BREAKING NEWS

आज का राशिफल ( 01 नवंबर 2020 )◾एलएसी पर यथास्थिति में परिवर्तन का कोई भी एकतरफा प्रयास अस्वीकार्य : जयशंकर ◾मध्यप्रदेश के पूर्व मंत्री ने सिंधिया पर 50 करोड़ का ऑफर देने का लगया आरोप ◾SRH vs RCB ( IPL 2020 ) : सनराइजर्स की रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर पर आसान जीत, प्ले आफ की उम्मीद बरकरार ◾कांग्रेस नेता कमलनाथ ने चुनाव आयोग के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का किया रूख◾पश्चिम बंगाल चुनाव : माकपा ने कांग्रेस समेत सभी धर्मनिरपेक्ष दलों के साथ चुनावी मैदान में उतरने का किया फैसला◾दिल्ली में कोरोना के बढ़ते मामले को लेकर केंद्र सरकार एक्टिव, सोमवार को बुलाई बैठक◾लगातार छठे दिन 50 हजार से कम आये कोरोना के नये मामले, मृत्युदर 1.5 प्रतिशत से भी कम हुई ◾'अश्विनी मिन्ना' मेमोरियल अवार्ड में आवेदन करने के लिए क्लिक करें ◾आईपीएल-13 : मुंबई इंडियंस ने दिल्ली कैपिटल को 9 विकेट से हराया, इशान किशन ने जड़ा अर्धशतक◾लव जिहाद पर सीएम योगी का कड़ी चेतावनी - सुधर जाओ वर्ना राम नाम सत्य है कि यात्रा निकलेगी◾दिल्ली में इस साल अक्टूबर का महीना पिछले 58 वर्षों में सबसे ठंडा रहा, मौसम विभाग ने बताई वजह ◾नड्डा ने विपक्ष पर राम मंदिर मामले में बाधा डालने का लगाया आरोप, कहा- महागठबंधन बिहार में नहीं कर सकता विकास ◾छत्तीसगढ़ : पापा नहीं बोलने पर कॉन्स्टेबल ने डेढ़ साल की बच्ची को सिगरेट से जलाया, भिलाई के एक होटल से गिरफ्तार◾पीएम मोदी ने साबरमती रिवरफ्रंट सीप्लेन सेवा का उद्घाटन किया ◾PM मोदी ने सिविल सेवा ट्रेनी अफसरों से कहा - समाज से जुड़िये, जनता ही असली ड्राइविंग फोर्स है◾माफ़ी मांगकर लालू के 'साये' से हटने की कोशिश में जुटे हैं तेजस्वी, क्या जनता से हो पाएंगे कनेक्ट ?◾तेजस्वी बोले- हम BJP अध्यक्ष से खुली बहस के लिए तैयार, असली मुद्दे पर कभी नहीं बोलते नीतीश◾पुलवामा पर राजनीति करने वालों पर बरसे PM मोदी, कहा- PAK कबूलनामे के बाद विरोधी देश के सामने हुए बेनकाब ◾TOP 5 NEWS 30 OCTOBER : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

निवेश के लिए भारत सबसे आकर्षक बाजार

भारत निवेश के लिहाज से दुनिया का पांचवां सबसे आकर्षक देश बनकर उभरा है। पिछले कुछ वर्षों से कई सैक्टरों में एफडीआई (प्रत्यक्ष विदेशी निवेश) के नियमों को आसान बनाया गया है। आर्थिक सुधारों की मदद से भारत की अर्थव्यवस्था काफी बेहतर हुई है। केन्द्र की मोदी सरकार ने बुनियादी ढांचे, मैन्यूफैक्चरिंग और कौशल निर्माण के क्षेत्रों से जुड़ी चिंताओं का समाधान भी किया है। लगातार किए जा रहे आर्थिक सुधारों का फायदा अब मिल रहा है।

कोरोना की महामारी के चलते अर्थव्यवस्था की गति धीमी जरूर हुई है लेकिन जिस तरह से भारत में निवेश करने के लिए बहुराष्ट्रीय कम्पनियां लालायित हैं, उससे स्पष्ट है कि कोरोना वायरस के पराजित होते ही भारत की अर्थव्यवस्था गति पकड़ लेगी।

