BREAKING NEWS

यूपी : CM योगी ने 'हज हाउस' को लेकर SP पर साधा निशाना, 'कैलाश मानसरोवर भवन' के बारे में कही यह बात ◾NYT की रिपोर्ट में दावा, भारत ने इजरायल से डिफेंस डील में खरीदा था Pegasus◾बजट सत्र : संसद के दोनों सदनों में 31 जनवरी और 1 फरवरी को नहीं होगा शून्य काल◾अखिलेश को न कोरोना का टीका पसंद, न माथे का टीका : केशव प्रसाद मौर्य◾यूपी चुनाव : गृहमंत्री शाह और BJP अध्यक्ष समेत यह बड़े नेता करेंगे प्रचार, जानिए कौन किस जगह मांगेगा वोट ◾UP विधानसभा चुनाव : शाह-नड्डा के बाद अब PM भरेंगे हुंकार, 31 जनवरी को पहली वर्चुअल रैली◾देश में 24 घंटे में कोरोना संक्रमित 871 लोगों ने तोड़ा दम, नए मामलों में गिरावट◾वैश्विक स्तर पर कोरोना के मामलों में जारी है वृद्धि, 36.94 करोड़ हुआ संक्रमितों का आंकड़ा ◾अखिलेश ने बीजेपी पर साधा निशाना - BJP से सावधान रहें, वोट की खातिर उसने कृषि कानून वापस लिए◾कांग्रेस का दावा - हम फिर से बनाएंगे सरकार◾बंगाल चुनाव बाद हिंसा: भाजपा कार्यकर्ता की मौत मामले में CBI ने सात लोगों को किया गिरफ्तार ◾दिल्ली कोविड : बीते 24 घंटों में आए 4,044 नए मामले, कल के मुकाबले कम हुई मौतें ◾वी.अनंत नागेश्वरन ने संभाला देश के नए मुख्य आर्थिक सलाहकार का पद, आम बजट से पहले केंद्र सरकार ने किया ऐलान◾मिसाइल आपूर्ति करने वाले देशों के प्रतिष्ठित क्लब में शामिल हुआ भारत, इस देश को देगा शक्तिशाली ब्रह्मोस ◾मुजफ्फरनगर: साझा प्रेस वार्ता में अखिलेश और जयंत चौधरी ने दिखाई अपनी ताकत, जानिए क्या बोले दोनों नेता◾केस दर्ज होने के बाद श्वेता तिवारी ने मांगी माफी, तोड़-मरोड़कर दिखाया जा रहा बयान, जानें पूरा मामला◾यूक्रेन मुद्दे पर बढ़ते तनाव के बीच रूस के विदेश मंत्री बोले- मास्को युद्ध शुरू नहीं करेगा ◾UP चुनाव: लखीमपुर, पीलीभीत BJP के लिए बने मुसीबत का सबब, पार्टी हो रही अंदरूनी मन-मुटाव का शिकार ◾कर्नाटक के पूर्व CM बीएस येदियुरप्पा की नातिन ने की आत्महत्या, पुलिस जांच में जुटी◾नवजोत सिंह सिद्धू की बहन ने पूर्व कांग्रेस प्रमुख को बताया 'क्रूर इंसान', कहा- पैसों की खातिर मां को छोड़ा...◾

5 जी-बदल जाएगी जिन्दगी

सबसे बड़े टैक्नोलोजी इवेंट इंडिया मोबाइल कांग्रेस में प्रौद्योगिकी और मोबाइल जगत से जुड़ी बड़ी घोषणाएं हो रही हैं। कोरोना की वजह से पहली बार यह कांग्रेस वर्चुअली आयोजित हुई है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सम्बोधित करते हुए कहा कि इनोवेशन की वजह से महामारी के बावजूद भी दुनिया चलती रही।

इसकेचलते ही एक बेटा अलग शहर में अपनी मां के साथ जुड़ा हुआ था, एक छात्र ने बिना कक्षा में आए अपने शिक्षक से सीखा। मोबाइल तकनीक के कारण ही हम विलियन की संख्या में कैशलैस लेन-देन देख रहे हैं। उद्योगपति मुकेश अम्बानी ने घोषणा की है कि उनकी कम्पनी रिलायंस जियो भारत में 2021 के सैकंड हाफ में 5जी लांच करेगी।

देश में 30 करोड़ ग्राहक 2जी में फंसे हैं और उन्हें स्मार्ट फोन में लाने के लिए नीतिगत हस्तक्षेप की जरूरत है। उन्होंने कहा कि देश में 5जी नेटवर्क को तेजी से लगाने की जरूरत है। उन्होंने इस बात पर बल दिया कि भारत को सेबी कंडक्टर के विनिर्माण केन्द्र के रूप में भी विकसित किया जा सकता है, हम बड़े आयात पर निर्भर नहीं रह सकते। अब यह तय है कि देश में 5जी तकनीक का आना तय है।

