त्रिपुरा सुंदरी का स्वर्ण शिखर प्रतिष्ठा महोत्सव 7 मई से

0
37

बांसवाडा : राजस्थान में आदिवासी बहुल बांसवाडा जिले में अन्तर्राष्ट्रीय प्रसिद्धि प्राप्त शक्तिपीठ त्रिपुरा सुन्दरी मंदिर में सात मई से आयोजित होने वाले स्वर्ण शिखर प्रतिष्ठा महोत्सव की तैयारियां को इन दिनों अंतिम रुप दिया जा रहा हैं।

शिखर प्रतिष्ठा समिति के अध्यक्ष अशोक पंचाल ने बताया कि छह दिवसीय प्रतिष्ठा महोत्सव के तहत प्रथम दिन सात मई को हिम्मतनगर के प्रवीण रावत द्वारा गुजराती भजन संध्या, दूसरे दिन होने वाले गरबा रास में अहमदाबाद की भूमि पंचाल द्वारा गरबे गाए जाएंगे।

इसी प्रकार नौ मई को मध्यप्रदेश के जनकरामायणी समूह द्वारा माताजी के भजन तथा मोंटी नटराजन ग्रुप दिल्ली द्वारा धार्मिक नृत्य नाटिका प्रस्तुत की जाएगी। दस मई को उज्जैन की मनीषा विश्वकर्मा द्वारा देवी भागवत सार का ज्ञान प्रवाह होगा। ज्ञारह मई को जालौर के बाल कलाकार सुरेश लौहार द्वारा मारवाड़ी भजनों की प्रस्तुति होगी।
पंचाल समाज चौदह चौखरा के कोषाध्यक्ष अम्बालाल पंचाल ने बताया कि इस विशाल धार्मिक कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेन्द, मोदी, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे सहित देश के बारह राज्यों के मुख्यमंत्री शामिल होंगे।

इसके अलावा विभिन्न साधु संत और श्रद्धालु भी इस आयोजन के साक्षी बनेंगे। आधुनिक युग में भारत का यह प्रथम मंदिर हैं जिसके निर्माण में लगी प्रत्येक शिला का हवनात्मक पूजन एवं प्राण प्रतिष्ठा हुआ हो। इस मंदिर के पुराने स्वरूप वाले मंदिर का शिखर उत्थापन 30 अप्रैल 2011 को किया गया। वर्तमान मंदिर के नींव में कूर्मशिलाओं की स्थापना तीन जून 2011 को हुआ। पंचाल समाज ने अर्थ संग्रह कर विभिन्न शिला पूजन समारोहों द्वारा नवीन मंदिर निर्माण का कार्य पूर्ण किया। प्रथम शिला पूजन समारोह 23 जून 2011 में हुआ। अब तक कुल 58 शिला पूजन समारोहों के माध्यम से 24 अप्रैल 2016 तक 1223 दान दाताओं ने कुल 1889 शिलाओं का हवनात्मक पूजन कर मंदिर में प्रतिष्ठित किया।

– वार्ता

LEAVE A REPLY