क्यों नहीं पंसद शूजीत सरकार को बच्चों के रियलिटी शो


भारतीय टेलीविजन ने वर्षों में बहुत सारे बदलाव किए हैं। कुछ बदलाव अच्छे रहे तो कुछ बदलाव बुरे रहे हैं। अगर 90 के दशक में आए सीरियल्स के बारे में बात करें तो उस समय में रियलिटी शो चलन में आ गए थे। लोगों ने रियलिटी शो को बहुत पंसद किया था। क्योंकि रियलिटी शो लोगों के लिए एक नया एक्सपीरियंस था। अनु कपूर क्लोज-अप आंताक्षरी रियलिटी शो लेकर आए थे जिसे लोगों ने बहुत सराहा था। उसके बाद तो टीवी पर रियलिटी शो की लाइन ही लग गई थी। हर तरह के रियलिटी शो आने लग गए और वह लोगों को बहुत पंसद भी आने लग रहे थे।

source

आजकल टीवी पर रियलिटी शो कि जैसे बाढ़ ही आ गई है। अब तो हर फॉरमैट के रियलिटी शो आ रहे हैं। बच्चों से लेकर बड़ों तक एक रियलिटी शो आ गए हैं। हमारी इस रिपोर्ट में बच्चों के रियलिटी शो के बारे में बात करेंगे। फेमस फिल्म डायरेक्टर शुजीत सरकार ने अपने एक इंटरवीयू में कहा है कि टीवी पर बच्चों के रियलिटी शो पर बैन लगा देना चाहिए। सूजीत ने अपने एक ट्वीट पर कहा कि ऐसे संबंधित अथॉरिटीज वाले शो को बैन करने की मांग की है।


शुजीत ने कहा कि यह सभी शो बच्चों के भविष्य और उनके इमोश्नली खराब कर देते हैं। शूजीत ने कहा कि यह उनके साफ और भूले से मन पर भी बहुत गहरा प्रभाव डालते हैं।

अभी इस समय में टीवी पर कई रियलिटी शो चल रहे हैं उनमें से सोनी चैनल का ‘सबसे बड़ा कलाकार’, कर्लस का ‘छोटे मियां धाकड़’ और जी टीवी का ‘सा रे गा मा पा लिटिल चैंप्स’ आ रहे हैं।

source

शूजीत ने एक शॉर्ट फिल्म रिलीज द प्रेशर के नाम से बनार्ई थी। जो कि बच्चों पर आधारित थी इसमें यह दिखाया गया था कि एग्जाम के वक्त बच्चे अपने ऊपर कैसे प्रेशर ले लेते हैं। उस पर आधारित थी यह शॉर्ट फिल्म।

source

शूजीत ने फिल्म के बारे में बताया कि आज के समाज ने बच्चों पर परफॉर्मेंस का प्रेशर बना दिया है। शूजीत ने कहा पैरेंट के तौर न सिर्फ हमें नागरिक होने के तौर पर भी इस परेशानी को उठाना चाहिए औैर इस पर बात करनी चाहिए जो कि बहुत जरूरी है।

लोगों ने शुजीत के ट्वीट का सम्रथन किया