अन्य राज्यों में कश्मीरी छात्रों का उत्पीडऩ बंद किया जाए : माकपा

0
23

श्रीनगर : देश के विभिन्न हिस्सों में कश्मीरी छात्रों पर हमले की घटनाओं की जोरदार निंदा करते हुए माक्र्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) ने आज कहा कि इन घटनाओं से घाटी के लोग और अलग-थलग हो जाएंगे।

पार्टी ने यहां जारी एक बयान में कहा कि राजस्थान के चित्तौडग़ढ़ जिले की मेवाड यूनिवर्सिटी में नौ कश्मीरी छात्रों को पीटे जाने की घटना की पार्टी जोरदार निंदा करती है तथा दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग करती है।

माकपा राज्य सचिव जी एन मलिक ने कहा कि राजस्थान में कश्मीरी छात्रों पर हमले की यह घटना अकेली नहीं है। हाल ही में उत्तर प्रदेश के मेरठ मे कुछ इस तरह के बैनर लगाए गए थे जिनमें कश्मीरी छात्रों को राज्य से चले जाने को कहा गया था। ये दोनों घटनाएं भारतीय जनता पार्टी शासित राज्यों में हुई है जो केन्द्र सरकार की कथनी और करनी में अंतर बयां करती हैं जिसमें कहा जा रहा है, सबका साथ,सबका विकास।

उन्होंने कहा कि कश्मीरी छात्र पहले ही अलगाव का सामना कर रहे हैं और ऐसी घटनाएं कश्मीर के लोगों को ओर हाशिए पर धकेल देंगी। उन्होंने सभी राज्य सरकारों से आग्रह किया कि वे उनके शैक्षिक संस्थानों में अध्ययनरत छात्रों की सुरक्षा सुनिश्चित करने की दिशा में कदम उठाएं।

– वार्ता

LEAVE A REPLY