BREAKING NEWS

कोविड-19 : देश में के संक्रमण के मामले 18 लाख के पार, स्वस्थ होने वालों की संख्या 11.86 लाख हुई◾पीएम मोदी, राजनाथ, नड्डा ने रक्षा बंधन पर दी देशवासियों को शुभकामनाएं ◾दिल्लीः उपराज्यपाल अनिल बैजल और मुख्यमंत्री केजरीवाल ने रक्षाबंधन की बधाई दी ◾सुशांत राजपूत मामले की जांच के लिए मुंबई पहुंचे IPS विनय तिवारी को बीएमसी ने किया क्वारनटीन◾कर्नाटक के मुख्यमंत्री येदियुरप्पा भी कोरोना पॉजिटिव, अस्पताल में कराए गए भर्ती◾विदेशों से आने वाले यात्रियों के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय ने नए गाइडलाइन्स जारी किए ◾बिहार में बाढ़ की स्थिति और बिगड़ी, 53.67 लाख लोग बेहाल और जनजीवन बुरी तरह प्रभावित◾आईपीएल के लिए सरकार ने दी हरी झंडी, फाइनल 10 नवंबर को, चीनी प्रायोजक बरकरार ◾महाराष्ट्र में कोरोना का विस्फोट जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 4.41 लाख के पार, बीते 24 घंटे में 9,509 नए केस◾ममता बनर्जी समेत अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के जल्द स्वस्थ होने की कामना की◾राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने प्रेम और भाईचारे के त्योहार रक्षाबंधन के अवसर पर देशवासियों को दी शुभकामनाएं◾तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित कोरोना पॉजिटिव पाए गए◾8 महीने बाद भी लटका है CAA , गृह मंत्रालय ने नियम बनाने के लिए तीन और महीने का समय मांगा◾बीते 24 घंटों में रिकॉर्ड 51,000 कोरोना मरीज हुए स्वस्थ, रिकवरी रेट बढ़कर हुआ 65.44 प्रतिशत◾कोरोना वायरस की चपेट में आए गृहमंत्री अमित शाह, ट्वीट कर दी जानकारी ◾राम मंदिर भूमि पूजन में शामिल होंगे महंत नरेंद्र गिरी, सुन्नी वक्फ बोर्ड को भी न्योता◾सुशांत सुसाइड केस : जांच में तेजी लाने के लिए पटना के सिटी SP विनय तिवारी को भेजा गया मुंबई ◾सुशांत सिंह राजपूत केस : केंद्रीय मंत्री आरके सिंह ने CBI जांच की मांग को बताया जायज◾गैरकानूनी तरीके से नेताओं को हिरासत में लेने पर देश के लोकतंत्र को पहुंचता है नुकसान : राहुल गांधी◾UP की कैबिनेट मंत्री कमल वरुण का कोरोना संक्रमण से निधन, CM योगी ने जताया शोक ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

तेजस्वी हुई भारतीय सेना

आजादी के बाद से ही भारतीय सेना एक विशाल लोकतंत्र में शानदार संस्थान के रूप में विकसित हुई है। आज भारतीय सेना भारतीय लोकतंत्र के विश्व शक्ति ध्वजवाहकों के रूप में उभर चुकी है। हर वर्ष होने वाले संयुक्त थलसेना, वायुसेना और नौसेना अभ्यास और आतंकवाद विरोधी अभ्यासों से पता चलता है कि अमेरिका, रूस जैसी विश्व सैन्य शक्तियों की नजरों में भारतीय सेना का कितना सम्मान है। भारतीय सेना अब आधुनिक हो गई है और आधुनिकीकरण की यह प्रक्रिया जारी है। थल सेना, नौसेना और वायुसेना तालमेल से काम कर रही हैं और रक्षा मंत्रालय में एक स​मन्वित मुख्यालय काम कर रहा है। जल, थल और नभ में भारतीय सेना तेजस्वी हुई है। 