5जी या फिफथ जैनरेशन ब्राडबैंड सेल्युलर नेटवर्क की वह तकनीक है जो आगे चलकर मौजूदा सबसे तेज सेल्युलर इंटरनेट कनैक्टिविटी यानी 4जी की जगह लेगी। सेल्युलर नेटवर्क की पिछली जैनरेशन का जिक्र करें तो I-जी वायरलैस तकनीक से टूटी-फूटी खरखराहट भरी आवाजें ही सुनने को मिलती थीं, वही 2जी के जरिये आवाज स्पष्ट सुनाई देने लगी और एमएमएस सरीखी बेसिक डाटा ट्रांसफर सर्विस मिली और मोबाइल इंटरनेट की शुरूआत हुई।

3जी ने तो क्रांतिकारी परिवर्तन कर दिए। इंटरनेट पर सभी तरह का एडवांसड कम्युनिकेशन जैसे वेबसाइट को एक्सेस करना, वीडियो देखना, संगीत सुनना और मेल करना सम्भव हुआ। 4जी ने तो रफ्तार को काफी बढ़ा दिया। दुनिया तेजी से बदल रही है।

आईफोन की लांचिंग के बाद 5जी नेटवर्क ने दुनिया में कदम रख लिया है। आज लोगों के पास आईफोन है। भारत के लोग भी हाईस्पीड फोन को चलाने के लिए बेहद उत्सुक हैं। अब युवा इस बात की चर्चा कर रहे हैं कि भारत में 5जी आने से उनकी जिन्दगी में क्या-क्या बदलाव होंगे।

अभिभावक आज अपने बच्चों से जान रहे हैं कि इससे क्या बदल जाएगा। 5जी नेटवर्क आने से पलक झपकते ही काम हो जाया करेगा और हमें पता भी नहीं चलेगा। इससे न ​सिर्फ इंटरनेट की स्पीड बढ़ेगी इसके साथ यूजर्स को एक नई हाईटेक तकनीक मिलेगी जिससे वो जो चाहे सैकेंड्स में कर सकते हैं।

4जी ने समय को घटा कर पांच या सात मिनट तक कर दिया है और 5जी  आने के बाद महज 4-5 सैकेंड या उससे भी कम समय में डाउनलोड कर पाएंगे। अभी जहां आपको एक फिल्म डाउनलोड करने में 5 से 10 मिनट का समय लग जाता है वहीं 5जी के आने से कुछ सैकेंड में फिल्म डाउनलोड हो जाएगी।

अगर आप आनलाइन गेम खेलना पसंद करते हैं तो 5जी की मदद से बिना नेटवर्क रिकून के हैवी गेम खेल सकते हैं। अपने घर के सारे स्मार्ट डिवाइस को अपने फोन से कनैक्ट करके घर के बाहर रहकर भी कंट्रोल कर सकेंगे। अगर विशेषज्ञों की मानें तो 5जी की स्पीड 1000 एमबीपीएम तक होगी।

5जी के आने के बाद शहरों में अर्बन इन्फ्रास्टक्चर जैसे ट्रैफिक, वेस्ट मैनेजमैंट और पावर सप्लाई कलैक्ट हो पाएंगे। उदाहरण के लिए पैदल चलने वाले लोगों और वाहनों की आवाजाही को शहर भर में लगे सेंसर के जरिये मानिटर किया जा सकेगा।

ऐसा करने से ट्रैफिक लाइर्ट्स ऑपरेट और ट्रैफिक डायवर्ट करने में मदद मिलेगी। यह आपके हैल्थ से जुड़ी जानकारी भी ट्रैक करेगा और इमरजैंसी की स्थिति में मदद के लिए कॉल भी खुद हो जाएगी।  होम्स स्मार्ट हो जाएंगे और आप खुद भी स्मार्ट बन जाओगे।

सम्भावना जताई जा रही है कि अगले वर्ष 5जी स्पैक्ट्रम की नीलामी की जाएगी। इसके बाद भी देशभर में फाइबर केबल का नेटवर्क तैयार करने और वेबटावर लगाने में दो-तीन साल का समय लग सकता है। अभी इस तकनीक के लिए इकोसिस्टम भी तैयार नहीं हुआ।

दिल्ली और मुम्बई जैसे महानगरों में यह सेवा जल्दी शुरू हो सकती है। कोरोना काल में सब काम गैजेट्स पर ही किए गए। खरीदारी के लिए लोगों ने जमकर मोबाइल का इस्तेमाल किया। बैंकिंग सेवाओं में भी अब प्रौद्यो​िगकी का जमकर इस्तेमाल हो रहा है। भविष्य की दुनिया पूरी तरह प्रौद्योगिकी से लैस होगी।

-आदित्य नारायण चोपड़ा