BREAKING NEWS

बिहार में 6 फरवरी तक बढ़ाया गया नाइट कर्फ्यू , शैक्षणिक संस्थान रहेंगे बंद◾यूपी : मैनपुरी के करहल से चुनाव लड़ सकते हैं अखिलेश यादव, समाजवादी पार्टी का माना जाता है गढ़ ◾स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी जानकारी, कोविड-19 की दूसरी लहर की तुलना में तीसरी में कम हुई मौतें ◾बेरोजगारी और महंगाई जैसे मुद्दों पर कांग्रेस ने किया केंद्र का घेराव, कहा- नौकरियां देने का वादा महज जुमला... ◾प्रधानमंत्री मोदी कल सोमनाथ में नए सर्किट हाउस का करेंगे उद्घाटन, PMO ने दी जानकारी ◾कोरोना को लेकर विशेषज्ञों का दावा - अन्य बीमारियों से ग्रसित मरीजों में संक्रमण फैलने का खतरा ज्यादा◾जम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी सफलता, शोपियां से गिरफ्तार हुआ लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी जहांगीर नाइकू◾महाराष्ट्र: ओमीक्रॉन मामलों और संक्रमण दर में आई कमी, सरकार ने 24 जनवरी से स्कूल खोलने का किया ऐलान ◾पंजाब: धुरी से चुनावी रण में हुंकार भरेंगे AAP के CM उम्मीदवार भगवंत मान, राघव चड्ढा ने किया ऐलान ◾पाकिस्तान में लाहौर के अनारकली इलाके में बम ब्लॉस्ट , 3 की मौत, 20 से ज्यादा घायल◾UP चुनाव: निर्भया मामले की वकील सीमा कुशवाहा हुईं BSP में शामिल, जानिए क्यों दे रही मायावती का साथ? ◾यूपी चुनावः जेवर से SP-RLD गठबंधन प्रत्याशी भड़ाना ने चुनाव लड़ने से इनकार किया◾SP से परिवारवाद के खात्मे के लिए अखिलेश ने व्यक्त किया BJP का आभार, साथ ही की बड़ी चुनावी घोषणाएं ◾Goa elections: उत्पल पर्रिकर को केजरीवाल ने AAP में शामिल होकर चुनाव लड़ने का दिया ऑफर ◾BJP ने उत्तराखंड चुनाव के लिए 59 उम्मीदवारों के नामों पर लगाई मोहर, खटीमा से चुनाव लड़ेंगे CM धामी◾संगरूर जिले की धुरी सीट से भगवंत मान लड़ सकते हैं चुनाव, राघव चड्डा बोले आज हो जाएगा ऐलान ◾यमन के हूती विद्रोहियों को फिर से आतंकवादी समूह घोषित करने पर विचार कर रहा है अमेरिका : बाइडन◾गोवा चुनाव के लिए BJP की पहली लिस्ट, मनोहर पर्रिकर के बेटे उत्पल को नहीं दिया गया टिकट◾UP चुनाव में आमने-सामने होंगे योगी और चंद्रशेखर, गोरखपुर सदर सीट से मैदान में उतरने का किया ऐलान ◾कांग्रेस की पोस्टर गर्ल प्रियंका BJP में शामिल, कहा-'लड़की हूं लड़ने का हुनर रखती हूं'◾

आदर्श समाज सेविका आशा शर्मा का प्रेरणादायी सहस्त्र चंद दर्शन उत्सव

पिछले  दिनों यानि पहली जनवरी को श्रीमती आशा शर्मा जी के जन्मदिन के अवसर पर उनके परिवार के सदस्यों और  आर.एस.एस. के सह-कार्यवाह अरूण कुमार, प्रचार प्रमुख सुनील अम्बेकर, विश्व हिन्दू परिषद के अन्तर्राष्ट्रीय कार्यवाहक अध्यक्ष आलोक कुमार,राष्ट्र सेविका समिति की रेखा राजे, राधा मेहता, और नागपुर से राष्ट्र सेवा समिति की प्रमुख शांता अक्का के साथ शामिल होने का अवसर मिला।

