्टियां भाजपा से इतनी डरी हुई हैं कि उन्हें समझ ही नहीं आ रहा कि भाजपा से निपटने के लिए गठबंधन किया जाए या नहीं। उन्होंने कहा कि ऐसा राजनीतिक भ्रम और नाटक पहले कभी नहीं देखा गया।