किसी भी सेना को आधुनिक हथियारों और उपकरणों की जरूरत पड़ती है क्योंकि अब युद्धों का स्वरूप बदल चुका है। भविष्य के युद्ध परम्परागत ढंग से नहीं लड़े जाएंगे बल्कि आधुनिकतम अस्त्र-शस्त्रों से लड़े जाएंगे। अगर 1962 में भारतीय सेना को चीन के अचानक हमले का मुकाबला बिना पर्याप्त मात्रा में हथियारों, जूतों और जुराबों से करना पड़ा था। यह नीति निर्माताओं की कमजोरी और विफलता थी अन्यथा भारतीय सेना ने पाकिस्तान को तीन-तीन युद्धों में पराजित किया है। आधुनिकतम और घातक हथियार ही ​किसी भी सेना का भरोसा होते हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सरकार जहां सेना को आधुनिकतम हथियारों से लैस कर रही है वहीं भारतीय वैज्ञानिकों को बड़ी सफलता मिल रही है। 

ओडिशा में बालासौर में सुखोई 30 एमकेआई युद्धक विमान से हवा से हवा में मार करने वाली ​मिसाइल अस्त्र के 5 सफल परीक्षण किए गए आधुनिक प्रौद्योगिकी और नौवहन तकनीकों से लैस अस्त्र दृश्य सीमा से आगे हवा से हवा में मार करने में सक्षम मिसाइल है और सौ ​किलोमीटर से अधिक तक मार कर सकती है। भारतीय रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन द्वारा विकसित ‘अस्त्र’ का निशाना बहुत ही सटीक है। अब तक भारत रूस और इस्राइल से ऐसी मिसाइलें आयात करता रहा है। डीआरडीओ ने अस्त्र मिसाइल को मिराज, मिग-29, मिग-21 बायसन, एलसीए तेजस और सुखोई एसयू 30 आदि विमानों में लगाने के लिए खासतौर पर विकसित किया है। मिसाइल से ठोस ईंधन का प्रयोग किया गया है।

केन्द्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने तेजस में उड़ान भर कर पड़ोसी देशों को संदेश दे दिया है कि भारतीय सेनाएं किसी से कम नहीं हैं। निश्चित रूप से भारत 1962 वाला भारत नहीं है,​बल्कि 2019 वाला भारत है। भारत का पूर्णतयः स्वदेशी लड़ाकू विमान तेजस चीन और पाकिस्तान के लड़ाकू विमानों को टक्कर दे रहा है। इसके अलावा भारत रूस से एस-400 रक्षा प्रणाली भी खरीद रहा है। सेना की हर जरूरत काे पूरा करने के लिए अमेरिका, फ्रांस और इस्राइल से रक्षा सौदे किए गए हैं।

बेहद संवेदनशील पूर्वी लद्दाख में भारत की सेना ने चीन सीमा के निकट युद्धाभ्यास करके दुश्मन देशों को चेतावनी दे दी है कि हमारी तैयारी पूरी है। पाकिस्तान के साथ हालिया तनाव के दृष्टिगत भारत की सेना के तीनों अंगों ने लद्दाख के ऊंचाई वाले इलाकों में जोरदार युद्धाभ्यास करके दिखा दिया है कि अब उसे कम करके आंकना बड़ी भूल होगी। युद्धाभ्यास के दौरान बर्फीली नदी को चीरते हुए भारतीय टैंकों काे आगे बढ़ते देख दुश्मन के होश फाख्ता हो गए होंगे। 

मेक इन इंडिया के तहत अगर हम स्वदेशी हथियारों, विमानों पर आत्मनिर्भर होते हैं तो इससे न केवल सुरक्षा व्यवस्था मजबूत होगी, बल्कि हमारा रक्षा व्यय भी कम होगा। हथियारों का आयात कम होगा तो यह बहुत बड़ी उपल​ब्धि होगी। हर भारतीय को सेना के शौर्य पर गर्व है। भारतीय सेना हर प्रौद्योगिकी से लैस हो, यही हर भारतीय की इच्छा है। याद रखना होगा-

‘‘जहां शस्त्र बल नहीं,

वहां शास्त्र पछताते और रोते हैं,

ऋषियों को भी तप में सिद्धि तब मिलती है

जब पहरे में स्वयं धनुर्धर राम खड़े होते हैं।’’