आप सबको मालूम है कि मैं जब भी कुछ अच्छा देखती, सुनती या  अनुभव करती हूं तो आप सबसे जरूर शेयर करती हूं। क्या नजारा था? सारा परिवार था। अमेरिका से उनका बेटा, बहू, दामाद, नातिन और यहां से भी उनकी बेटी मन्नु उपस्थित थी। 81 दीप जलाए गए और थालों में रखकर आरती उतारी गई और नागपुर से आयी रोहिणी जी, चित्रा जी ने साथ मंत्र पढ़े। मैं कहती हूं, हर घर में ऐसे ही बुजुर्गों के जन्मदिन व सम्मान होने चाहिए। 

आशा जी, हमेशा से मेरी मार्गदर्शक रही हैं। ऐसा व्यक्तित्व जिसने सारी उम्र देश, समाज की सेवा की। वह तो और भी पूजने लायक हो जाते हैं। वैसे भी हमारे धर्म शास्त्रों में लंबी आयु पाकर सहस्त्र चंद्र दर्शन करने वालों को बड़ा सौभाग्यशाली, उच्चकोटि का सफल व्यक्ति माना जाता है। समाज-कल्याण में अग्रसर समाज सेविका आशा शर्मा (81) इसकी ज्वलंत उदाहरण हैं। जिन्होंने अपने सुयोग्य पति आदरणीय रमेश प्रकाश शर्मा का भरपूर सहयोग किया। वहीं विदुषी, आदर्श मां, शिक्षिका बनकर राष्ट्र की अद्भुत सेवा की। 

राष्ट्र सेविका समिति की पूर्व सह-कार्यवाहिका की जिम्मेदारियां निभाते हुए घर, परिवार व सामाजिक दायित्व निभाया। उन्होंने अपने यशस्वी जीवन के 80 वर्ष पूरे किए। बड़े बुजुर्गों के 81 वर्षीय अवस्था, दीर्घायु पाने पर खुशियां मनाकर उनका सम्मान करना, उनके लिए उपहार देना, उनके लिए सहस्त्र चंद्र दर्शन यज्ञ रचाना, हमारी प्राचीन सनातन वैदिक संस्कृति का हिस्सा है। हमारे यहां सभी वैदिक संस्कारों में जहां बच्चों को लंबी उम्र पाने की प्रेरणा मिलती है, वहीं भावी, युवा -पीढ़ी को त्याग, सादा जीवन, उच्च विचार के भाव से कर्म योगी बनाने की शिक्षाएं दी जाती हैं। बड़े विधि-विधान से मंत्रों के साथ 1000 चंद्र दर्शन का महत्व समझाया कि इस लोक में जीवन सार्थक करना हो तो घर, परिवार, राष्ट्र की सेवा भी की जा सकती है। इसके लिए पूज्या आशा शर्मा ने संघ के माध्यम जहां हजारों नारियों को आदर्श समाज सेविका बनाया तो उनके पतिदेव रमेश प्रकाश शर्मा जी चौपाल के कार्यक्रम में पधार कर व सेवा बस्तियों में रहने वाले मेहनतकश लोगों को स्वरोजगार दिलाने, ऑटो-रिक्शा ऋण वितरण कार्यक्रम में पधारकर उन्होंने अच्छी शिक्षाएं दी। ईमानदारी से कार्य करने की प्रेरणा देते 

रहते थे। उन्होंने भी समाज को जोडऩे में 50 वर्ष सेवाएं दीं। इस कर्मयोगी परिवार से सीखने की जरूरत है। जहां सहस्त्र चंद्र दर्शन उत्सव यज्ञ में सभी सदस्यों ने उत्साह से भाग लिया तथा समाज को एक रचनात्मक संदेश दिया कि वह भी अपने अपने वरिष्ठजनों को भरपूर समय, सम्मान, सत्कार करते हुए उनकी मनचाही खुशियों में भागीदार बनें तथा उनका आशीर्वाद पाएं। द्य