तीनों निगमों में जीतेगी कांग्रेस : माकन

0
42

नई दिल्ली :  दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन ने श्री अरविंदर सिंह ‘लवली’ के कांग्रेस की सदस्यता से त्यागपत्र देने से निगम चुनावों में पार्टी की संभावनाओं पर किसी प्रकार का असर न पडऩे का दावा करते हुए आज कहा कि तीनों निगमों में उनके दल की सरकार बनेगी।

दिल्ली के तीनों निगमों के 23 अप्रैल को होने वाले चुनाव के लिये करीब एक पखवाड़े तक चले प्रचार अभियान के अंतिम दिन यहां श्री माकन ने संवाददाता सम्मेलन में दावा किया कि पार्टी ने आतंरिक सर्वे कराया है और लोगों का झुकाव फिर से कांग्रेस की ओर हुआ है। सर्वे में लोगों की जो राय मिली है उससे कांग्रेस को 208 सीटें मिलने का अनुमान है।

उन्होंने कहा कि तीनों निगमों में उनके महापौर और स्थायी समिति के अध्यक्ष बनेंगे। पार्टी ने 13 हजार से अधिक बूथों में प्रत्येक से चार-चार लोगों अर्थात 52 हजार से अधिक लोगों की राय लेकर यह सर्वेक्षण तैयार किया। निगम के लिये चुनाव प्रचार आज शाम साढे पांच बजे खत्म हो जायेगा।

श्री माकन ने कहा कि निगम चुनाव के लिये पार्टी के स्लोगन  बहाने नहीं, विकास करेंगे, अनुभव है हमारे पास को लोगों ने बहुत सराहा है। पार्टी के दिल्ली के लोगों की समस्याओं की जानकारी लेकर अलग-अलग क्षेत्रों के लिये तैयार किये गये छह घोषणा पत्र पर भी लोगों की सोच सकारात्मक रही है। उन्होंने कहा कि 70 विधानसभा क्षेत्रों और 14 जिलों में नियुक्त पर्यवेक्षकों ने भी चुनाव अभियान पर सकारात्मक राय दी। यह सभी पर्यवेक्षक दिल्ली के बाहर से थे।

श्री माकन ने आम आदमी पार्टी(आप) के 218 सीटें जीतने के दावे पर कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और आप की स्थिति बहुत खराब है । भाजपा के 21 वर्तमान पार्षद विद्रोह करके चुनाव मैदान में है । आप ने छह बार टिकटों में बदलाव किया जबकि कांग्रेस का एक भी विद्रोही उम्मीदवार नहीं है और टिकट आवंटन के बाद किसी प्रत्याशी को बदला नहीं गया ।

गौरतलब है कि भाजपा ने इस बार अपने किसी भी मौजूदा पार्षद या उसके रिश्तेदार को टिकट नहीं दिया । दिल्ली महिला कांग्रेस अध्यक्ष बरखा शुक्ला सिंह के इस्तीफे के संबंध में पूछे जाने पर श्री माकन ने कहा कि कारण से ज्यादा समय को देखने की जरूरत है । उन्होंने जो आरोप लगाये हैं वे हाल में घटित नहीं हुए है। यह सब भाजपा की घबराहट
को दर्शाता है ।

दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि दिल्ली के लोग भाजपा 10 वर्ष के निगम में शासन और अरविंद केजरीवाल के तीन साल के दौरान किये गये झूठे वादों से तंग आ चुके हैं और उन्हें उम्मीद है कि कांग्रेस उनका विश्वास जीतने में सफल होगी । तेरह अप्रैल को राजौरी गार्डन विधानसभा उप चुनाव का नतीजा आने के बाद आप में दहशत का माहौल है । इस उप चुनाव में कांग्रेस विधानसभा उपचुनाव के नौ प्रतिशत वोट की तुलना में 33 प्रतिशत वोट हासिल करने में सफल रही ।

श्री माकन ने कहा कि भाजपा की घबराहट का इसी से पता चलता है कि पहले नौ राज्यों के मुख्यमंत्रियों को चुनाव अभियान में बुलाने का जोर-शोर से प्रचार किया गया लेकिन बाद में पार्टी की खराब स्थिति को देखते हुऐ किसी को नहीं बुलाया गया । यहां तक की भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह एक भी चुनावी रैली में भी नहीं आये । कांग्रेस के चुनाव प्रचार में पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी के नहीं आने के संबंध में श्री माकन ने कहा कि यह स्थानीय स्तर का चुनाव है और श्री गांधी आज तक इस स्तर के किसी चुनाव में प्रचार करने नहीं गये । पार्टी की तरफ से 38 वरिष्ठ नेताओं ने ,दिल्ली के सभी पूर्व सांसदों और कई पूर्व मंत्रियों ने प्रचार किया ।

– वार्ता

LEAVE A REPLY