चंडीगढ़ : हरियाणा की राजनीति में आजकल हर रोज नये समीकरण बन रहे हैं। इसी कतार में अब दिल्ली में अपनी दमदार एंट्री कर सरकार बनाने वाली आप ​हरियाणा में गठबंधन के सहारे अपनी उपस्थिति दर्ज कराना चाहती है। इसी के चलते हरियाणा में इनेलो से अलग होकर बनी जेजेपी से हाथ मिलाने जा रही है।

इस बात के संकेत आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद सुशील गुप्ता ने दिए हैं। बहादुरगढ़ में आयोजित एक पत्रकार वार्ता में उन्होंने कहा है कि हरियाणा में आप और जेजेपी मिलकर चुनाव लड़ेंगे और सत्तारूढ़ भाजपा, कांग्रेस और इनेलो-लोसुपा गठबंधन को हराकर आप की सरकार बनाएंगे। उन्होंने बताया कि जननायक जनता पार्टी प्रमुख दुष्यंत चौटाला से इस मामले में सकारात्मक बातचीत हुई है।

जल्द ही गठबंधन की सार्वजनिक घोषणा कर दी जाएगी। सीटों के बंटवारे पर उन्होंने कहा कि इस मामले में सहमति से सब मसला हल हो जाएगा। हमने जींद उपचुनाव में भी जेजेपी के प्रत्याशी को समर्थन दिया था। इस दौरान श्री गुप्ता ने भाजपा पर जनविरोधी होने का आरोप लगाते हुए कहा कि केन्द्र और राज्य से भाजपा का सूपड़ा साफ हो जाएगा।

भाजपा ने हमेशा पूंजीपतियों का साथ दिया है, आम आदमी की कोई परवाह नहीं कि इसलिए यही आम आदमी उसे सत्ता से बेदखल करेगा। हरियाणा में इन ​दोनों पार्टियों के गठबंधन को लेकर कई दिन से चर्चा चल रही थी। माना जा रहा था कि शनिवार को हुए बसपा-लोसुपा गठबंधन में शायद जेजेपी भी शामिल हो जाए मगर चंडीगढ़ में जब दोनों दलों के नेताओं ने संयुक्त पत्रकार सम्मेलन किया तो यह बात स्पष्ट हो गई थी कि बसपा पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला और अभय सिंह चौटाला को नाराज नहीं करना चाहती इसलिए जेजेपी को इस गठबंधन से दूर रखा।

अब परिस्थितियां यही बन रही थीं कि आम आदमी पार्टी और जेजेपी मिलकर चुनाव लड़ें क्योंकि जींद उपचुनाव में भी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल जेजेपी प्रत्याशी दिग्विजय चौटाला के समर्थन में रैली कर चुके हैं। अब हरियाणा में मुख्य मुकाबला चार दलों के बीच होने की संभावना बन गई है। जहां कांग्रेस बिना किसी गठबंधन के मैदान में उतरेगी वहीं भाजपा की ​िस्थति भी लगभग ऐसी ही रहेगी।
इनैलो नेता अभय चौटाला ने भी ऐलान कर दिया है कि अब उनका गठबंधन सीधा जनता से होगा इसलिए हरियाणा में ऐसे हालात बन रहे हैं कि मुकाबला कई दलों में बन जाएगा।