गूगल कम्पनी के सीईओ सुन्दर पिचाई ने गूगल फाॅर इंडिया के वार्षिक कार्यक्रम में ऐलान किया कि भारत ​की डिजिटल अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए उनकी कम्पनी भारत में 10 अरब अमेरिकी डालर यानी करीब 75 हजार करोड़ का ​निवेश करेगी। कोरोना काल के इस दौर में आॅनलाइन लाइफ लाइन बन गई है। गूगल के निवेश से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की डिजिटल इंडिया परियोजना को पूरा करने में बहुत मदद मिलेगी। नरेन्द्र मोदी और सुन्दर पिचाई में डाटा सुरक्षा, साइबर सुरक्षा, भारत में किसानों, युवाओं और उद्यमियों के जीवन को बदलने के लिए प्रौद्योगिकी की शक्ति के इस्तेमाल समेत कई मुद्दों पर बातचीत भी हुई। कोरोना काल में उभर रही नई कार्य संस्कृति पर भी चर्चा हुई। दुनिया के बड़े हिस्से को लाॅकडाउन से जूझना पड़ा। उपभोक्ता ने खर्च करना बंद कर दिया और उद्योगों को कामकाज ठप्प होने से काफी नुक्सान भी हुआ। कोरोना काल में गूगल पर स्वामित्व रखने वाली कम्पनी अल्फावेट, एपल, फेसबुक और अमेजन काफी ताकतवर बन कर उभरी हैं। गूगल और फेसबुक को शुरू-शुरू में विज्ञापन नहीं मिलने से नुक्सान  तो हुआ लेकिन क्म्पनी की शेयर कीमतों में उछाल के चलते कम्पनी की बैलेंस शीट में सुधार होना शुरू हो गया। एपल के हाईवेयर बिजनेस यानी उसके फोन की बिक्री में गिरावट दर्ज की गई लेकिन कम्पनी की सर्विस से होने वाली कमाई में उछाल आया। ऑनलाइन रिटेल बिक्री की बड़ी खिलाड़ी अमेजन का कारोबार तेजी से बढ़ा। उसका क्लाउड कम्प्यूटरिंग का बिजनेस भी काफी अच्छा चल रहा है। इससे पहले अमेजन ने भारत में एक करोड़ छोटे और मध्यम कारोबारों को डिजिटलाइज करने के लिए एक अरब डालर (7,100 करोड़) का निवेश करने की घोषणा की थी। अमेजन की योजना भारत के अलग-अलग शहरों में 100 डिजिटल हॉट स्थापित करने की है। जहां छोटे-मध्यम कारोबारियों को ई-कामर्स, ऑनब्रांडिंग, इमेजिंग कैट ला​िगंग, वेयर हाऊस स्पेस, ला​जिस्टिक्स और डिजिटल मार्केटिंग जैसी सेवाएं दी जाएंगी। फेसबुक भी भारत में निवेश करने की घोषणा कर चुकी है।

ई-कामर्स में भारत तेजी से बढ़ता बाजार है। एक रिपोर्ट के मुताबिक इस सैक्टर में भारत में सालाना रेवेन्यू ग्रोथ 51 फीसदी है। इस सैक्टर में प्रतिस्पर्धा भी तेजी से बढ़ी है। देश की सबसे बड़ी कम्पनी रिलायंस भी ई-कामर्स में उतरने की तैयारी में जुटी है। देश में अभी एक्टिव इंटरनेट यूजर 62.7 करोड़ हैं। अगले पांच सालों में 50 करोड़ यूजर और जुड़ेंगे। कोरोना काल में अधिकांश खरीददारी ऑनलाइन ही हो रही है। अब ऑनलाइन खरीददारी का चलन और बढ़ेगा। ई-कामर्स कम्पनियों का भरोसा भारत पर है। अगर भरोसा नहीं होता तो ये कम्पनियां भारत में ​निवेश की योजना बनाती ही नहीं।

अमेरिकी कम्पनी एपल धीरे-धीरे चीन से बाहर निकलने की कोशिश कर रही है। फाक्स कॉन चेन्नई के निकट श्रीपेरुम्बदूर की एक फैक्टरी के विस्तार के लिए उसमें एक अरब डालर तक का निवेश करना चाहती है। ताइवान की कांट्रैक्ट मैन्यूफैक्चरिंग कम्पनी इस फैक्टरी में आईफोन एक्सआर की असेम्बलिंग करती है।  भारत दुनिया का सबसे बड़ा स्मार्ट फोन बाजार है। भारतीय स्मार्ट फोन बाजार की एक फीसदी हिस्सेदारी एपल के पास है। भारत में ज्यादा फोन बनाने से एपल आयात शुल्क का भुगतान करने से बच जाएगी। इससे भारत में उनके फोन की कीमत कुछ घट सकती है। भारत को पिछले वर्ष 51 अरब डालर का विदेशी निवेश प्राप्त हुआ था और वह साल के दौरान दुनियाभर में अधिक प्रत्यक्ष विदेशी निवेश पाने वाले देशों में नौवें नम्बर पर आ गया था। एक रिपोर्ट  में कहा गया है कि भारत में कोरोना महामारी के बाद कमजोर लेकिन सकारात्मक वृद्धि हासिल होने और भारत का व्यापक बाजार देश के लिए निवेश आकर्षित करता रहेगा। कोरोना महामारी से निपटने और आर्थिक गतिविधियों को​फिर पटरी पर लाने के ​लिए धन की काफी जरूरत है। उम्मीद है ​कि भारत सभी चुनौतियों को पार कर लेगा।

आदित्य नारायण चोपड़ा

[email protected]