जब जोड़ कर पढ़ेंगे फिल्मों के ये पोस्टर, तो नहीं रोक पायेंगे अपनी हंसी


आपने सुना होगा की अगर शब्दों का सही इस्तेमाल न किया जाए तो अर्थ का अनर्थ को सकता है ये बात कितनी सही है इस बात के काफी सबूत आपको मिल जायेंगे। इसी तरह अगर दो सही वाक्यों को अगर एक साथ जोड़ दिया जाए तो जरूरी नहीं की उनका मतलब भी सही निकले। आपने फिल्मों के कई पोस्टर्स देखके होंगे जो फिल्मों के नाम को प्रदर्शित करते है पर अगर अलग-अलग फिल्मों के पोस्टर्स को जोड़ दिया जाए तो क्या कहानी बनेगी आप खुद देख सकते है।

1.ये तीनों फिल्मे भले ही एक दुसरे से न जुडी हो पर एक साथ इनके नाम पढेंगे तो लगेगा की यहाँ पर सवाल-जवाब चल रहे है।

2.ये तस्वीर बताती है एक परेशान औरत की कहानी जो तय नहीं कर पा रही की उसे करना क्या है।

3.पति पत्नी के बीच वो वाली कहानी आपने बहुत सुनी होगी यहाँ भी कुछ इसी तरह का जिक्र है। पर अच्छी बात है की इसमें ‘वो’ खुद ही सामने आ गया।

4.अब इस तस्वीर के दोनों पोस्टर अलग-अलग कहानी के होने के बाद भी कैसे एक दुसरे से मेल खाते है आप देख सकते है।

5.ये दोनों पोस्टर भी एक दुसरे से कुछ बात करते ही नजर आ रहे है और हम यही कहना चाहते है ‘दोबारा मत पूछना। ‘

6.अब ये समस्या हर उस शख्स की है जो रिलेशनशिप के मारे हुए है। इनके लिए आप क्या कहना चाहेंगे ?