BREAKING NEWS

करनाल से बीजेपी के पूर्व सांसद अश्विनी कुमार चोपड़ा के निधन पर राजनाथ सिंह समेत इन नेताओं ने जताया शोक ◾PM मोदी ने वरिष्ठ पत्रकार और पूर्व सांसद अश्विनी चोपड़ा के निधन पर शोक प्रकट किया ◾पंजाब केसरी दिल्ली के मुख्य संपादक और पूर्व भाजपा सांसद श्री अश्विनी कुमार जी को भावपूर्ण श्रद्धांजलि ◾निर्भया गैंगरेप: अपराध के समय दोषी पवन नाबलिग था या नहीं? 20 जनवरी को सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट◾सीएए पर प्रदर्शनों के बीच CJI बोबड़े ने कहा- यूनिवर्सिटी सिर्फ ईंट और गारे की इमारतें नहीं◾कमलनाथ सरकार के खिलाफ धरने पर बैठे MLA मुन्नालाल गोयल, घोषणा पत्र में किए गए वादों को पूरा नहीं करने का लगाया आरोप ◾नवाब मलिक बोले- अगर भागवत जबरदस्ती पुरुष की नसबंदी कराना चाहते हैं तो मोदी जी ऐसा कानून बनाए◾संजय राउत ने सावरकर को लेकर कांग्रेस पर साधा निशाना, बोले- विरोध करने वालों को भेजो जेल, तब सावरकर को समझेंगे'◾दोषियों को माफ करने की इंदिरा जयसिंह की अपील पर भड़कीं निर्भया की मां, बोलीं- ऐसे ही लोगों की वजह से बच जाते हैं बलात्कारी◾पाकिस्‍तान: सुप्रीम कोर्ट ने देशद्रोह मामले में फैसले के खिलाफ मुशर्रफ की याचिका पर सुनवाई से किया इनकार ◾सीएए और एनआरसी के खिलाफ लखनऊ में महिलाओं का प्रदर्शन जारी◾NIA ने संभाली आतंकियों के साथ पकड़े गए DSP दविंदर सिंह मामले की जांच की जिम्मेदारी◾वकील इंदिरा जयसिंह की निर्भया की मां से अपील, बोलीं- सोनिया गांधी की तरह दोषियों को माफ कर दें◾ट्रंप ने ईरान के 'सुप्रीम लीडर' को दी संभल कर बात करने की नसीहत◾ राजधानी में छाया कोहरा, दिल्ली आने वाली 20 ट्रेनें 2 से 5 घंटे तक लेट◾निर्भया : घटना के दिन नाबालिग होने का दावा करते हुए पवन पहुंचा सुप्रीम कोर्ट◾PM मोदी ने मंत्रियों से कहा, कश्मीर में विकास का संदेश फैलाएं और गांवों का दौरा करें ◾भाजपा ने अब तक 8 पूर्वांचलियों पर लगाया दांव◾यूरोपीय संघ के उच्च प्रतिनिधि ने PM मोदी से भेंट की◾दिल्ली पुलिस आयुक्त को NSA के तहत मिला किसी को भी हिरासत में लेने का अधिकार◾

जींद उपचुनाव में रचा गया बहुत बड़ा षड्यंत्र : अभय

रोहतक : नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला ने कहा कि जींद उपचुनाव की हार का हर स्तर पर आंकलन किया जा रहा है। चुनाव में सरकार ने अपनी ताकत का दुरुपयोग किया है और ईवीएम मशीन पर भी संदेह है। उन्होंने कहा कि धन बल से वोट खरीदी गई है, ऐसे राजनीतिक दलो पर बैन लगाया जाए। इनेलो को मिली कम वोटो को लेकर उन्होंने कहा कि ऐसा नहीं हो सकता है कि इनेलो काडर की वोट जीरो में तबदील हो जाए।

पांच फरवरी तक मतदाताओं के शपथ पत्र लेकर छह फरवरी को चुनाव आयोग को सौंपे जाएंगे। अभय सिंह चौटाला ने जजपा पर भी निशाना साधा और कहा कि इनेलो के जनाधार को रोकने के लिए जजपा दूसरे राजनीतिक दलो के हाथो में खेल रही है और यह साबित भी हो गया है जब हार के बावजूद जजपा ने लड्डू बांटे है। शुक्रवार को नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला रोहतक पहुंचे और दिल्ली बाईपास स्थित पार्टी कार्यालय में पत्रकारो से बातचीत कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि भाजपा ने जींद उपचुनाव को लेकर पहले ही साजिश रच रखी थी और भाजपा ने इसके लिए बडा षडयंत्र किया है, जबकि भाजपा को पता था कि इनेलो बसपा ही भाजपा को हरियाणा से उखाड सकती है, इसी के चलते जींद उपचुनाव में धन बल का खुब दुरूपयोग किया गया है और यह साबित भी हुआ है कि किस तरह से रूपये पकडे गए है। अभय चौटाला ने कहा कि जिन पार्टियों ने धन बल का खेल खेला है चुनाव आयोग को उन पर कारवाई करते हुए उन्हें बैन करना चाहिए।

पूर्व सीएम भूपेन्द्र सिंह हुड्डा के बयान को लेकर भी अभय चौटाला ने प्रतिक्रिया दी और कहा कि जब प्रदेश में कांग्रेस की सरकार थी और हुड्डा मुख्यमंत्री थे उस वक्त ऐलनाबाद उपचुनाव कांग्रेस क्यो हारी थी। दरअसल पूर्व सीएम हुड्डा ने कहा था कि उपचुनाव में हमेशा सतापक्ष की जीत होती है। संगठन को लेकर उन्होंने कहा कि जल्द ही इनेलो युवा व छात्र संगठन की भी कार्यकारिणी घोषित कर दी जाएगी और पार्टी सुप्रीमों औमप्रकाश चौटाला से विचार विमर्श करने के बाद फरवरी माह में महारैली आहुत की जाएगी।

जींद उपचुनाव के निर्णय पर अभय चौटाला ने कहा कि आगे आने वाले न तो लोकसभा और न ही विधानसभा चुनाव में इसका कोई असर पडेगा और सरकार की कारगुजारियां जनता के सामने लाई जाएगी कि जींद उपचुनाव में सरकार ने किस तरह का षडयंत्र रचा था। केन्द्र सरकार द्वारा पेश किए गए आम बजट को लेकर भी नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला ने कहा कि यह तो आंकडो का खेल है।

इस अवसर पर जिलाध्यक्ष सतीश नांदल, पूर्व विधायक सरिता नारायण, बलवंत मायना, इन्द्र सिंह ढुल, कृष्ण कौशिक, चांद सिंह, सरोज चौधरी, मोहित चत्तर सिंह, राज शर्मा, रणबीर हुड्डा, जयभगवान ठेकेदार, ताजबीर शिमली, अतर सिंह, यादराम सरपंच, ओमप्रकाश हुड्डा, धर्मपाल मान, बल्लू सरपंच, कृष्ण कटेसरा, दलबीर, अनिल, करतार, देवेन्द्र, विष्णु, संदीप, विजेन्द्र, विशाल, रामपाल, धर्मबीर बढाला, सत्यप्रकाश बिसला, दलेल ढाका प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

(मनमोहन कथूरिया)